Select Page

वर्जिनिटी खोने से पहले जान लें जरूरी बातें – lose virginity without pain in hindi

वर्जिनिटी खोने से पहले जान लें जरूरी बातें – lose virginity without pain in hindi

वैसे तो सेक्स को लेकर कई प्रकार के मिथक आपने सुने ही होंगे, जैसे पहली बार सेक्स करने पर बहुत दर्द होता है आदि आदि. ऐसा कुछ नही है, हो सकता है कि आप थोड़ा सहज महसूस न करें. लेकिन वेजाइनल, एनल या ओरल सेक्स को दर्द का कारण नही माना जाता है.

लेकिन पहली बार सेक्स करने से पहले यह जान लेना जरूरी है जिससे आप अपनी नर्व पर काबू कर सकें, असहजता को कम कर सके और अच्छा टाइम बिता सकें.

हर किसी का पहली सेक्स अलग होता है

  • सबसे पहले यह जान लेना जरूरी है कि वर्जिनिटी की कोई व्याख्या नही है.
  • काफी लोगों को लगता है कि वर्जिनिटी खोने का मतलब है पहली बार वेजाइना में पेनिस का प्रवेश करना. लेकिन इसकी व्याख्या अलग भी हो सकती है.
  • जबकि कुछ लोगों के अनुसार ओरल रूप से चीज़े जैसे फिंगरिंग, हैंड जॉब या एनल पेनिट्रेशन को सेक्स समझा जा सकता है.
  • इसे आप हस्तमैथुन या सेक्स टॉय के उपयोग से भी बता सकते है.

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि हर किसी की पहली बार सेक्स करने की डेफिनेशन अलग होती है. सबसे जरूरी पहली बार सभी का सेक्स अलग होता है जिसमें बात करके डिस्कम्फर्ट (बैचेनी) को कम किया जा सकता है.

वर्जिनिटी खोने के दौरान बैचेनी कम करने के टिप्स

यहां कुछ टिप्स है जो पहली बार सेक्स करने में मदद कर सकते है –

अपनी पसंद के बारे में पता होना चाहिए

  • अगर आपको सेक्स के दौरान अपनी पसंद के बारे में नही पता, तो आप हस्तमैथुन करके पता लगा सकते है.
  • अगर आपने वेजाइनल सेक्स के बारे में प्लानिंग कर रखी है तो आप अपनी फिंगर या सेक्स टॉय का इस्तेमाल कर पता लगा सकती है कि कैसा महसूस होता है.
  • इस दौरान आपको यह पता लग सकता है कि कौन से एंगल या सेक्स पोजीशन आपको बैचेन नही होने देंगे.
  • चीज़े पता होने पर आप अपने पार्टनर को बता पाएंगे कि आपको कितना आनंद मिल रहा है.

अपनी चिंताओं को पार्टनर के साथ साझा करें 

  • आप जिसके साथ पहली बार सेक्स कर रहें है वो कोई भी हो सकता है जैसे आपकी पत्नी, दोस्त, पती या कोई जानने वाला आदि.
  • अगर आप नर्वस है या आपको लगता है कि आपको नुकसान पहुंच सकता है तो उनसे बात करें.
  • दोनों पार्टनर को शारीरिक और मानसिक रूप से सहज होने के अलावा सावधानियां बरतनी चाहिए.

ऑर्गेज़म और सेक्सुअल प्रदर्शन को लेकर वास्तविक रहें

  • पुरूषों को ऐसा नही सोचना चाहिए कि वह पहली बार सेक्स करने के दौरान लंबे समय तक टिके रहेंगे.
  • लंबे समय तक टिका जा सकता है लेकिन उसके लिए लंबे समय तक लगातार सेक्स करने पर आप वहां पहुंच सकते है जिससे आपको ऑर्गेज़म और स्खलन में समय लगे.
  • जबकि शुरूआत में लंबे समय तक नहीं टिकना बिल्कुल नार्मल है.
  • इसके अलावा किसी भी प्रकार का अपने ऊपर या अपने पार्टनर पर दवाब महसूस कर सकते है जिससे प्रदर्शन पर असर पड़ता है.
  • पहली बार सेक्स करने पर जोड़े एक दूसरे को ऑर्गेज़म देते है और प्राप्त करते है.
  • सेक्स एक प्रकार की स्किल है जिसमें समय के साथ आप बेहतर होते जाते है जैसे गाड़ी चलाना या वाल्क करना आदि.
  • इसलिए शुरूआत से ही अपने पार्टनर से वास्तविक प्रगर्शन की उम्मीद रखें

सेक्स की शुरूआत धीरे करें

  • यह काफी उत्तेजित करने वाला हो सकता है, इसलिए हो सकता है कि आप तेज़ी के साथ शुरूआत करें.
  • ऐसा नर्वस होने पर होता है, लेकिन धीरे और सदी हुई शुरूआत से ही आप रेस को जीत सकते है.
  • शुरूआत बहुत धीरे और प्यार से करें, बाद में अपने तरीके से बदल लें.
  • किसी भी प्रकार के प्रवेश से पहले धीमी शुरूआत करना अच्छा होता है.
  • ऐसा करने से वेजाइनल और एनल मांसपेशियों को रिलैक्स होने का समय मिल जाता है.
  • साथ ही आपको आनंद उठाने का ज्यादा टाइम मिलता है.

फॉरप्ले को समय दें

  • अपने दिमाग को आराम देने के लिए फॉरप्ले बेस्ट है.
  • इससे आपको अपने पार्टनर के शरीर के बारे में अधिक पता लगता है और प्लेजर बढ़ जाता है.
  • फॉरप्ले के दौरान बहुत से पुरूषों का पेनिस इरेक्ट (खड़ा) हो जाता है.
  • जबकि महिलाओं की योनि गीली हो जाती है.
  • फॉरप्ले अलग अलग जोड़ो में अलग तरीके से हो सकता है जैसे किसिंग करना, बिना कपड़ो के एक दूसरे को गले लगाना, एक साथ पॉर्न देखना या सुनना, सेक्स की बात करना, ओरल सेक्स करना आदि.

लूब्रिकेंट का उपयोग

  • वेजाइनल सेक्स प्लान करने पर लूब्रिकेंट आपकी काफी मदद कर सकते है.
  • इससे पेनिस आसानी से प्रवेश कर सकता है जिससे पेनिस अंदर – बाहर करने पर कम दर्द होता है.
  • कंडोम का इस्तेमाल करने पर ऑयल आधारित ल्यूब का प्रयोग न करें, इससे कंडोम फट सकता है.
  • वैसलीन या पानी आधारित लूब्रिकेंट का उपयोग कर सकते है जो किसी भी फार्मेसी पर मिल जाते है.

अलग सेक्स पोजीशन आज़मा सकते है

पहली बार सेक्स करने वाले जोड़े इन पोजीशन को अपना सकते है –

  • मीशनरी
  • गर्ल ऑन टॉप
  • डॉगी स्टाइल
  • 69

अपने पार्टनर से बात करें और जिस पोजीशन में चाहे सेक्स करें. ऐसा करने से आप अपनी सेक्स लाइफ को अच्छा भी बना सकते है. लेकिन ध्यान रहें कि कुछ भी ऐसा न करें जो आपके या आपके पार्टनर को बैचेन करें.

पार्टनर से बात करते रहें

  • फिल्मों में दिखाया जाता है कि सेक्स के दौरान जोड़े एक दूसरे से बात नही करते है.
  • लेकिन सच्चाई इससे विपरीत है, बात करने से मज़ा अधिक बढ़ सकता है.
  • अपने पार्टनर से पूछे कि क्या वह आनंद उठा रहें है, क्या अलग पोजीशन उनके लिए कंफर्टेबल है आदि.
  • सहज महसूस न करने पर आपकी पार्टनर आपको बता सकती है.

अगर आप ओरल सेक्स करने की सोच रहे हैं

  • अपने पार्टनर के गुप्तांगो पर दांतों का इस्तेमाल न करें.
  • प्यार से किस करना, लिक करना या झटके काफी आनंद दे सकते है.
  • ऐसे ही बलोजॉब देते समय हो सकता है कि आपको बैचेनी हो, तो ऐसे में धीरे से शुरूआत करें.

वेजाइनल सेक्स करने वाले है तो

  • वेजाइना गीली न होने पर ल्यूब का इस्तेमाल करें.
  • इससे पेनिस का प्रवेश आसान हो जाता है.
  • अगर आपका पार्टनर फिंगर का योनि में प्रवेश कर रहा है तो उसके नाखुनों को छोटा रखें और हाथ धोने को बोलें.
  • योनि में प्रवेश की बात आती है तो धीरे से शुरूआत करें.
  • महिला पार्टनर की कमर के नीचे तकिया लगाने पर योनि में प्रवेश ज्यादा आसान हो जाता है.

कुछ लोगों का मानना है कि पहली बार योनि में पेनिस प्रवेश करने पर ब्लीडिंग होती है, ऐसा सच नही है और जरूरी नही की ऐसा हो. इसके पीछे के कई कारण होते है जैसे पीरियड्स में भारी ब्लीडिंग से भी हैमन टूट जाता है. अगर आपको चिंता है कि ब्लीडिंग आदि होगी तो आप टावल या बलैंकेट का इस्तेमाल कर सकती हैं.

एनल सेक्स करने से पहले

  • पहली बार एनल सेक्स करने पर लूब्रिकेशन की बहुत जरूरत होती है.
  • वेजाइना की तरह गुदा नैचुरली लूब्रिकेंट तत्व नही बनाता है.
  • अगर आप सेक्स टॉय से शुरू करने की सोच रहें है तो पहले छोटे वाले से शुरू करें.
  • पेनिस प्रवेश से बेहतर है कि आप फिंगर या सेक्स टॉय का प्रयोग करें.

याद रखने वाली अन्य बातें

पहली बार सेक्स करने पर एसटीआई हो सकती है

वैसे तो यह हर बार किसी भी सेक्स कृत्य में शामिल होने पर हो सकती है लेकिन यह कुछ खास तरीकों से फैल सकती है –

  • खून
  • सीमन
  • वेजाइनल सिक्रेशन
  • गुप्तांगों के एक दूसरे से स्किन कॉनटेक्ट होने पर हो सकती है.

प्रेगनेंसी का खतरा

अगर हम बात करें योनि में पेनिस की प्रवेश की तो इससे प्रेगनेंट होने का खतरा बढ़ जाता है. इससे बचने के लिए –

  • ओरल कंट्रासेप्शन का उपयोग किया जा सकता है
  • इंट्रायूटेरिन डिवाइस (आईयूडी)
  • बर्थ कंट्रोल इंप्लांट
  • कंडोम का उपयोग

पहली बार सेक्स करने के बाद ध्यान रखने योग्य लक्षण

सेक्स के दौरान दर्द होने निम्न कंडीशन की ओर इशारा करता है जैसे –

एसटीआई जो सेक्स को असहज बना सकती है जैसे –

  • क्लामायडिया
  • गोनोरिया
  • जेनिटल हर्पस
  • एचपीवी

अगर आपको सेक्स के दौरान दर्द होता है और यह बना रहता है तो आपको डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए

अंत में

पहली बार सेक्स करना या वर्जिनीटी खोना दर्दनाक नही होना चाहिए. जब आप ऊपर बताई गई सावधानियां बरतते है तो आप बिना दर्द के, अधिक आनंद के साथ सेक्स का मज़ा उठा सकते है. जबकि एसटीआई या प्रेगनेंसी से बचने के लिए कंडोम का उपयोग किया जा सकता है.