आज इस लेख में हम आपको बताने वाले है टाइप 1 और टाइप 2 शुगर में क्या खाना चाहिए –

शुगर वाले रोगियों के लिए फ़ूड्स – food for diabetic patient in hindi

नट्स

सभी प्रकार के नट्स स्वादिष्ट और पोषक तत्वों में पूर्ण होते है. इनमें प्रति 28 ग्राम में कार्ब्स –

  • बादाम – 2.6 ग्राम
  • काजू – 7.7 ग्राम
  • अखरोट – 2 ग्राम
  • पीस्ता – 5 ग्राम
  • हेज़लनट्स – 2 ग्राम
  • ब्राजील नट्स – 1.4 ग्राम
  • मूँगफली – 1.2 ग्राम

ओमेगा-3 फैटी एसिड

  • ओमेगा-3 फैटी एसिड के कई हेल्थ बेनेफिट्स होते है.
  • मधुमेह के साथ हार्ट रोग और स्ट्रोक के खतरे वाले रोगियों के लिए इसका नियमित सेवन जरूरी होता है.
  • ओमेगा-3 फैटी एसिड में मौजूद डीएचए और ईपीए की मदद से इंफ्लामेशन कम होती है.
  • साथ ही भोजन खाने के बाद आर्टरीज़ का फंक्शन बेहतर होता है.
  • एक अध्ययन के अनुसार नियमित रूप से फैटी फिश खाने से हार्ट फेलियर समेत हार्ट रोग का रिस्क कम होता है.
  • मांसाहारियों के लिए ओमेगा-3 का सोर्स साल्मन होती है जो प्रोटीन का अच्छा सोर्स होने के अलावा मेटाबॉलिक रेट बेहतर करती है.
  • जबकि शाकाहारियों के लिए अलसी के बीज ओमेगा-3 का अच्छा सोर्स होते है जिसमें प्रोटीन समेत कई तत्व होते है.

दालचीनी

  • यह एंटीऑक्सीडेंट गुणों से पूर्ण होती है.
  • कई अध्ययनों के अनुसार, दालचीनी के उपयोग से ब्लड शुगर लेवल कम करने और इंसुलिन संवेदनशीलता बेहतर होती है.
  • कुछ अध्ययनों में देखने को मिला है कि दालचीनी टाइप 1 डायबिटीज़ वाले रोगियों में इसका शुगर या कोलेस्ट्रोल लेवल पर कोई प्रभाव नही दिखा है.

हरी पत्तेदार सब्ज़ियाँ

  • हरी पत्तेदार सब्ज़ियाँ पोषक तत्वों में पूर्ण होने के साथ साथ कैलोरी में कम होती है.
  • साथ ही यह ब्लड शुगर लेवल बढ़ाने वाले पाचन वाले कार्ब्स में कम होती है.
  • पालक, काले और अन्य हरी पत्तेदार सब्जियाँ कई विटामिन और मिनरल का अच्छा सोर्स होने के साथ साथ विटामिन सी से पूर्ण होती है.
  • एक अध्ययन के अनुसार विटामिन सी लेने से इंफ्लामेटरी मार्कर, हाई ब्लड प्रेशर या टाइप 2 डायबिटीज़ वाले लोगों में फास्टिंग ब्लड शुगर लेवल को कम करता है.
  • हरी पत्तेदार सब्जियाँ एंटीऑक्सीडेंट का अच्छा सोर्स भी होती है.
  • इसके अलावा डायबिटीज़ के कारण होने वाली आँखों की समस्याओं में एंटीऑक्सीडेंट काफी लाभ देते है. 

हल्दी

  • भारतीय रसोई में इस्तेमाल होने वाले मसालों में से एक हल्दी के कई हेल्थ बेनेफिट्स होते है.
  • इसमें मौजूद करकुमिन इंफ्लामेशन कम करने, ब्लड शुगर लेवल कम करने के साथ हार्ट रोग के रिस्क को कम करते है.
  • इसके अलावा यह मधुमेह वाले रोगियों की किडनी पर भी सकारात्मक प्रभाव डालती है.

चिया सीड्स

  • मधुमेह वाले रोगियों के लिए यह बहुत ही लाभदायक होता है.
  • यह हाई फाइबर के साथ साथ लो कार्ब्स वाले होते है.
  • चिया सीड्स में मौजूद फाइबर ब्लड शुगर लेवल को लो करने में मदद करते है.
  • साथ ही यह आपको हेल्दी वजन रखने में मदद करते है.
  • फाइबर की मदद से आपको भूख कम लगती है और आप कम कैलोरी खाते है.

स्ट्रॉबैरी

  • पोषक तत्वों में पूर्ण फलों में से एक स्ट्राबैरी होती है.
  • यह हाई एंटीऑक्सीडेंट से पूर्ण होती है जिस कारण इसका रंग लाल हो जाता है.
  • इनकी मदद से भोजन के बाद इंसुलिन लेवल और कोलेस्ट्रोल कम होता है.
  • साथ ही ब्लड शुगर लेवल बेहतर होने के अलावा डायबिटीज़ के कारण हार्ट रोग का खतरा कम होता है.

ग्रीक योगार्ट

  • आम दही की तुलना में यह अधिक गाढ़ी होती है.
  • डायबिटीज़ वाले रोगियों को यह काफी लाभ देती है.
  • इसके प्रोबायोटिक्स तत्व ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने के साथ साथ हार्ट रोग का रिस्क कम करते है.
  • अध्ययनों के अनुसार दही और अन्य डेयरी प्रोडक्ट वजन घटाने में मदद करते है.
  • साथ ही टाइप 2 डायबिटीज़ वाले रोगियों में शरीर की संरचना को बेहतर करते है.
  • इसके अलावा यह हाई कैल्शियम की मात्रा से पूर्ण होती है.

ब्रोकली

  • आधा कप ब्रोकली की सब्जी में 27 कैलोरी और 3 ग्राम पाचन वाली कार्ब्स होती है.
  • साथ ही इसमें जरूरी पोषक तत्वों के साथ विटामिन सी और मैग्नीशियम होता है.
  • अध्ययन के अनुसार डायबिटीज़ वाले रोगियो में ब्रोकली इंसुलिन लेवल को कम करने और सेल्स को फ्री रेडिकल्स से बचाती है.
  • साथ ही यह हमारी आँखो के लिए भी अच्छी होती है.

कच्चा ऑलिव ऑयल

  • हमारे हार्ट के लिए यह बहुत अच्छा होता है.
  • इसमें मौजूद मोनोसैचुरेटिड फैट ट्राइग्लिसराइड और एचडीएल बेहतर करते है जिससे टाइप 2 डायबिचीज़ के लेवल कम हो जाते है.
  • ऑलिव ऑयल के हेल्थ बेनेफिट्स काफी सारे होते है जैसे हार्ट रोग के रिस्क को कम करना, इंफ्लामेशन कम करने ब्लड वेसल्स के सेल्स को प्रोटेक्ट करना आदि.
  • साथ ही एलडीएल कोलेस्ट्रोल को ऑक्सीडेशन से बचाने के साथ ब्लड प्रेशर कम करता है.

लहसुन

  • इस हर्ब के कई हेल्थ बेनेफिट्स होते है.
  • कई अध्ययनों के अनुसार टाइप 2 डायबिटीज़ वाले रोगियों में यह इंफ्लामेशन कम करने, ब्लड शुगर और खराब कोलेस्ट्रोल के लेवल को कम करती है.
  • साथ ही यह ब्लड प्रेशर के लेवल को कम करने में मदद करती है.

फ्लैक्स सीड

  • अलसी के बीज काफी हेल्दी होते है.
  • यह ब्लड शुगर लेवल को कम करने और हार्ट रोग के रिस्क को कम करते है.
  • इसमें मौजूद फाइबर पाचन तंत्र को बेहतर करने, इंसुलिन संवेदनशीलता को बढ़ाने और पेट को भरा हुआ महूसस कराते है.

सेब का सिरका

  • यह इंसुलिन संवेदनशीलता को बेहतर करने और फास्टिंग शुगर लेवल को कम करने में मदद करता है.
  • साथ ही इसके सेवन से भूख कम लगती है.
  • इसे डाइट में लेने के लिए 1 गिलास पानी में 1 चम्मच सेब का सिरका मिलाकर लिया जा सकता है.
  • जिसके कुछ दिनों बाद 2 चम्मच किया जा सकता है.
  • ध्यान रहें कि कभी भी इसको सीधे न पीएं बल्कि पानी आदि तरल के साथ लिया जाना चाहिए.

अंत में

डायबिटीज़ या मधुमेह होना किसी के लिए भी जीवन भर की समस्या होता है. जिसके बाद इसे सिर्फ कंट्रोल में रखकर ही डायबिटीज़ से बचाव किया जा सकता है.

इसमें मुख्य उद्देश्य ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल रखना होता है. जिसके लिए एक्सरसाइज़ के साथ साथ डायबिटीज़ रोगियों के लिए बेस्ट फ़ूड्स खाना जरूरी होता है.

अनियत्रित डायबिटीज़ के कारण अन्य गंभीर रोगों का खतरा बढ़ जाता है. हालांकि, ब्लड शुगर लेवल कम करने, इंसुलिन संवेदनशीलता बेहतर करने और इंफ्लामेशन को नियंत्रित करके इस तरह के खतरे वाले लक्षणों को विकसित होने से रोका जा सकता है.

References –

Share: