आज इस लेख में आप जानेंगे बच्चों के लिए हेल्दी स्नैक्स –

बच्चों के लिए हेल्दी स्नैक्स – Healthy snacks for kids in hindi

दही

  • यह बच्चों के लिए उत्तम स्नैक हो सकती है.
  • यह प्रोटीन और कैल्शियम का अच्छा सोर्स होती है.
  • बढ़ती आयु वाले बच्चों में कैल्शियम हड्डियों के विकास में मदद करता है.
  • साथ ही दही में मौजूद अच्छा बैक्टीरिया पाचन तंत्र में सहायता करता है.
  • लाभ उठाने के लिए ध्यान रहें कि सादा दही का उपयोग करें.
  • मीठा करने के लिए उसमें ताज़ा फल या शहद मिलाया जा सकता है.

काले चिप्स

  • यह पोषक तत्वों से पूर्ण होने के साथ कैलोरी में कम होता है.
  • साथ ही इसमें विटामिन ए, विटामिन सी और विटामिन के होता है.
  • काले चिप्स को बनाने के लिए 1 छोटा बंच काले लें.
  • 15 एम ऑलिव ऑयल, 1 चम्मच लहसुन पाउडर, ¼ चम्मच नमक.
  • काले को टुकड़ों में तोड़ लें, धोकर सूखा लें.

फल

  • फलों को मिक्सी में पीसकर स्मूदी बनाई जा सकती है.
  • इनमें सब्जी आदि भी मिलाए जो सकते है जिसमें फलों की मिठास के साथ बच्चों के लिए पता लगाना कठिन हो जाता है.
  • ताज़ा, पूर्ण अनाज का उपयोग करें और बाजार में मिलने वाले फ्रूट जूस से बचें.
  • अधिकतर फलों में फाइबर और जरूरी पोषक तत्व होते है जैसे पोटेशियम, विटामिन ए और विटामिन सी होते है.
  • इसमें केला, सेब, अंगूर, नाशपाती आदि भी खाएं जा सकते है.

पॉपकॉर्न

  • काफी सारे लोग इसे जंक फ़ूड मानते है लेकिन यह पोषण से पूर्ण अनाज है.
  • इसे किसी अनहेल्दी फ़ूड के साथ टॉपिंग के रूप में उपयोग करने के स्थान पर यह बच्चों के लिए हेल्दी स्नैक हो सकता है.
  • घर में लाकर भी पॉपकॉर्न बना सकते है परंतु ज्यादा छोटे बच्चों को देने से बचें क्योंकि गले में फस सकता है.

केला ओट्स कुकीज

  • घर में बने केला कुकीज बच्चों के लिए टेस्टी स्नैक्स हो सकते है.
  • इसके लिए केले को मैश कर लें और उसमें कोई चीनी न मिलाएं
  • रिफाइंड चीनी के कारण बच्चों में हार्ट समस्याएं, मोटापा और टाइप 2 डायबिटीज का रिस्क बढ़ सकता है.

अखरोट

  • यह हेल्दी फैट होने के साथ ही फाइबर और एंटीऑक्सिडेंट में पूर्ण होते है.
  • बच्चों के विकास में डाइटरी फैट काफी अहम होता है.
  • ज्यादा छोटे बच्चे इसके सटक सकते है जिससे गले में फस सकता है.
  • इसलिए बच्चों को इसे ठीक से चबवाएं.

मक्खन

  • ताज़ा और क्रीमी चीज़ को शिशुओं को भी दिया जा सकता है.
  • यह प्रोटीन का अच्छा सोर्स होने के साथ साथ सेलेनियम, विटामिन बी12 और कैल्शियम का भी अच्छा सोर्स है.
  • बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए विटामिन बी12 काफी जरूरी है.
  • आज इसे सादा, टोस्ट या ड्राई फ्रूट के साथ दे सकते है.

ओट्स

  • यह न सिर्फ हेल्दी ब्रेकफास्ट होता है बल्कि बच्चों के लिए बहुत अच्छा स्नैक भी है.
  • इसमें हाई घुलनशील फाइबर होता है जो अन्य लाभों के साथ पाचन तंत्र को मदद देते है.
  • बच्चों को ओट्स दूध के साथ दें क्योंकि इससे प्रोटीन और कैल्शियम भी मिलता है.

अचार

  • यह पानी और नमक में बने होते है.
  • यह विटामिन के के अच्छे सोर्स होने के साथ ही प्रोबायोटिक बैक्टीरिया में पूर्ण होते है जो पाचन चंत्र में मदद करते है.
  • जिन अचार में विनेगर होता है वो प्रोबायोटिक नहीं होते है.
  • मीठे अचारों को खाने से बचें यह हाई शुगर वाले होते है.

पनीर

  • यह प्रोटीन, फैट समेत कैल्शियम का अच्छा सोर्स होता है.
  • अध्ययनों के अनुसार पनीर के साथ अन्य डेयरी प्रोडक्ट का सेवन करने से डाइट की गुणवत्ता बढ़ जाती है.
  • फुल फैट डेयरी फ़ूड का सेवन करने से कैल्शियम, मैग्नीशियम, विटामिन ए और विटामिन डी जैसे पोषक तत्व मिलते है.
  • दो भोजन के बीच में पनीर का सेवन करने से पेट को भरा रखना महसूस होता है.
  • साथ ही बच्चों में कम कैविटी होने के आसार रहते है.

सब्जियां

  • कुछ माता-पिता के लिए बच्चों को सब्जियां खिलाना काफी मुश्किल होता है.
  • लेकिन इसे उनके लिए मौज मस्ती बना देने पर यह बहुत हद तक सरस हो जाता है.
  • सैंडविच आदि में गाजर, खीरा, शिमला मिर्च आदि के साथ खिलाया जा सकता है.
  • सब्जियों में सभी जरूरी विटामिन, मिनरल होते है.

शकरकंद

  • यह बीटा कैरोटेन का सबसे अच्छा सोर्स होता है, यह एक जरूरी पोषक तत्व है जो शरीर में विटामिन ए को बनाता है.
  • यह आंखों और स्किन के लिए जरूरी है.
  • आप घर में शकरकंद को फ्रैंच फ्राइज की तरह भी बना सकते है.
  • इसे उबालने के बाद, छिलका उतार लें, ऑलिव ऑयल आदि में डालकर नमक छिड़ककर खा सकते है. 

अंत में

बढ़ते बच्चों को दो भोजन के बीच में भूख लगना आम है. हालांकि, बाज़ार में ऐसे कई स्नैक्स उपलब्ध है जो काफी अनहेल्दी होते है. (जानें – वजन घटाने वाले हेल्दी स्नैक्स के बारे में)

इनके अनहेल्दी होने के कारणों में मैदा, अतिरिक्त शुगर और कृत्रिम सामग्री शामिल है. लेकिन यह स्नैक्स का टाइम बच्चों की डाइट में पोषक तत्वों को शामिल करने का बेहतर तरीका हो सकता है.

हाई प्रोसेस्ड फ़ूड्स के स्थान पर बच्चों को पोषक तत्वों वाला फ़ूड एनर्जी और पोषण उपलब्ध कराता है.

काफी सारे बच्चे दो भोजन के बीच भूख महसूस करते है. ऐसे में हेल्दी स्नैक्स, बच्चों को एनर्जी के साथ रोजाना पोषण प्रदान करने में मदद करते है.

ध्यान रहें कि बच्चे को पूर्ण, बिना प्रोसेस वाले फ़ूड का सेवन करवाएं.

References –

 

Share: