Select Page

सफेद बालों के घरेलू उपचार – home remedies for grey hair in hindi

सफेद बालों के घरेलू उपचार – home remedies for grey hair in hindi

बालों का नैचुरल साईकल होता है जिसमें हमारे बाल डेड होने के बाद फिर से रिजनरेट होते है. जैसे हमारी आयु बढ़ने लगती है वैसे ही हेयर फॉलिकल्स की आयु भी बढ़ती है जिससे इनमें रंग का विकास कम होता है.

इसके अलावा जेनेटिक्स को बालों के सफेद होने के कारणों में से एक माना जाता है. 35 वर्ष की आयु के आस-पास हमारे हेयर फॉलिकल्स की एजिंग के कारण नैचुरल प्रक्रिया के चलते बालोंं का झड़ना, सफेद या ग्रे बालों का विकास होता है.

कुछ लोग सफेद या ग्रे बालों को परिपक्वता और समझदारी की निशानी मानते है. वहीं काफी सारे लोगों का मानना है कि वह इसे अधिक आयु के दिखने लगते है और बालों के सफेद होने को रोक कर युवा दिखना पसंद करते है.

आज इस लेख में हम आपको बताने वाले है सफेद बालों के लिए घरेलू इलाज जिनकी मदद से आप अपने बालों को फिर से काला करके युवा दिख पाएंगे –

सफेद बालों का घरेलू इलाज –  home remedies for grey hair in hindi

अगर आप चिंतित है कि आपके सिर पर कुछ सफेद या ग्रे बाल है तो कुछ लाइफस्टाइल बदलावों के साथ आप फिर से बालों को काला बना सकते है.

विटामिन की पूर्ण मात्रा लें

बालों को हेल्दी रखने के लिए जरूरी विटामिन –

मिनरल की पूर्ण मात्रा लें

हेयर ग्रोथ और रिपेयर के लिए अहम मिनरल –

  • जिंक
  • आयरन
  • कॉपर
  • सेलेनियम
  • मैग्नीशियम

बालों को नुकसान न पहुँचाए

बालों को नुकसान पहुँचाने वाले कारण

  • ब्लीचिंग
  • गीले बालों पर कंगी की जगह हेयर ब्रश का इस्तेमाल करें
  • हेयर ड्रायर या कर्ल करने वाली आयरन से ज्यादा हीट देने से बालों को नुकसान होता है
  • खराब साबुन और शैम्पू का इस्तेमाल
  • बालों को ज्यादा धोना

सफेद बालों के घरेलू उपचार – white hair home remedies in hindi

प्राकृतिक रूप से सफेद बालों के लिए निम्न उपचार किए जा सकते है –

  • नारियल तेल – रात को सोने से पहले, नारियल तेल से बालों और खोपड़ी (स्काल्प) पर मसाज करनी चाहिए. जिसके बाद अगली सुबह बालों को धो लें.
  • आमला – रोजाना एक कप आमला का जूस पिया जाना चाहिए या आमला के तेल से हफ्ते में एक बार अपने सिर पर मसाज की जा सकती है.
  • अदरक – रोजाना एक चम्मच शहद में अदरक का रस मिलाकर लेना चाहिए.
  • शीरा – एक दिना छोड़कर, एक चम्मच शीरा (गन्ने के रस से बना) पीने से बालों के सफेद होने की प्रक्रिया फिर उल्टी हो जाती है जिससे बाल काले होने लगते है.
  • घी – हफ्ते में दो बार शुद्ध घी से अपने बाल या खोपड़ी की इससे मसाज करें.
  • काले तिल के बीज – हफ्ते में दो या तीन बार एक चम्मच तिल के बीज खाने से बालों के सफेद होने की प्रक्रिया धीमी हो जाती है.
  • रामदाना रस – बालों पर हफ्ते में 3 बार लगाने से लाभ मिलता है.
  • गेहूं के जावरे का रस – रोजाना इसका 28 एमएल ताजा रस पीने या अपने भोजन आदि में एक चम्मच रस को मिलाने से लाभ मिलता है.
  • गाजर का जूस – दिन में कम से कम 1 कप गाजर का रस पीने से बहुत लाभ मिलता है.
  • प्याज का रस – इसे बालों पर हफ्ते में दो बार 30 मिनट तक लगाकर शैम्पू करने से लाभ मिलता है.
  • कर्री पत्ता – ½  कप दही और ¼ कप कर्री पत्ता लेकर पेस्ट तैयार करें. जिसे खोपड़ी पर 30 मिनट तक लगा रहने दें और उसके बाद धो लें. इसे हफ्ते में दो या तीन बार कर सकते है.
  • बादाम तेल – नींबू रस, आमला रस और बादम तेल का बराबर मात्रा में मिलाएं. इससे सिर और खोपड़ी पर मसाज करें. इसे दिन में 2 बार और तीन महीने तक करें.
  • अश्वगंधा – भोजन के साथ अश्वगंधा सप्लीमेंट लेने से काफी सारे स्वास्थ समस्याओं में लाभ मिलता है.

सफेद बालों को काला करने के उपाय – Home Remedies to Turn White Hair Black without chemical dyes in hindi

नैचुरल हेयर डाई

आप काफी सारी हर्ब्स की मदद से अपने लिए खुद हर्ब बना सकते है. हालांकि यह बाजार में मिलने वाली केमिकल डाई जितनी स्ट्रोंग नही होती हैै लेकिन एक से अधिक बार इसके प्रोसेस को करके लाभ उठाया जा सकता है.

  • सुनहरे बालों के लिए – कैमोमाइल चाय, नींबू के छीलके, गेंदा फूल.
  • लाल बाल – गुलाब के पेटल, गाजर का जूस, बीट जूस.
  • ब्राउन बालों के लिए – कॉफी, दालचीनी
  • काले बालों के लिए – काले अखरोट, काली चाय, बिच्छू बूटी.

बालों को डाई करने के लिए नैचुरल कॉस्मेटिक जैसे –

तोरई

  • तोरई को नारियल तेल में करीब चार घंटो तक उबालें. जब तक की वह काली न पड़ जाए.
  • ठंडी हो जाने पर इसको छोटी मात्रा में अपनी खोपड़ी और बालों पर मसाज करें.
  • 45 मिनट बाद बालों को धो लें.
  • इस प्रक्रिया को हफ्ते में 2 से 3 बार रिपीट करें.

हीना

  • काली चाय या कॉफी के साथ हीना पाउडर को एक कप में मिला लें.
  • पेस्ट बनाने के लिए इसे दही के साथ मिलाएं.
  • इसे बनाने के सब कुछ मिक्स करने के बाद 6 घंटों के लिए कवर करके रख दें.
  • जिसके बाद इसमें 2 चम्मच कच्चा ऑलिव ऑयल मिलाए और अपने सिर पर लगाए.
  • इसे 1 से 3 घंटों के बाद धो लें.

भृंगराज

  • धीमी आंच पर छोटे पैन में 1 चम्मच भृंगराज तेल डाले.
  • जिसके बाद 2 चम्मच नारियल का तेल डालें.
  • इसके हल्के गर्म मिक्सचर को बालों और खोपड़ी पर रब करें.
  • एक घंटे बाद इसे धो लें.
  • इस प्रक्रियो को हफ्ते में 2 से 3 बार कर सकते है.

काली मिर्च

  • 1 चम्मच ताजा काली मिर्च 
  • 1 चम्मच ताजा नींबू रस को ½ कप दही में मिलाएं.
  • अपने बालों पर इस मिक्सचर से मसाज करें.
  • इसे 1 घंटे तक लगा रहने दें और फिर धो लें.
  • इस प्रक्रिया को हफ्ते में 3 बार दोहराए.

अंत में

हमारी आयु बढ़ने के साथ हमारे फॉलिकल्स की आयु भी बढ़ती है. जिसके साथ हमारे हेयर फॉलिकल्स कम रंग बनाते है. जिससे कम मेलेनिन और पिगमेंटेशन होती है और बाल सफेद या ग्रे दिखाई देते है.

अगर आपको लगता है कि आपको बालों को कलर करने की जरूरत है तो ऊपर आपको कई तरीके बताएं गए है जिनकी मदद से आप बालों को प्राकृतिक रूप से कलर कर सकते हैं, डैंड्रफ से छुटकारा, बालों की ग्रोथ में मदद करते है. 

अगर आपको बालों की कोई अन्य समस्या या सवाल है तो पहले डॉक्टर से सलाह लेकर किसी भी उपचार को लेना चाहिए.