Select Page

पीरियड्स लेट करने के उपाय – how to delay periods naturally at home in hindi

पीरियड्स लेट करने के उपाय – how to delay periods naturally at home in hindi

जिन महिलाओं को पीरियड्स आते है वह हमेशा यही सोचती है कि पीरियड्स पीछे या लेट हो जाएं. शायद ही कुछ महिलाएं होगी जो छुट्टियों में पीरियड्स न आने की इच्छा रखती है. ऐसा इसलिए क्योंकि पीरियड्स के साथ साथ इसके साथी लक्षण जैसे ब्रेस्ट टैंडरनेस और पेट फूलना आदि आते है.

अगर आप इंटरनेट पर सर्च करेंगे तो आपको पीरियड्स लेट करने के तरह तरह के तरीके जानने को मिलेगें. लेकिन जरूरी नही कि वह नैचुरल हो, तो आज इस लेख में हम आपको बताने वाले है नैचुरल रूप से पीरियड्स पीछे कैसे करें. 

पीरियड्स पीछे करने के उपाय – how to delay periods naturally at home in hindi

चने की दाल

  • कुछ अध्ययनों के अनुसार, पीरियड्स शुरू होने से एक दिन पहले चने की दाल खाने से पीरियड्स पीछे हो जाते है.
  • अध्ययन की रिपोर्ट के अनुसार चने की दाल को पाउडर बनने तक फ्राई करें.
  • इसके अलावा आप चने का आटा भी खरीद सकते है जिसे स्मूदी या सूप के साथ ले सकते हैं.

सेब का सिरका

  • एक्ने, हार्टबर्न और पेट से चर्बी कम करने के लिए सेब के सिरका को रामबाण माना जाता है.
  • इसी की ही तरह सेब के सिरके को मासिक धर्म संबंधी मुद्दों जैसे दर्द या पेट फूलना के इलाज के रूप में जाना जाता है.
  • हालांकि, पीरियड्स को लेट करने के लिए इसकी कोई रिसर्च उपलब्ध नही है.
  • लेकिन पानी के साथ मिलाकर सेब का सिरका लेने से लाभ मिलता है और यह सुरक्षित रहता है. 

जिलेटिन

  • जिलेटिन को गुनगुने पानी में मिलाकर पीने से पीरियड्स को कुछ घंटों के लिए रोका जा सकता है.
  • लंबे समय तक राहत के लिए जिलेटिन उपचार को रिपीट कर सकते है.
  • ज्यादा मात्रा में जिलेटिन को पीने से पेट फूलना और पाचन समस्याएं हो सकती है.

नींबू 

  • सेब के सिरका की ही तरह इसमें हाई एसिड की मात्रा होती है.
  • हालांकि इसको लेकर अध्ययन की रिपोर्ट में कुछ साफ नही है.
  • लेकिन ज्यादा एसिड वाले फ़ूड्स से दांत, मसूड़े, मुंह, गला, पेट और इंटेस्टाइन में समस्या हो सकती है.
  • इसे आज़माने के लिए नींबू को पानी के साथ मिलाकर लें.

एक्सरसाइज़

  • ज्यादा एक्सरसाइज से पीरियड्स की शुरूआत को धीमा किया जा सकता है.
  • पीरियड्स शुरू होने से कुछ दिन पहले अच्छी शारीरिक एक्सरसाइज करने से पीरियड्स लेट हो सकते है.
  • इसका कारण होता है शरीर में लो एनर्जी का होना जिसे पूरा करने के लिए पीरियड्स साईकल में बदलाव करता है.
  • अधिकतर प्रोफेशनल एथलीट्स को पीरियड्स लेट होते है.

पीरियड्स पीछे करने के गैर-प्राकृतिक उपचार – period piche karne ki tablet

नोरेथिस्टेरोन

  • यह डॉक्टर द्वारा प्रीस्क्राइब की जाने वाली दवा है जो पीरियड्स को लेट करती है.
  • पीरियड्स शुरू होने से 3 से 4 दिन पहले यह टैबलेट ली जाती है.
  • एक दिन में तीन टैबलेट लेनी होती है और टैबलेट बंद करने पर 2 से 3 दिन में पीरियड्स शुरू हो जाते है.
  • इस दवा को गर्भनरोधक के रूप में भी जाना जाता है.
  • लेकिन अगर आप इस दवा को लेने के दौरान सेक्स करती है तो आपको कंडोम आदि का इस्तेमाल करना चाहिए जिससे प्रेगनेंसी से बचा जा सके.
  • इसके साइड इफेक्ट में मतली, सिरदर्द, स्तनों में कठोरता और मूड में बदलाव आदि. 

गर्भनिरोधक दवाएं

  • प्रोजेस्ट्रेरोन एस्ट्रोजन गोली को लेने से आप 7 दिन के लिए पीरियड्स को लेट कर सकती है.
  • इस दवा के इस्तेमाल से पहले डॉक्टर से बात करके सलाह ली जानी चाहिए.

पीरियड्स लेट करने के नुकसान – periods late karne ke nuksan in hindi

  • पीरियड्स लेट करने के कुछ नैचुरल तरीकों का इस्तेमाल करने के कुछ साइड इफेक्ट हो सकते है.
  • नींबू का पानी और सेब का सिरका आपके गले और मुँह के सवेदनशील टिश्यू को नुकसान पहुँचा सकते है.
  • इससे आपको दांत का इनेमल कमजोर हो सकता है.
  • जिलेटिन और चने की दाल से पेट फूलना और पेट की असहजता हो सकती है.
  • कुछ मामलों में देखा जाता है कि दोनों केमिकल और प्राकृतिक तरीके कोई लाभ नही देते है.
  • ऐसा न होने पर आपको पीरियड्स तो होंगे ही जिसमें अनियमित पीरियड्स की ब्लीडिंग या स्पॉटिंग हो सकती है.

अंत में

अगर आप किसी भी कारण अपने पीरियड्स को पीछे करना चाहती है तो आपको अपने डॉक्टर से बात करके सलाह लेनी चाहिए. अधिक नैचुरल उपाय सुरक्षित होते है लेकिन इनके प्रभाव को लेकर अभी और भी रिसर्च की जरूरत है. 

जबकि गैर नैचुरल प्राकृतिक उपचार काफी प्रभावी हो सकते है लेकिन उसके लिए आपको डॉक्टर से प्रीस्क्राइब करवाना चाहिए. किसी अन्य समस्या या सवाल के लिए डॉक्टर से बात करके सलाह ली जानी चाहिए.