Select Page

नारियल तेल के फायदे और उपयोग – coconut oil benefits and uses in hindi

नारियल तेल के फायदे और उपयोग – coconut oil benefits and uses in hindi

पूरी दुनिया में नारियल का प्रयोग अनेक प्रकार से होता आ रहा है. चाहे बात करें नारियल पानी की या नारियल तेल की तो इनका इस्तेमाल लगभग हर भारतीय रसोई होता रहा है. ऐसा इसलिए क्योंकि कोकोनट ऑयल के बहुत सारे हेल्थ बेनेफिट्स होते है.  

आज इस लेख में हम आपको बताने वाले है कोकोनट ऑयल के फायदे और नारियल तेल का इस्तेमाल –

नारियल तेल के फायदे – coconut oil benefits in hindi

मेटाबॉलिज्म बेहतर होना

  • नारियल के तेल में मीडियम चेन ट्राइग्लिसराइड्स होते है.
  • इसकी मदद से कैलोरी बर्न तेज़ी से होता है.
  • सीमित अध्ययनों में यह जानने के मिला है कि अस्थाई रूप से मेटाबॉलिक रेट बूस्ट हो जाता है.

यूवी किरणों से त्वचा का बचाव

  • कोकोनट ऑयल को स्कीन पर लगाने से सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाव होता है.
  • सूर्य की हानिकारक किरणों को यूवी किरण बोला जाता है जिससे स्कीन कैंसर का रिस्क बढ़ जाता है.
  • नारियल तेल का उपयोग करने से यूवी किरणों से बचाव के साथ झूर्रियों और ब्राउन स्पॉट से भी बचा जा सकता है.
  • अध्ययन से पता चला है कि कोकोनट ऑयल का त्वचा पर उपयोग बाज़ार में मौजूद सनस्क्रीन के बराबर काम करता है जो 90 फीसदी तक यूवी किरणों को ब्लॉक करते है.

तेज़ तापमान पर सावधानी से कुकिंग करें

  • कोकोनट ऑयल में हाई सैचुरेटड फैट होता है.
  • ज्यादा तापमान पर नारियल तेल में मौजूद सैचुरेटड फैट नष्ट नही होते है.
  • जिस कारण से इसे ज्यादा तापमान पर भी कुक किया जा सकता है.
  • जबकि वेजिटेबल ऑयल को ज्यादा तापमान पर गर्म करने पर उसमें मौजूद तत्व नष्ट हो जाते है.
  • इसलिए तेज़ तापमान पर खाना पकाने के लिए नारियल तेल काफी प्रभावी है.

हेल्दी मेयोनेज़ के लिए

  • बाज़ार में मिलने वाली मेयोनेज़ में सोयाबीन ऑयल और एक्सट्रा शुगर होती है.
  • हालांकि, कोकोनट ऑयल या ऑलिव ऑयल से मेयोनेज़ को बनाया जा सकता है.
  • इससे आप घर पर ही हेल्दी मेयोनेज़ रेसिपी तैयार कर सकते हैं.

दाँतों की हेल्थ के लिए

  • बैक्टीरिया से लड़ने के लिए नारियल तेल काफी प्रभावी है.
  • मुँह के अंदर मौजूद बैक्टीरिया के कारण डेंटल प्लेग, दाँतों की सड़न और मसूड़ो की समस्या हो सकती है.
  • एक अध्ययन की माने तो कोकोनट ऑयल को मुँह में रखकर ऑयल पुल्लिंग करना से एंटीसेप्सिक माउथवॉश जैसा लाभ मिल सकता है.
  • दूसरे अध्ययन से यह जानने को मिला है कि रोज़ाना 10 मिनट ऑयल पुल्लिंग करने से किशोरावस्था में होने वाली मसूड़ो की सूजन और प्लेग जैसी समस्या से बचा जा सकता है.

दिमाग फंक्शन को बेहतर करना

  • नारिय तेल में मौजूद एमसीटी, लिवर में जाकर टूटता है और किटोन्स बन जाता है.
  • जो दिमाग के लिए दूसरे एनर्जी सोर्स को रूप में काम करता है.
  • कुछ अध्ययनों में यह भी देखने को मिल है कि एमसीटी का फायदा, दिमाग के डिस्ऑर्डर में भी होता है.
  • दिमाग के डिस्ऑर्डर जैसे मिर्गी के दौरे और अल्ज़ाइमर रोग आदि. 
  • कुछ अध्ययन करने वाले लोगों का मानना है कि नारियल तेल के नियमित उपयोग से किटोन का प्रोडक्शन बढ़ जाता है.

एक्ज़िमा और त्वचा की जलन

  • रिसर्च में पाया गया है कि नारियल तेल का उपयोग डार्माटाइटिस में लाभ देता है.
  • इसके अलावा कई तरह के स्कीन डिस्ऑर्डर को ठीक करने और मॉइस्चराइज़र के रूप में भी इसका उपयोग होता है.
  • एक्ज़िमा से ग्रसित बच्चों पर अध्ययन से पता चला है कि कोकोनट ऑयल का उपयोग करने वाले 47 फीसदी से बच्चों में अच्छे नतीजे देखे गए हैं.

स्कीन को मॉइस्चराइजर करने

  • हाथों, पैरों और शरीर पर कोकोनट ऑयल का इस्तेमाल मॉइस्चराइजर के रूप में कर सकते है.
  • इसे चेहरे पर भी लगाया जा सकता है, हालांकि यह ऑयली स्कीन के लिए नही होता है.
  • इसे एड़ियो की फटी हुई त्वचा पर लगाया जा सकता है. 
  • इसके लिए सोने से पहले तेल को लगाए और जुर्राब पहन लें.
  • ऐसा इसे ठीक होने तक कर सकते है.

इंफेक्शन से लड़ने

  • कच्चे नारियल के तेल में एंटीबैक्टीरियल गुण होते है जो इंफेक्शन से लड़ने में मददगार होते है.
  • इसके अलावा नारियल तेल यीस्ट इंफेक्शन से लड़ने में भी मदद करते है.
  • हालांकि, इसको साबित करने के लिए शोधकर्ताओं को कोई ठोस सबूत नही मिल पाए है.

गुड कोलेस्ट्रोल को बढ़ाने

  • कुछ लोगों में नारियल पानी के उपयोग से कोलेस्ट्रोल लेवल बढ़ जाता है.
  • लेकिन नियमित रूप से उपयोग करने पर एचडीएल कोलेस्ट्रोल को लेवल बढ़ता है.
  • कुछ अध्ययन में देखने को मिला है कि मोटापे से पीड़ित लोगों में गुड कोलेस्ट्रोल बढ़ता है.

शुगर फ्री डार्क चॉकलेट

  • घर में बनी डार्क चॉकलेट कोकोनट ऑयल के फायदे उठाने में मददगार होती है.
  • इसे फ्रीज में स्टोर करना चाहिए ताकि यह पिघले नही.
  • इसके लिए ऑनलाइन बहुत सारी रेसिपी मिल सकती है.
  • लेकिन ध्यान रहें कि हेल्दी रखने के लिए शुगर-फ्री होना चाहिए.

बालों को नुकसान से बचाना

  • कोकोनट ऑयल के उपयोग से बालों को हेल्दी रखा जा सकता है.
  • शैम्पू करने से पहले या बाद में लगाने और फिर बालों को धोने से प्रोटीन लॉस को कम करता है.
  • इसमें मौजूद फैटी एसिड बालों की लंबाई के लिए जरूरी होता है.

बेली फैट कम करने

  • नारियल तेल का उपयोग पेट की चर्बी को कम करने में मदद करता है.
  • जिससे बहुत सारी बीमारियों जैसे – हार्ट रोग, टाइप 2 डायबीटिज का खतरा कम हो जाता है.
  • साथ ही इसके नियमित रूप से कमर के साइज को कम किया जा सकता है.

भूख कम करने

  • नारियल तेल के उपयोग से भूख कम लगने के साथ कैलोरी का सेवन कम हो जाता है.
  • जिससे वजन कम करने में काफी मदद मिलती है.
  • इसके लिए हाई एमसीटी डाइट की जरूरत होती है.

घाव भरने के लिए

  • अध्ययन से पता चला है कि कोकोनट ऑयल का उपयोग घावों को ट्रीट करने के लिए किया जाता है.
  • साथ ही इससे सूजन जैसी उत्तेजना कम करने में मदद मिलती है.
  • इससे कॉलेजेन का प्रोडक्शन बेहतर होता है जिससे घाव जल्दी भरते है.
  • हल्के – फूल्के कट या चोट को ठीक करने के लिए नारियल तेल का उपयोग किया जा सकता है.

यीस्ट इंफेक्शन में लाभ

  • फंगस के कारण होने वाले इंफेक्शन जो प्यूबिक एरिया या मुंह में हो जाते है इसका कारण बनते है.
  • अपने एंटीफंगल गुणों के कारण नारियल तेल का उपयोग काफी देता है.
  • इसे कैंडीडा इंफेक्शन के लिए प्रीस्क्राइब भी किया जाता है.

हड़्डियों की हेल्थ के लिए

  • कच्चे नारियल तेल में एंटीऑक्सिडेंट होते है जो बोन की हेल्दी के लिए जरूरी होते है.
  • हमारी हड्डियों की हेल्थ के लिए कच्चा कोकोनट ऑयल जरूरी होता है यह फ्री रेडिकल्स को खत्म कर देता है.
  • इसके उपयोग से हड़्डियों का ढ़ांचा बेहतर हो जाता है जिससे बोन डेंसिटी बेहतर होती है.

दाग हटाने के लिए

  • कार्पेट, फर्नीचर जैसी चीज़ो पर लगे हुए दागों को हटाने के लिए कोकोनट ऑयल का इस्तेमाल होता है.
  • इसे बेकिंग सोडा के साथ मिक्स करके पेस्ट बनाया जाता है.
  • जिसे दाग पर 5 मिनट कर लगे रहने के बाद साफ करने से दाग मिट जाते है.

सूजन कम करने 

  • इसमें काफी सारे एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते है.
  • नारियल तेल के सेवन से ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस और सूजन को कम करने में प्रभावी है.

नैचुरल डियोड्रेंट

  • पसीने में अपनी कोई बदबू नही होती है.
  • लेकिन शरीर पर मौजूद बैक्टीरिया उसके साथ मिलकर बदबू पैदा करता है.
  • कोकोनट ऑयल के मजबूत एंटी-बैक्टीरियल गुण इसे नैचुरल डियोड्रेंट बनाते है.

लिवर की हेल्थ बेहतर करने

  • कोकोनट ऑयल में मौजूद सैचुरेटिड फैट शराब से खराब हुए लिवर को प्रोटेक्ट करता है.
  • साथ ही लिवर एंज़ाइम की एक्टिविटी को बढ़ाता है जिससे लिवर हेल्दी रहता है.

गठिया के लक्षणों से राहत

  • जोड़ो में होने वाले दर्द को गठिया के रूप में जाना जाता है जिसके दौरान हड़्डियाँ कमज़ोर हो जाती है.
  • अध्ययन के अनुसार नारियल तेल का तत्व इसके लक्षणों में राहत देकर काम करता है.
  • साथ ही गठिया की सूजन और कई प्रकार की उततेजनाओं को कम करता है.

अंत में

नारियल तेल के फायदे बहुत सारे होते है. ऊपर बताए गए तरीकों के अलावा भी इनका उपयोग बहुत सारी चीज़ो के लिए किया जाता है. इसलिए अपने रूटीन में इसका उपयोग किया जाना चाहिए.