Select Page

लेजी आई (मंददृष्टि) – lazy eye in hindi

लेजी आई (मंददृष्टि) – lazy eye in hindi

इस लेख में आप जानेंगे मंददृष्टि यानि लेजी आई के बारे में, यह क्या होता है, इसके संकेत, कारण, निदान और इलाज –

लेजी आई क्या होता है – what is lazy eye in hindi

  • लेजी आई के लिए चिकित्सा शब्द एम्ब्लोपिया है.
  • एम्ब्लोपिया तब होता है जब आपका मस्तिष्क अक्सर आपकी एक आंख में खराब दृष्टि के कारण दूसरी आंख का पक्ष लेता है.
  • ऐसा इसलिए क्योंकि आपका दिमाग कमजोर आंख से मिलने वाले सिग्नल को इग्नोर करता है.
  • इस कंडीशन के कारण दृष्टि समस्या और गहराई का पता न लग पाना हो सकता है.
  • जरूरी नहीं कि प्रभावित आंख अलग दिखें, लेकिन यह अलग अलग दिशाओं में भटक सकती है.
  • इसलिए इसे लेजी आई कहा जाता है.
  • अधिकतर मामलों में यह कंडीशन सिर्फ आपकी एक आंख को प्रभावित करती है.
  • लेकिन कुछ परिस्थितियों में आपकी दोनों आंखों का विजन प्रभावित हो सकता है.
  • ध्यान रहें कि लेजी आई की समस्या भेंगापन या आंखों का ठीक से रेखांकित न होना नहीं है.
  • इन कंडीशन को स्ट्रैबिस्मस कहा जाता है. 
  • हालांकि, स्ट्रैबिस्मस से एम्ब्लोपिया हो सकता है. 
  • यदि एम्ब्लोपिया अनुपचारित हो जाता है, तो दृष्टि का अस्थायी या स्थायी नुकसान हो सकता है. 
  • इसमें गहराई धारणा और 3-डी दृष्टि दोनों का नुकसान शामिल हो सकता है.

लेजी आई के संकेत क्या है – what are the signs of lazy eye in hindi

गंभीर हो जाने तक एम्ब्लोपिया का पता लग पाना बहुत मुश्किल होता है. इसके शुरूआती संकेतों में –

लेजी आई के कारण क्या है – what causes lazy eye in hindi

  • एम्ब्लोपिया आपके मस्तिष्क में विकासात्मक समस्याओं से संबंधित है.
  • इस मामले में, आपके मस्तिष्क के तंत्रिका मार्ग जो दृष्टि को संसाधित करते हैं, वे ठीक से काम नहीं करते हैं.
  • यह शिथिलता तब होती है जब आपकी आँखें समान मात्रा में उपयोग प्राप्त नहीं करती हैं.

कई कंडीशन और कारक आपको एक आंख पर दूसरे से अधिक भरोसा करने के लिए प्रेरित कर सकते हैं. इसमें निम्न शामिल है –

  • भेंगापन बना रहना
  • जेनेटिक्स
  • दोनों आंखों में अलग विजन होना
  • किसी एक आंख में चोट लगना
  • आंखों की सर्जरी
  • स्कार
  • विटामिन ए की कमी (जानें – आंखों के लिए जरूरी विटामिन)
  • मायोपिया
  • ग्लूकोमा
  • आपकी एक पलक का गिरना 

लेजी आई का निदान कैसे होता है – how is lazy eye diagnosed in hindi

  • अधिकतर यह कंडीशन एक आंख में ही होती है.
  • इसके होने पर बच्चे और माता पिता कंडीशन को नोटिस नहीं करते है.
  • बच्चों की भी आंखों की जांच नियमित करवानी चाहिए.
  • आंखों के टेस्ट में विजन की जांच करवाई जाती है.
  • जिसमें चार्ट पर लिखे शब्दों को पढ़ना, दोनों आंखों से एक एक करके.
  • आंखों की मांसपेशी, विजन कितना साफ है आदि की जांच की जाती है.

लेजी आई का इलाज कैसे होता है – how is lazy eye treated in hindi

  • अंतर्निहित आंख की कंडीशन का इलाज करना एम्ब्लोपिया का इलाज करने का सबसे प्रभावी तरीका है.
  • दूसरे शब्दों में, आपको अपनी क्षतिग्रस्त आंख को सामान्य रूप से विकसित करने में मदद करने की आवश्यकता है.
  • प्रारंभिक उपचार के उपाय सरल हैं और इसमें चश्मा, कॉन्टैक्ट लेंस, आई पैच, आई ड्रॉप या दृष्टि चिकित्सा शामिल हो सकते हैं.
  • इससे पहले कि आप उपचार प्राप्त करें, उतना बेहतर परिणाम देखने को मिलता है. 
  • हालाँकि, रिकवरी तब भी संभव हो सकती है, जब आपके बड़े होने पर आपकी एम्ब्लोपिया का निदान और उपचार किया जाता है.

चश्मा

  • एम्ब्लोपिया होने का कारण आपकी पास या दूर की दृष्टि कमजोर होना होता है.
  • इसके लिए जांच कर सही नंबर का चश्मा पहनकर ठीक किया जा सकता है.

आई पैच

  • सही आंख के ऊपर कवर करने वाला पैच पहनने से कमजोर आंख को ठीक करने में मदद मिलती है.
  • इसके लिए एम्ब्लोपिया की गंभीरता के आधार पर डॉक्टर आपको दिन में 1 से 2 घंटे तक पैच पहनने के लिए बोल सकते है.
  • इस पैच की मदद से आपके दिमाग को विजन कंट्रोल एरिया विकसित करने में मदद करता है.

आई ड्रॉप्स

  • हेल्दी आंख में दिन के दौरान एक या दो बार ड्रॉप्स की जरूरत होती है.
  • आई पैच की ही तरह यह आपकी कमजोर आंख को देखने के लिए मदद करता है.

सर्जरी

  • भेंगापन आदि हो जाने पर आंखों की मांसपेशियों को सर्जरी की जरूरत पड़ सकती है.

अंत में

कुछ मामलों में एम्ब्लोपिया अंधापन या दृष्टि को नुकसान पहुंचा सकता है. जबकि शुरूआती स्टेज में पता लग जाने पर इसका इलाज आसानी से किया जा सकता है. इसके लक्षण होने पर डॉक्टर से बात कर जांच करवाई जानी चाहिए. (जानें – आंखों की रोशनी बढ़ाने के घरेलू उपाय)