Select Page

CV में की जाने वाली सबसे कॉमन 5 गलतियां – 5 mistakes to avoid in your cv in hindi

CV में की जाने वाली सबसे कॉमन 5 गलतियां – 5 mistakes to avoid in your cv in hindiScore 93%Score 93%

अगर कहीं भी आपकी नौकरी की बात होती है, तो सबसे पहली चीज जो आपसे मांगी जाती है, वो होता है आपका सीवी(CV), इसलिए जॉब चाहिए तो सीवी को गंभीरता से लेना चाहिए. एक नियोक्ता के लिए सीवी आवेदनकर्ता की पूरी पहचान होता है. इसी कें आधार पर वों नियुक्ति की प्रक्रिया को भी आगे बढ़ाता है.

लेकिन लोग अकसर सीवी(CV) में कुछ ऐसी गलतियां कर बैठते हैं जिसकी वजह से टैलेंट होने कें बावजूद उन्हें कई बार नौकरी नहीं मिलती है.
जब भी सीवी(CV) बनाए इन पांच गलतियों को करने से हमेशा बचें –

CV में की जाने वाली सबसे कॉमन 5 गलतियां – 5 MISTAKES TO AVOID IN YOUR CV IN HINDI

फॉन्ट और कलर(Font and Color)

  • जॉब के लिए सीवी(CV) जितना जरूरी होता है, उतना ही जरूरी उसका फॉन्ट(Font) और कलर(Color) चुनना भी होता है.
  • इसमें अलग-अलग तरह कें फॉन्ट(Font) का इस्तेमाल करने सें नियोक्ता(Employer) कों उसें पढ़ने में दिक्कत हो सकती है और आपका इम्प्रेशन भी खराब हो सकता है.
  • इसलिए सीवी में अलग-अलग तरह के रंगों का इस्तेमाल भी नहीं करना चाहिए.

एक से ज्यादा फोन नंबर न हो (Not more than one phone number)

  • एक से ज्यादा फोन नंबर अपने सीवी पर देना, पैरों पर कुल्हाड़ी मारने जैसा है.
  • आप जितनें ज़्यादा फोन नंबर देंगे आपके अहम मैसेज(Message) को मिस करने के चांसेज(Chances) भी उतने ज्यादा होंगे.
  • इसलिए सीवी(CV) में हमेशा एक ही नंबर(Number) दें और इस कंफ्यूजन(Confusion) को दूर ही रखें.
  • सीवी में अपना मोबाइल नंबर(Mobile Number) देना सबसे उचित रहता है, उससें आपको जॉब को लेकर जो भी लेटेस्ट अपडेट(Update) हो जल्द से जल्द मिल सके.

स्पेलिंग मिस्टेक(Spelling mistake)

  • अगर आपने सीवी में स्पैलिंग मिस्टेक(Spelling mistake) की हैं तो नौकरी(Naukri) के लिए शॉर्टलिस्ट(Shortlist) किए गए कैंडिडेट्स(Candidates) में आपका नाम आना लगभग नामुमकिन है.
  • यह आपके लिखने की क्षमता पर भी सवाल खड़े करता है और इससें नियोक्ता(Employer) पर आपकी छवि एक गैर जिम्मेदार व्यक्ति की भी बनती है.
  • इसलिए सीवी बनाते हुए उसमें स्पैलिंग मिस्टेक्स(Spelling mistake) को कई बार चेक करें.

सीवी कितना बड़ा होना चाहिए

  • सीवी(CV) की लेंथ(Length) एक सबसें अहम फैक्टर(Factor) होता है.
  • एक तरफ सीवी में अपने हर एक अनुभव के बारे में बताना जरूरी होता है, वहीं दूसरी ओर उसकी लेंथ(Length) भी छोटी रखनी जरुरी होती है.
  • सीवी जो ज्यादा क्रिस्पी होते हैं, उनके शॉर्ट लिस्ट होने के आसार भी ज्यादा होते हैं.
  • लेकिन सीवी को छोटा करने के चक्कर में कभी भी अपनी किसी अहम चीज को मेंशन(Mention) करना न भूलें.

नौकरी से जुड़ा अनुभव

  • आपको बता दें कि नियोक्ता उन उपलब्धियों के बारे में कभी भी जानना नहीं चाहेंगे, जिनका आपकी जॉब सें दूर-दूर तक कोई नाता न हो.
  • इसलिए सीवी में हमेशा अपने जॉब से जुड़ी उपलब्धियों के बारे में ही बताएं.
  • ऐसा करने सें आपका सीवी छोटा और असरदार रहेगा.

Review

93%

CV में की जाने वाली सबसे कॉमन 5 गलतियां
93%