Select Page

एलोवेरा जूस के फायदे, साइड इफेक्ट और इंटरैक्शन

एलोवेरा जूस के फायदे, साइड इफेक्ट और इंटरैक्शन

एलोवेरा जूस क्या है – What is aloe vera juice in hindi

ट्रॉपिकल मौसम में होने वाले इस प्लांट का उपयोग कई सदीयों से मेडिकल प्रयोग में लिया जाता रहा है. एलोवेरा का जूस पतला और लिक्विड होता है जो एलोवेरा के पत्ते से तत्व निकालकर बनाया जाता है.

आमतौर पर इसका उपयोग सनबर्न का इलाज करने के लिए किया जाता है. जबकि एलोवेरा जूस के बेनेफिट्स बहुत सारे होते है.

एलोवेरा का जूस, इसकी पत्तियों को पीस कर बनाया जा सकता है. जिसके बाद कुछ स्टेप्स को फॉलो करके जूस को प्योरिफाई और फिल्टर किया जाता है. हल्के और झेले जाने लायक फ्लेवर वाले इस जूस को स्मूदी और शेक के साथ मिलाकर पिया जा सकता है. 

आज इस लेख में हम आपको बताने वाले है एलोवेरा जूस के हेल्थ बेनेफिट्स –

एलोवेरा जूस के फायदे – aloe vera juice benefits in hindi 

क्षारीयता

शरीर में एसिडिक पीएच का लेवल ज्यादा होना कई रोगों को दावत दे सकता है. ऐसे में बीमारियों का ख़तरा ज्यादा रहता है. ऐसे में एलोवेरा जूस और फ़ूड का उपयोग करने से शरीर का संतुलन बना रहता है. इसके अलावा दूसरे ऑप्शन जैैसे –

  • पत्तेदार सब्जियाँ
  • जड़ वाली सब्जियाँ
  • फलियां
  • नट्स और बीज
  • फल

हाइड्रेशन

  • एलो का प्लांट पानी से पूर्ण होता है, इसका सेवन करने से पानी की कमी जैसी समस्याओं से बचा जा सकता है.
  • खुद को हाइड्रेट रखने के अलावा इससे शरीर डिटॉक्स रहता है और सारे दूषक प्रदार्थ शरीर से निकल जाते है.
  • इसके जूस में बहुत सारे पोषक तत्व मौजूद होते है जिससे शरीर हेल्दी रहता है.
  • एलोवेरा जूस के उपयोग से किडनी और लिवर संबंधी समस्याओं से बचा जा सकता है.
  • भारी एक्सरसाइज करने के बाद हमारे शरीर को हाइड्रेशन की जरूरत पड़ती है ऐसे में एलोवेरा जूस का उपयोग बहुत अच्छी रिकवरी करता है.
  • लैक्टिक एसिड के बनने को बाहर निकालने के लिए हमारे शरीर को ज्यादा फ्लूड की जरूरत होती है जो हमें एलोवेरा से मिलते है.
  • नारियल पानी की तुलना में एलोवेरा जूस आज़माया जा सकता है.

लिवर फंक्शन

  • शरीर को डिटॉक्सिफाई करने के लिए जरूरी है कि हमारा लिवर फंक्शन अच्छा हो.
  • अपने लिवर को हेल्दी रखने के लिए एलोवेरा जूस का उपयोग उत्तम माना जाता है.
  • इससे न केवल लिवर फंक्शन अच्छा होता है बल्कि हम खुद को हाइड्रेट भी रख पाते है.
  • इसमें मौजूद तत्व हमारे शरीर में पानी की कमी नही होने देते है.

कब्ज के लिए

  • एलोवेरा जूस पीने से आंतों में पानी की मात्रा बढ़ जाती है जिससे पाचन सहायक हो जाता है.
  • साथ ही इससे शौच के दौरान तकलीफ से बचा जा सकता है.
  • जबकि लंबे समय तक शौच के दौरान टाइट मल होने से बवासीर आदि समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है.
  • अगर आपको अक्सर कब्ज रहती है या अपच है तो आप अपने रोज़ाना के रूटीन में एलो वेरा जूस ले सकते है. 
  • यह हेल्दी बैक्टीरिया को ठीक करने और आंतों को हेल्दी रखने में मदद करता है.

त्वचा के लिए

  • जब हमारे शरीर में पानी की कमी नही होती तो ऐसे में एक्ने या मुँहासों का दिखना बहुत मुश्किल हो जाता है.
  • साथ ही एलोवेरा जूस पीने से स्कीन कंडीशन जैसे सोरायसिस और डर्मिटाइटिस से बचा जा सकता है.
  • एलोवेरा एंटिऑक्सिडेंट और विटामिन का अच्छा सोर्स होता है जिससे स्कीन प्रोटेक्ट करने में मदद मिलती है.
  • एलोवेरा में मौजूद तत्व यूवी रेडिएशन के असर को समाप्त करने और त्वचा की झुर्रियां आदि की समस्या को दूर रखता है.

पोषक तत्वों से पूर्ण

एलोवेरा के जूस में सारे जरूरी पोषक तत्व जैसे शकाहारियों के लिए इकलौता विटामिन बी-12 का सोर्स होता है इसके अलावा एलोवेरा में –

  • विटामिन बी
  • फॉलिक एसिड
  • विटामिन सी
  • कैल्शियम
  • कॉपर
  • जिंक
  • पोटेशियम
  • मैग्नीशियम
  • सेलेनियम
  • सोडियम
  • विटामिन ई
  • मैगनीज़

हार्टबर्न से राहत के लिए

  • एलोवेरा जूस पीने से कलेजे पर जलन जैसी समस्याओं से राहत मिल सकती है.
  • इसमें मौजूद कंपाउंड पेट में एसिड बनने की प्रक्रिया को कंट्रोल में रखते है.
  • इसके अलावा यह गैस्ट्रिक अल्सर से लड़ने और बड़े होने से रोकता है.

पाचन में मददगार

  • इसमें बहुत से एंजाइम होते है जो शुगर और फैट को तोड़ने के साथ -साथ हमारी पाचन क्रिया को सुचारू रखते है.
  • पाचन की समस्या होने पर हमारा डाइजेस्टिव सिस्टम ठीक से भोजन में से जरूरी तत्वों को निकाल नही पाता है जबकि एलोवेरा का उपयोग इस समस्या को दूर करता है.
  • इसके नियमित उपयोग से पेट और आंतों की जलन जैसी समस्याएं नही होती है.
  • आंते के अन्य रोग जैसे ईर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम और दूसरे इंफ्लामेशन डिसऑर्डर होने पर इसका जूस लाभ देता है.
  • अल्सेरेटिव कोलाइटिस वाले रोगियों में भी एलोवेरा का जूस बहुत फायदा पहुँचाता है.

सुंदरता के लिए

  • फाउंडेशन लगाने से पहले एलोवेरा लगाया जा सकता है.
  • मेकअप हटाने के लिए इसका इस्तेमाल हो सकता है.
  • सर्नबर्न को साफ करने के लिए
  • हल्के मॉस्चराइज़र के रूप में
  • स्काल्प के उपचार मे मदद करता है.

एलोवेरा जूस के साइड इफेक्ट क्या है – What are the side effects of aloe vera juice in hindi

इसके पौधे या पत्ते का कोई साइड इफेक्ट नही होता है और न ही इसके जूस का कोई साइड इफेक्ट होता है. बेहतर नतीजों के लिए घर में खुद पत्तों को जूस आदि बनाकर इस्तेमाल करना चाहिए. जबकि बाज़ार से खरीदे गए प्रोडक्ट की सामग्री आदि पढ़कर खरीदा जाना चाहिए.

दूसरी दवाओं के साथ एलोवेरा जूस के इंटरैक्शन –  Drug interactions with aloe vera juice in hindi

  • कुछ खास दवाओं के साथ एलोवेरा का इंटरैक्शन देखने को मिला है. 
  • दवाएं जैसे – साइटोक्रोम P450 3A4 और CYP2D6 का सेवन करने पर एलोवेरा जूस नही लेना चाहिए.
  • इससे साइड इफेक्ट का रिस्क बढ़ सकता है.
  • अगर आप कोई दवा लें रहें है तो अपने डॉक्टर से पूछ कर ही एलोवेरा जूस का सेवन करें.

एलोवेरा जूस में कितनी शुगर होती है – How much sugar is in aloe vera juice in hindi

  • दूसरे जूसो की तुलना में इसके 4 आउंस में कोई शुगर नही होती है. 
  • जबकि इसमें सिर्फ कुछ कैलोरी होती है.
  • अगर आप अपने शुगर के सेवन पर नज़र रखते है तो एलोवेरा जूस आपके लिए एक हेल्दी चॉइस है.