Health

क्या होता है पिगमेंटेशन और कैसे करें इसका घर बैठें इलाज – Kya hota hai Skin pigmentation?

kya-hota-hai-skin-pigmentation

पिगमेंटेशन जिसे हिंदी में रंजकता कहा जाता हैं. यह एक ऐसी स्थिति होती है जिसमें त्वचा पर डार्क पैच निकलने शुरू हो जाते हैं. जिनका आकार अलग हो सकता हैं. ऐसी स्थिति हानिकारक नहीं है, लेकिन यह एक गंभीर समस्या के लक्षण हो सकते हैं.

रंजकता का कारण शरीर में मेलेनिन का अतिरिक्त उत्पादन होता हैं और यह गर्भावस्था और विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं में हार्मोनल परिवर्तन के कारण होता हैं. जिसके चलते स्कीन असमान और अनहेल्थी दिखने लगती हैं. कुछ रसायनों के साथ संपर्क से अधिक मेलेनिन उत्पादन भी हो सकता हैं. आज हम आपको बताएंगे पिगमेंटेशन से बचने के घरेलू उपचार जिन्हें अपनाकर पिगमेंटेशन से छुटकारा पाया जा सकता है –

पिगमेंटेशन से बचने के घरेलू उपचार

नींबू

यह घर में इस्तेमाल होने वाला साइट्रिक एसिड होता है, जो त्वचा को ब्लीच करने में मदद करता हैं. यह चेहरे पर मौजूद पैच को प्रभावी ढंग से हल्का करता हैं.

प्रयोग करने का तरीका

नींबू का रस निकालें और रूई के साथ त्वचा पर रगड़ें.
इसके बाद 15 मिनट के लिए इसे छोड़ दें और इसे पानी से धो लें.
कुछ महीनों के लिए दिन में दो बार इस उपाय का पालन करें.

सेब का सिरका

पिगमेंटेशन से प्रभावित त्वचा पर लगाने से डार्क पैच को कम करने में मदद मिलती हैं और यह पिगमेंटेशन से बचने के घरेलू उपायों में से एक हैं.

उपयोग करने का तरीका

आधा गिलास गर्म पानी और सेब साइडर सिरका के दो चम्मच मिलाएं
इस मिश्रण में एक चम्मच शहद जोड़ें और इसे प्रभावित क्षेत्र पर लगाए.
इसे 2-3 मिनट तक रहने दें और फिर इसे गुनगुने पानी से धो लें.
दिन में कम से कम दो बार इस उपाय का पालन करें.

कच्चे आलू

आलू में कैटेकोलास होता है जो हाइपर पिगमेटेड स्कीन को साफ करने के लिए होता हैं. यह अन्य स्थानों और दाग़ों को हल्का करने में भी मदद करता है.

प्रयोग करने का तरीका

एक मध्यम आकार के आलू ले लो और छीलने के बाद मोटी स्लाइस में काट लें.
सतह पर पानी की कुछ बूंदों के साथ आलू का टुकड़ा पांच से 10 मिनट तक दबाएं.
अंत में, गुनगुने पानी के साथ पिगमेंट एरिया पर 20-30 मिनट तक छोड़ दें.
ऐसा एक महीने में 3-4 बार प्रभावी परिणाम दिखेंगे.

विटामिन ई

पिगमेंटेशन से बचने के घरेलू उपायों में सबसे अच्छा है विटामिन ई का प्रयोग, यह एक एंटीऑक्सिडेंट होता है जो यूवी किरणों के हानिकारक प्रभावों से त्वचा को बचाता है.

उपयोग करने का तरीका

मिश्रित पपीता के एक चम्मच के साथ एक घर का बना मुखौटा बनाएं
विटामिन ई के 2 कैप्सूल लें और उन्हें घीस लें.
कटोरे में सामग्री रखो अरंडी के तेल की कुछ बूँदें डाले और अच्छी तरह मिलाएं.
पेस्ट को प्रभावित त्वचा पर मिश्रण को लगाए.
अगली सुबह इसे धो लें.
2-3 सप्ताह के लिए यह उपाय जारी करें.

हल्दी

हल्दी अपने गुणों के कारण रंजकता के घरेलू उपचार में शामिल हैं. यह हाइपर वर्णित त्वचा के लक्षणों से छुटकारा पाने में मदद करती हैं. इसके अलावा, यह त्वचा को संक्रमण से दूर रखती हैं.

इस्तेमाल का तरीका

दूध के 10 चम्मच और हल्दी पाउडर के पांच चम्मच मिश्रण द्वारा एक पेस्ट तैयार करें.
हल्दी पाउडर के एक चम्मच के लिए नींबू का रस मिलाएं.
इसे प्रभावित त्वचा पर लगाएं और 20 मिनट तक लगा रहने दें.
इसे गर्म पाना से धो लें और इस उपचार के बाद सूरज में जाने से बचें.

0 Comments
Share

Ankit Singh

Hi guys! मेरे ब्लॉग डेली ट्रेंड्स में आपका स्वागत है, प्रोफेशनली में एक डिजिटल मार्केटर हूँ और हिंदी में ब्लॉग लिखना मुझे पसंद है. स्पोर्ट, एंटरटेनमेंट, टेक्नोलॉजी, न्यूज़ और पॉलिटिक्स मेरे पसंदीदा टॉपिक्स है जिन पर में लिखता हु, आप ऐसे ही मेरे ब्लॉग पड़ते रहे और में लिखता रहूँगा।

Reply your comment

Your email address will not be published. Required fields are marked*

About Us