Health

क्या होता है मलेरिया और क्या होते है इसके लक्षण – Malaria symptoms & Treatment in Hindi

malaria-symptoms-treatment-in-hindi

मलेरिया एक जानलेवा बीमारी है जो मादा ऐनोफ्लीज मच्छर के काटने से फैलती है. यह मच्छर गंदे पानी में पनपते हैं और दिन ढलने के बाद ही काटते हैं. जब संक्रमित मादा एनाफिलीज मच्छर किसी व्यक्ति को काटती है तो संक्रमण फैलने के कारण उस व्यक्ति में मलेरिया के लक्षण दिखाई देने लगते हैं. इसके लक्षण होने पर देखा जाता है कि पीड़ित को तेज बुखार के साथ उलटी और सर दर्द की शिकायत भी होती हैं. इसके अलावा मलेरिया के तीन स्टेज होते हैं, जो इस प्रकार हैं.

मलेरिया के बुखार के स्टेज

कोल्ड स्टेज – इसमें पीड़ित को तेज ठंड के साथ कपकपी लगती हैं.
हॉट स्टेज – इस स्टेज में रोगी को तेज बुखार, पसीने और उलटी आदि की शिकायत हो सकती हैं.
स्वेट स्टेज – नाम से ही साफ है इसमें रोगी को काफी ज्यादा पसीना आता हैं.

मलेरिया के लक्षण

आमतौर पर देखा जाता है कि बारिशों के बाद कई जगहों पानी जमा हो जाता हैं. जिसकी वजह से खतरनाक रोगों के फैलने का खतरा बना रहता हैं. जिनमें मलेरिया और डेंगू सबसे प्रमुख हैं. मलेरिया के चिन्ह दिखने पर न केवल रोगी अंदर से कमज़ोर हो जाता हैं, बल्कि कभी-कभी यह बिमारी जानलेवा भी साबित हो जाती हैं. मलेरिया के लक्षण में सबसे प्रमुख हैं.

सर्दी लगना – मलेरिया होने पर रोगी को सर्दी लगने लगती हैं और उसका शरीर कांपने लगता हैं.

अन्य लक्षण – इसके अन्य लक्षणों में सर्दी के साथ प्यास लगना, उलटी होना, हाथ पैरो पर ठण्ड लगना और बैचैनी होना हैं, इसके अलावा इस बीमारी में कब्ज़, घबराहट और बैचैनी आदि होने लगती हैं.

मलेरिया के चिन्ह दिखने पर क्या करें

सबसे पहले खून की जाँच. किसी भी तरह का बुखार मलेरिया हो सकता हैं, ऐसे में सबसे पहले खून टेस्ट कराए.
सुबह सुबह खली पेट तुलसी के 4 से 5 पत्तों को अच्छी तरह से चबाए, थोड़े ही दिनों में मलेरिया का बुखार उतर जाएगा.
मलेरिया को जल्द ठीक करने के लिए 10 ग्राम पानी उबालें और उसमें 2 ग्राम हिंग डालकर उसका लेप बनाए.
अब इस लेप को हाथ और पैरो के नाखूनों पर लगाए, 4 दिनों तक ऐसा करने से रोगी जल्दी ठीक होने लगता हैं.
नीबू भी मलेरिया में कारगर हैं, नीबू पानी या नीबू की शिकंजी का सेवन करने से मलेरिया के बुखार में आराम पड़ता हैं.
5 काली मिर्च और 50 ग्राम नीम की पत्तियों को बारीक पिसे और इसे एक कप में छानकर थोड़ा-थोड़ा रोगी को दें.

मलेरिया के चिन्ह दिखने पर कैसे करे इसे जड़ से खत्म

मलेरिया के बुखार होने पर प्याज़ का रस बहुत फायदा करता हैं, 4 काली मिर्च का पाउडर, 4 एमएल प्याज़ का रस मिलाकर दिन में 3 बारी पिएं.

1 चम्मच लहसुन के रस में 1 चमच्च तिल के तेल को मिलाकर हाथ-पैरो और नाखूनों पर लगाए.
बार-बार बुखार आने पर नियमित छांछ का सेवन करें.
मलेरिया होने पर सेब खाए, सेब खाने से बुखार जल्द उतर जाता हैं.
सौंठ और पिसा धनिया को बराबर मात्रा में मिला कर चूर्ण बनाए, दिन में तीन बार इसका सेवन करे

0 Comments
Share

Kartik Bhardwaj

Hi guys! मेरे ब्लॉग डेली ट्रेंड्स में आपका स्वागत है, प्रोफेशनली में एक डिजिटल मार्केटर हूँ और हिंदी में ब्लॉग लिखना मुझे पसंद है. स्पोर्ट, एंटरटेनमेंट, टेक्नोलॉजी, न्यूज़ और पॉलिटिक्स मेरे पसंदीदा टॉपिक्स है जिन मुद्दों पर में लिखता हुँ, आप ऐसे ही मेरे ब्लॉग पड़ते रहें और शेयर करते रहें.

Reply your comment

Your email address will not be published. Required fields are marked*

About Us