Select Page

एड़ी में दर्द के कारण, इलाज और बचाव – heel pain in hindi

एड़ी में दर्द के कारण, इलाज और बचाव – heel pain in hindi

हमारे पैर और एड़ी 26 हड्डियों, 33 जोड़ों और 100 टेंडन से बने होते है. जबकि हमारी एड़ी पैर की सबसे बड़ी हड्डी होती है.

अगर आप अपनी एड़ी का अधिक इस्तेमाल या चोट पहुँचा लेते है तो आपको इसमें दर्द होता है. यह दर्द मध्यम से लेकर अक्षम करने तक का हो सकता है. अगर दर्द में कोई घरेलू उपचार काम नही आता है तो आपको निदान कराने के लिए डॉक्टर की जरूरत पड़ सकती है.

एड़ी में दर्द के कारण क्या हो सकते है – what is the cause of heel pain in hindi

एड़ी में दर्द के कई सामान्य कारण हो सकते है जैसे –

  • एंकायलूजिंग स्पॉन्डिलाइटिस – इस प्रकार की गठिया सीधे स्पाइन को प्रभावित करती है. जिससे वर्टिबरे में गंभीर इंफ्लामेशन के कारण क्रोनिक दर्द और विकलांग होने का रिस्क बढ़ जाता है.
  • प्लांटर फेशिआइटिस – जब हमारे तलवों पर पड़ने वाले बहुत अधिक प्रेशर प्लांटर फेशिआ लिगामेंट को नुकसान पहुँचा देता है जिससे दर्द और ऐंठन होती है.
  • ऑस्टियोकॉन्ड्रिटिस – यह डिसऑर्डर बच्चों और व्यस्कों में सीधे हड्डियों के विकास को प्रभावित करता है. 
  • मोच और खिचांव – किसी शारीरिक एक्टिविटी के दौरान शरीर में लगने वाली चोटें होती है. यह चोटें आम होती है जो घटनाक्रम के आधार पर हल्की से लेकर गंभीर तक हो सकती है.
  • फ्रैक्चर – यह एक टूटी हुई हड्डी होती है जिसमें तुरंत मेडिकल सहायता की जरूरत होती है.
  • रिएक्टिव आर्थराइटिस – शरीर में होने वाला इंफेक्शन इस प्रकार के गठिया को ट्रिगर करता है.
  • अकिलिस टेंडनाइटिस – ज्यादा प्रयोग करने आदि के कारण काल्फ मांसपेशी को एड़ी से जोड़ने वाले टेंडन में दर्द या इंफ्लामेशन को इस स्थिति के रूप में जाना जाता है.
  • बर्साइटिस – यह जोड़े में फ्लूइड से भरी हुई थैली होती है, जो टेंडन, स्किन और मांसपेशी टिश्यू को हड्डियों से जोड़ने वाली जगहों पर होती है.

एड़ी में दर्द का इलाज – how can heel pain be treated in hindi

एड़ी में दर्द होने पर आप निम्न घरेलू तरीकों का प्रयोग कर दर्द में आराम पा सकते है.

  • जितना हो सके आराम करें.
  • दिन में दो बार एड़ी की बर्फ से सिकाई करें.
  • ओटीसी दवाएं ले सकते है.
  • सही फिटिंग वाले जूते पहने.
  • दर्द को कम करने के लिए हील लिफ्ट या सूज इंसर्ट का इस्तेमाल करें.

इन घरेलू उपचार से आराम न मिलने पर आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए. शारीरिक जांच के आधार पर वह आपसे लक्षण पूछकर शुरूआत कर सकते है. एड़ी में दर्द का कारण जानने के लिए वह एक्स-रे आदि कराने के लिए बोल सकते है.

दर्द का कारण पता लगने पर डॉक्टर आपको उचित उपचार दे पाएंगे. अधिकतर मामलों में डॉक्टरों द्वारा फिजिकल थेरेपी दी जाती है. इससे पैर की मांसपेशियों और टेंडन को मजबूती मिलने में मदद मिलती है.

एड़ी में दर्द गंभीर होने पर डॉक्टर आपको एंटी-इंफ्लामेटरी दवाएं दे सकते है.

जबकि बहुत ही रेयर मामलों में डॉक्टरों द्वारा सर्जरी आदि करने की सलाह दी जाती है. लेकिन इसे सही होने में समय लगता है और जरूरी नही कि हमेशा इससे एड़ी दर्द में आराम मिलें.

एड़ी में दर्द की जटिलताएं – what are the complications of heel pain in hindi

  • एड़ी में दर्द आपको असक्षम और रोजाना की गतिविधियों को प्रभावित कर सकता है.
  • यह आपके चलने के तरीके को प्रभावित कर सकता है.
  • ऐसा होने पर आप संतुलन खोकर चलते हुए गिर सकते है जिससे चोट लगने के आसार अधिक रहते है.

एड़ी में दर्द से बचाव – how can you prevent heel pain in hindi

एड़ी में दर्द के सभी मामलों में बचाव मुश्किल है, लेकिन फिर भी कुछ आसान टिप्स के साथ आप चोट से बचाव कर सकते है –

  • पैरों को सपोर्ट करने वाले फिटिंग के जूते पहने
  • शारीरिक गतिविधि के लिए सही जूते पहने
  • एक्सरसाइज शुरू करने से पहले स्ट्रैच करें.
  • हेल्दी डाइट लें.
  • मांसपेशी में खिचांव आदि होने या थकान होने पर रेस्ट करें.
  • हेल्दी वजन बनाए रखें.

डॉक्टर से कब मिलें

अगर आप एड़ी में दर्द विकसित करते है तो शुरूआत में आप कुछ घरेलू उपचार आज़मा सकते है जैसे आराम करना जिससे इसके लक्षण कम हो सके. अगर आपकी एड़ी का दर्द दो या तीन हफ्तों में ठीक नही होता है तो डॉक्टर से मिलकर सलाह लेनी चाहिए.

निम्न स्थितियों में डॉक्टर से तुरंत संपर्क करें –

किसी अन्य समस्या या सवाल के लिए डॉक्टर से बात कर सलाह ली जानी चाहिए जिससे स्थिति का बेहतर निदान कर उचित उपचार दिया जा सके.