Health

सेरेब्रल पाल्सी के समस्या और घरेलू उपचार – Cerebral palsy Causes and Treatment in Hindi

%e0%a4%b8%e0%a5%87%e0%a4%b0%e0%a5%87%e0%a4%ac%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a4%b2-%e0%a4%aa%e0%a4%be%e0%a4%b2%e0%a5%8d%e0%a4%b8%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%b8%e0%a4%ae%e0%a4%b8%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%be-%e0%a4%94%e0%a4%b0-%e0%a4%98%e0%a4%b0%e0%a5%87%e0%a4%b2%e0%a5%82-%e0%a4%89%e0%a4%aa%e0%a4%9a%e0%a4%be%e0%a4%b0-cerebral-palsy-causes-and-treatment-in-hindi

सेरेब्रल पाल्सी जिसे हिंदी में मस्तिष्क पक्षाघात भी कहा जाता हैं. एक मस्तिषक संबंधी रोग है, जिसमें मोटर तंत्रिकाओं प्रभावित होती हैं. यह रोग न्यूरोलॉजिकल डिसऑडर के कारण होता हैं. इसमें सबसे अहम यह होता है कि बीमारी की प्रारंभिक अवस्था बचपन में ही नजर आने लगती है, जिसके लिए माँ-बाप को बच्चे पर नज़र रखने की जरूरत होती हैं.

मस्तिष्क पक्षाघात की समस्या शिशु अवस्था में मस्तिष्क का ठीक से विकास न होने और किसी प्रकार से क्षति पहुँचने के कारणों में से एक होता हैं. इसलिए हम आपको बताएंगे सेरेब्रल पाल्सी के घरेलू उपचार. लेकिन उससे पहले कुछ कारण और लक्षण जो इस प्रकार हैं.

सेरेब्रल पाल्सी के कारण

सेरेब्रल पाल्सी के दौरान मसल्स के मूवमेंट में प्रॉबल्म होती हैं. लेकिन यह समस्या नर्व के कारण नहीं होती है. इसका कारण मस्तिष्क के आंशिक भाग में ऐब्नॉर्मैलटी के कारण मसल्स के मूवमेंट में समस्या नजर आने लगती हैं. इसमें सबसे पहला हैं. इस रोग का कारण शिशु के जन्म से पहले या जन्म के दौरान अथवा बाद में चोट लगने के कारण हो सकती हैं.

इसके अलावा गर्भावस्था के दौरान किसी भी प्रकार के संक्रमण से भ्रूण के नर्वस सिस्टेम को नुकसान पहुँच सकता हैं. इसलिए प्रेगनेंसी के दौरान संभल कर रहें. किसी कारण भ्रूण के मस्तिष्क में ऑक्सिजन की कमी होने या डिलीवरी के समय किसी प्रकार के तनाव के कारण भी इस बीमारी के होने का खतरा बढ़ जाता हैं.

सेरेब्रल पाल्सी के लक्षण

मस्तिष्क पक्षाघात से ग्रसित शिशु का पूर्ण विकास देर से होता है. जिसके चलते ऐसे बच्चे देर से बात करना सिखते हैं, आँखों में समस्या होने के साथ-साथ सुनने में भी समस्या आदि आती हैं.
ऐसे रोग से ग्रसित बच्चों में देखा जाता है कि बच्चे को नीचे बैठने में या सर को ऊपर उठाने के साथ-साथ अच्छी तरह बैठने या देर तक खड़े होने में भी समस्याओं का सामना करना पड़ता हैं. लेकिन इस रोग से पीडित बच्चों में सबसे अच्छी बात यह होती है कि वह दूसरे नॉर्मल बच्चों की तरह ही बुद्धि रखते हैं.

सेरेब्रल पाल्सी का निदान

सेरेब्रल पाल्सी का इलाज सही तरह से करने के लिए जरूरी है कि जितनी जल्दी इस बीमारी का पता लग सके और उतनी जल्दी ही इसका निदान करने में सहायता मिलती हैं.
सेरेब्रल पाल्सी का इलाज बच्चे के शारीरिक अवस्था और हिस्टरी पर डिपेंड करता हैं. दिमाग की इस विकृति का पता ईईजी और एमआरआई स्कैन से पता चल जाता हैं.

सेरेब्रल पाल्सी के घरेलू उपचार

वैसे तो इस रोग को जड़ से खत्म नही किया जा सकता है और न ही इसका पूर्ण रूप से इलाज संभव हैं. लेकिन सेरेब्रल पाल्सी के घरेलू उपचार अपनाकर अवस्था को बेहतर बनाया जा सकता हैं.
जिसके लिए ज़रूरी है कि माता-पिता हमेशा सकारात्मक और बच्चे के ठीक होने की आशा रखें.
इसके अलावा फिजियोथेरेपी और ऑक्यूपेशनल थेरेपी भी इसके उपाय में प्रयोग की जाती हैं.
इसके इलाज़ के दौरान रोगी की सुनने और देखने की क्षमता में सुधार के लिए स्पीच और लैंग्वेज़ थेरपी दी जाती हैं. घोड़े की सवारी आज सबसे प्रभावी न्यूरो विकास पद्धति माना जाती हैं.

0 Comments
Share

Kartik Bhardwaj

Hi guys! मेरे ब्लॉग डेली ट्रेंड्स में आपका स्वागत है, प्रोफेशनली में एक डिजिटल मार्केटर हूँ और हिंदी में ब्लॉग लिखना मुझे पसंद है. स्पोर्ट, एंटरटेनमेंट, टेक्नोलॉजी, न्यूज़ और पॉलिटिक्स मेरे पसंदीदा टॉपिक्स है जिन मुद्दों पर में लिखता हुँ, आप ऐसे ही मेरे ब्लॉग पड़ते रहें और शेयर करते रहें.

Reply your comment

Your email address will not be published. Required fields are marked*

About Us