सहनशक्ति वह ताकत और ऊर्जा है जो आपको लंबे समय तक शारीरिक या मानसिक प्रयास को बनाए रखने की अनुमति देती है. जब आप कोई गतिविधि कर रहे होते हैं तो आपकी सहनशक्ति को बढ़ाने में आपको असुविधा या तनाव सहना पड़ता है. यह थकान और थकावट के समय को भी कम करता है.

हाई स्टैमिना होने से आप कम एनर्जी का उपयोग करते हुए अपनी दैनिक गतिविधियों को उच्च स्तर पर कर सकते हैं. आज इस लेख में आप जानेंगे स्टैमिना बढ़ाने के तरीकों के बारे में –

स्टैमिना कैसे बढ़ाएं – how to increase stamina in hindi

कैफीन

  • तैराको पर हुए अध्ययन में यह देखने को मिला है कि फ्रीस्टाइल स्प्रींट करने से कम से कम एक घंटे पहले कैफीन के सेवन से बिना हार्ट रेट बढ़े स्टैमिना बढ़ जाता है.
  • इसके अलावा थकान महसूस करने वाले दिनों के दौरान कैफीन का सेवन एनर्जी बूस्ट कर सकता है.
  • ध्यान रहें कि बहुत अधिक कैफीन का सेवन न करें इससे सहिष्णुता विकसित हो सकती है. (जानें – कॉफी पीने के फायदे)
  • कैफीन का सेवन करते समय ध्यान रहें कि चीनी या अतिरिक्त फ्लेवर का उपयोग न करें. 

एक्सरसाइज

  • जब आप एनर्जी पर कम महसूस कर रहे हों, तो एक्सरसाइज आपके दिमाग में आखिरी चीज़ हो सकती है, लगातार एक्सरसाइज आपकी सहनशक्ति बनाने में मदद कर सकता है.
  • एक अध्ययन में देखा गया कि जिन लोगों को काम संबंधी थकान हो जाती है उन्हें एक्सरसाइज करने से एनर्जी लेवल बेहतर महसूस हुए.
  • साथ ही उनकी कार्य करने की क्षमता, नींद की गुणवत्ता और कॉग्नेविट फंक्शन बेहतर हुए.

अश्वगंधा

  • अश्वगंधा एक जड़ी बूटी है जिसका उपयोग संपूर्ण स्वास्थ्य और जीवन शक्ति के लिए किया जाता है.
  • इसका उपयोग कॉग्नेटिव फंक्शन को बढ़ावा देने और तनाव को कम करने के लिए भी किया जा सकता है.
  • अश्वगंधा को एनर्जी लेवल बूस्ट करने के रूप में भी जाना जाता है.
  • साथ ही स्टैमिना बिल्डअप करने में भी सहायक होती है.

म्यूजिक

  • संगीत सुनने से आपकी हृदय की कार्यक्षमता बढ़ सकती है.
  • अध्ययन में देखने को मिला है कि इससे हार्ट रेट कम हो जाता है.
  • इसलिए एक्सरसाइज करते समय सही म्यूजिक का चुनाव करें.

योग और मेडिटेशन

  • योग और मेडिटेशन आपकी सहनशक्ति और तनाव को संभालने की क्षमता को बहुत बढ़ा सकते हैं.
  • एक अध्ययन में देखने को मिला कि योग और मेडिटेशन करने वाले लोगों ने तनाव के स्तर में कमी महसूस की है.
  • साथ ही उन्होंने ताकत बढ़ाने और कम थकान महसूस करना रिपोर्ट किया.

अंत में

जब आप अपने ऊर्जा स्तर को बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करते हैं, तो ध्यान रखें कि ऊर्जा का अनुभव और प्रवाह करना स्वाभाविक है. हर समय अपनी अधिकतम क्षमता पर काम करने की उम्मीद न करें. 

अपने शरीर को समझने और आवश्यकतानुसार आराम करने के लिए याद रखें. खुद को थकावट की तरफ पुश करने से बचना चाहिए.

यदि आपको लगता है कि आप कोई परिणाम प्राप्त किए बिना अपनी सहनशक्ति बढ़ाने के लिए बदलाव कर रहे हैं, तो आप एक डॉक्टर को देखने की इच्छा कर सकते हैं. 

आपका डॉक्टर यह निर्धारित कर सकता है कि क्या आपके पास कोई अंतर्निहित स्वास्थ्य समस्याएं हैं जो आपके प्रदर्शन को प्रभावित कर रही हैं. अच्छे स्वास्थ के लिए अपनी प्लान पर ध्यान केंद्रित करें.

References –

  • ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4948383/
  • ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4687242/
  • ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/28323305
  • ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5358037/
  • ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5174168/
Share: