Select Page

कॉड लिवर (फिश) ऑयल के फायदे – cod liver oil benefits in hindi

कॉड लिवर (फिश) ऑयल के फायदे – cod liver oil benefits in hindi

यह फिश ऑयल सप्लीमेंट का प्रकार होता है जो ओमेगा-3 फैटी एसिड में हाई होता है. इसके कई हेल्थ बेनेफिट्स होते है जिसमें इंफ्लामेशन और ब्लड प्रेशर कम करने में मदद शामिल है.

इसमें विटामिन ए और विटामिन डी भी मौजूद होते है जिसके कई हेल्थ बेनेफिट्स होते है. आज इस लेख में हम आपको बताने वाले है वैज्ञानिक रूप से बताए गए कॉड लिवर ऑयल के फायदे – 

कॉड लिवर ऑयल के फायदे – cod liver oil benefits in hindi

हार्ट रोग का खतरा कम करने

  • हर साल दुनियाभर में बहुत सारे लोगों का मौत हार्ट से संबंधित रोगों के कारण होती है.
  • रेगुलर ओमेगा-3 फैटी एसिड के सेवन से हार्ट रोग का रिस्क कम हो जाता है.

हमारे हार्ट के लिए कॉड लिवर ऑयल के कई बेनेफिट्स होते है –

हाई विटामिन ए और डी

  • अधिकतर कॉड लिवर ऑयल को अटलांटिक कॉड से निकाला जाता है.
  • इसका इस्तेमाल कई शताब्दियों से जोड़े में दर्द और रिकेट्स के इलाज में किया जाता रहा है.
  • कॉड लिवर ऑयल, फिश ऑयल सप्लीमेंट होता है जो रेगुलर फिश ऑयल से अलग होता है.
  • रेगुलर फिश ऑयल को मछलियों के टिश्यू से निकाला जाता है जबकि कॉड लिवर ऑयल को कॉड के लिवर से निकाला जाता है.
  • कॉड का लिवर फैट-सॉल्यूबल विटामिन जैसे विटामिन ए और डी में पूर्ण होते है.

एक चम्मच 5 एमएल कॉड लिवर ऑयल में –

  • कैलोरी
  • फैट
  • ओमेगा-3 फैटी एसिड
  • मोनोसैचुरेटिड फैट
  • सैचुरेटिड फैट
  • पॉलीअनसैचुरेटिड फैट
  • विटामिन ए
  • विटामिन डी

इसके अलावा विटामिन ए हमारी आंखों, दिमाग के फंक्शन और स्कीन के लिए अच्छा होता है. जबकि विटामिन डी का उपयोग हड्डियों के स्वास्थ के लिए जरूरी है.

घबराहट और डिप्रेशन के लक्षण कम करने

  • पूरे विश्व में बहुत सारे लोग घबराहट और अवसाद की समस्या से परेशान है. 
  • अध्ययनों के अनुसार, क्रोनिक इंफ्लामेसन और घबराहट, अवसाद जैसी समस्याएं एक दूसरे से लिंक है.
  • काफी सारे अध्ययनों का मानना है कि इंफ्लामेशन कम करने से घबराहट और अवसाद के लक्षणों को कम किया जा सकता है.
  • कुछ अध्ययनों का मानना है कि कॉड लिवर ऑयल में मौजूद विटामिन डी के कारण मूड बेहतर करने में मदद मिलती है.

इंफ्लामेशन कम करने

  • यह नैचुरल प्रोसेस होता है जो हमारे शरीर को इंफेक्शन से लड़ने और घाव भरने में मदद करता है.
  • कुछ मामलों में इंफ्लामेशन कम लेवल पर लंबे समय तक चल सकता है.
  • इसे क्रोनिक इंफ्लामेशन कहा जाता है जो हानिकारक होने के अलावा हाई ब्लड प्रेशर और हार्ट रोग का रिस्क बढ़ा देते है.
  • कॉड लिवर में मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड क्रोनिक इंफ्लामेशन को कम करते है.
  • इसमें विटामिन ए और डी जैसे ताकतवर एंटीऑक्सीडेंट होते है जो हानिकारक फ्री रेडिकल्स को दूर रखते है.

पेट और आंतों के लिए अच्छा

  • कॉड लिवर ऑयल के उपयोग से पेट या आंतों के अल्सर की समस्या में राहत मिलती है.
  • साथ ही इससे मतली, पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द और असहजता में आराम मिलता है.
  • अल्सर के कारण बैक्टीरियल इंफेक्शन, स्मोकिंग, दवाओं का ज्यादा उपयोग या पेट में ज्यादा एसिड बनना हो सकता है.

हड्डियों की हेल्थ के लिए

  • आयु बढ़ने के साथ हड्डियों के स्वास्थ को बनाए रखना बहुत जरूरी है.
  • 30 वर्ष  की आयु के बाद हमारा शरीर हड्डियों के घनत्व को खोना शुरू कर देता है.
  • जिस कारण रजनोवृत्ति के बाद महिलाओं को फ्रेक्चर आदि का खतरा बढ़ जाता है.
  • कॉड लिवर ऑयल विटामिन डी का अच्छा सोर्स माना जाता है जो आयु से संबंधित हड्डियों की समस्या में लाभ देता है.

गठिया के लक्षण कम करने

  • ऑटोइम्यून रोग रूमेटोइड अर्थेराइटिस जिसमें जॉइंट में दर्द होता है.
  • गठिया को कोई इलाज नही होता है लेकिन अध्ययनों के अनुसार कॉड लिवर ऑयल से जोड़ों में दर्द को कम किया जा सकता है.
  • साथ ही इससे जोड़े में अकड़न और सूजन को भी कम किया जा सकता है.
  • कॉड लिवर में मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड सूजन कम करके नुकसान से बचाव करता है.

डाइट में शामिल करना

  • इसे डाइट में शामिल करना बहुत आसान है.
  • कॉड लिवर ऑयल कैप्सूल और लिक्विड फॉर्म में उपलब्ध है.
  • इसे लेने के लिए कोई खासा गाइड लाइन नही है इसकी 1 या 2 चम्मच डोज़ काफी होती है.
  • प्रेगनेंट महिलाओं को इसके उपयोग से पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए.   

आंखों की हेल्थ के लिए

  • आज के समय में आंखों की रोशनी कम होने की समस्या से पूरी दुनिया के बहुत सारे लोग परेशान है.
  • दृष्टि की समस्या के कई कारण है लेकिन इसके दो अहम कारण ग्लूकोमा और आयु संबंधित मैकुलर डिजनरेशन है.
  • इन दोनों रोगों के कारण क्रोनिक इंफ्लामेशन हो सकती है.
  • अध्ययनों में देखा गया है कि ओमेगा-3 फैटी एसिड के उपयोग से रिस्क फैक्टर जैसे ग्लूकोमा, आंखों पर प्रेशर और नर्व डैमेज हो सकते है.
  • इसके अलावा ग्लूकोमा के रिस्क को कम करने के लिए हाई विटामिन ए की डाइट लेनी चाहिए.
  • हालांकि विटामिन ए हमारे आंखों के स्वास्थ के लिए जरूरी है लेकिन इसकी हाई डोज़ नही लेनी चाहिए क्योंकि इससे विटामिन ए टॉक्सिसीटी का ख़तरा बढ़ जाता है.

अंत में

कॉड लिवर ऑयल के फायदे बहुत सारे है यह एक पोषक तत्वों से पूर्ण फिश ऑयल सप्लीमेंट है. जिसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड के गुणों के अलावा विटामिन ए और विटामिन डी के गुण होते है.

इसके सेवन से मजबूत हड्डियाँ, इंफ्लामेशन कम कम करने और गठिया के लक्षणों में आराम मिलता है.