Select Page

ऑयली स्किन के घरेलू उपाय – home remedies for oily skin in hindi

ऑयली स्किन के घरेलू उपाय – home remedies for oily skin in hindi

ऑयली स्किन कुछ और नहीं बल्कि सिबेयसिस ग्लैंड में सेबम के अधिक प्रोडक्शन का परिणाम होता है. यह ग्लैंड स्किन की परत के नीचे होते है.

फैट से बना सेबम एक ऑयली पदार्थ होता है. सेबम का काम हमारी त्वचा का बचाव, स्किन को मॉइस्चराइज़ और हेल्दी व शाइनी रखने में मदद करता है.

सेबम के बहुत अधिक होने के कारण ऑयली स्किन हो जाती है जिसके चलते एक्ने और छिद्रो का रूकना होता है. इसके अलावा हार्मोन बदलाव, जेनेटिक्स, तनाव को सेबम प्रोडक्शन से जोड़ा जाता है. (जानें – चेहरे पर चमक लाने के घरेलू उपाय)

एक्ने और ऑयली स्किन को मैनेज करना चुनौतीपूर्ण हो सकता है. हालांकि इन्हें बिना किसी डॉक्टर द्वारा लिखी गई दवा या क्रिम को इस्तेमाल किए बिना भी कम किया जा सकता है.

आज इस लेख में हम आपको बताने वाले है ऐसे ही कुछ ऑयली स्किन के लिए घरेलू उपाय –

ऑयली स्किन के घरेलू उपाय – home remedies for oily skin in hindi

टमाटर

  • इसे एक्ने के सबसे आम घरेलू उपचार के रूप में जाना जाता है.
  • इसमें मौजूद तत्व स्किन से फालतू ऑयल को सोखने और छिद्रो को साफ करने में मदद करते है.

इस्तेमाल करने के लिए

  • 1 चम्मच चीनी में 1 टमाटर का पल्प मिलाए.
  • इसे स्किन पर सर्कुलर मोशन में लगाए.
  • इस मास्क को 5 मिनट तक लगा रहने दें.
  • जिसके बाद गुनगुने पानी से इसे धो लें.

चेहरे को धोए

  • यह स्पष्ट प्रतीत होता है, लेकिन ऑयली स्किन वाले कई लोग प्रतिदिन अपना चेहरा नहीं धोते हैं.
  • यदि आपकी स्किन ऑयली है, तो आपको दिन में दो बार अपना चेहरा धोना चाहिए.
  • कठोर साबुन या डिटर्जेंट से बचें. इसके बजाय ग्लिसरीन साबुन जैसे सौम्य साबुन का प्रयोग करें. (जानें – चेहेर का रंग साफ कैसे करें)

जोजोबा ऑयल

  • अगर ऑयली त्वचा पर तेल लगाने का विचार उल्टा लगता है, तो जोजोबा तेल ऑयली त्वचा, मुँहासे और अन्य त्वचा समस्याओं के इलाज के लिए एक लोक उपचार है.
  • हालांकि इस बात को साबित करने के लिए कोई वैज्ञानिक साक्ष्य नहीं है.
  • एक अध्ययन में देखा गया है कि जोजोबा ऑयल का मास्क हफ्ते में 2 से 3 बार लगाने से हल्के एक्ने कम होते है और स्किन बेहतर होती है.

ओट्मील

  • यह इंफ्लेमड स्किन को शांत करने और अतिरिक्त तेल को सोखने में मदद करता है.
  • साथ ही यह डैड स्किन के निकालने में मदद करता है.
  • चेहरे के मास्क में उपयोग किए जाने पर इसे दही, शहद या मैश्ड केला, सेब या पपीता के साथ उपयोग किया जा सकता है.

इस्तेमाल के लिए

  • ½ कप ओट्स को गर्म पानी में मिलाकर पेस्ट बना लें.
  • 1 चम्मच शहद डालें.
  • इस मिक्सचर से चेहरे पर 3 मिनट तक मसाज करें.
  • सूख जाने पर गुनगुने पानी से धो लें.
  • इसके अलावा मिक्सचर को चेहरे पर लगाकर 10 से 15 मिनट के लिए छोड़ दें.
  • सूख जाने पर गुनगुने पानी से धो लें.

ब्‍लोटिंग पेपर

  • ये पतले, छोटे कागज आपके सिबेसियस ग्लैंड को ओवर ड्राइव में जाने से नहीं रोकते हैं. 
  • लेकिन यह आपको शाइनी, ग्रीसी त्वचा को कम करने में मदद करने के लिए आपके चेहरे से अतिरिक्त तेल को सोख लेंगे.
  • ब्लोटिंग पेपर मंहगे नहीं होते है इसलिए पूरे दिन के दौरान इनका उपयोग किया जा सकता है.

बादाम

  • यह न केवल स्किन से पपड़ी निकालना बल्कि स्किन से ऑयल और अशुद्धता को निकालता है.

इस्तेमाल करने के लिए

  • बादाम को इतना पीसे कि 3 चम्मच हो जाएं.
  • 2 चम्मच शहद मिलाए.
  • इसे चेहरे पर प्यास से लगाए.
  • सूख जाने पर गुनगुने पानी से धो लें.
  • इसके अलावा बादाम का फेस मास्क भी इस्तेमाल कर सकते है.
  • जिेसे चेहरे पर 10 से 15 मिनट तक लगा रहने दें.

शहद

  • शहद प्रकृति के सबसे सम्मानित त्वचा उपचारों में से एक है.
  • इसकी जीवाणुरोधी और एंटीसेप्टिक क्षमताएं ऑयली और मुँहासे-प्रवण त्वचा को फायदा पहुंचा सकती है.
  • शहद भी एक प्राकृतिक नमी है, इसलिए यह त्वचा को नम रखने में मदद करता है. 
  • लेकिन ऑयली स्किन के मामलों में ऐसा नहीं होता है.
  • इसका कारण इसमें मौजूद तत्व बिना इसे रिप्लेस करें स्किन से नमी को निकाल देते है.

एक्ने और ऑयली स्किन पर शहदा का इस्तेमाल करने के लिए –

  • इसकी लेयर को चेहरे की स्किन पर फैला दें.
  • इसके बाद गुनगुने पानी से धो लें.

एलोवेरा

  • इसे जले और अन्य स्किन कंडीशन के इलाज में किया जाता है.
  • काफी सारे लोग एलोवेरा का इलाज करने के लिए ऑयली स्किन को उपयोग करते है.

इस्तेमाल करने के लिए

  • रात को सोने से पहले चेहरे पर पतली लेयर को लगा लें और अगली सुबह तक लगी रहने दें.
  • संवेदनशील त्वचा पर एलोवेरा को एलर्जिक रिएक्शन के लिए जाना जाता है.
  • अगर आपने एलोवेरा पहले से इस्तेमाल नहीं किया है तो इसे फोरआर्म पर लगाकर देख लें.
  • 24 से 48 घंटे तक रिएक्शन न होने का मतलब यह सुरक्षित है. (जानें – चेहरे पर सफेद धब्बे होने के कारण)

कॉस्मेटिक क्ले

  • इनका इस्तेमाल स्किन ऑयल को खींचने के लिए किया जाता है.
  • एक्ने और ऑयली स्किन के लिए फ्रैंच ग्रीन क्ले का उपयोग काफी लोकप्रिय है.

इस्तेमाल करने के लिए –

  • फिल्टर का पानी या गुलाब जल में एक चम्मच क्ले डाल लें.
  • इस मिक्सचर को चेहरे पर लगाए और सूख जाने तक रहने दें.
  • इसके बाद हल्के गुनगुने पानी से इसे धो लें. (जानें – स्किन को टाइट कैसे करें)

ऑयली स्किन से बचाव

  • जब तैलीय त्वचा आनुवांशिकी या हार्मोन के कारण होती है, तो इसे रोकना कठिन होता है. 
  • लगातार त्वचा की देखभाल करने और अनहेल्दी फ़ूड्स जैसे तले हुए फ़ूड्स, हाई शुगर खाद्य और प्रोसेस्ड फ़ूड्स से बचने में मदद मिल सकती है.
  • ऑयली त्वचा के प्रभावों को ढंकने के लिए भारी सौंदर्य प्रसाधनों का उपयोग करना लुभावना है, लेकिन इससे स्थिति और भी खराब हो सकती है. 
  • ऑयली स्किन होने पर मेकअप, फाउंडेशन आदि का उपयोग कम करें.
  • तेल आधारित के बजाय पानी आधारित उत्पादों का चयन करें. उन उत्पादों के लिए देखें, जो नॉनवेडोजेनिक लेबल वाले हैं, जो छिद्रों को बंद करने की कम संभावना रखते हैं. 
  • बहुत से लोग ऑयली त्वचा के लिए घरेलू उपचार का दावा करते हैं. अधिकांश उपायों पर अच्छी तरह से शोध नहीं किया गया है.
  • एक घरेलू उपचार की सफलता आपकी विशिष्ट स्थिति और आपके द्वारा उपयोग किए जाने वाले उत्पादों की गुणवत्ता जैसी कई चीजों पर निर्भर है.

अंत में

कुछ समय के लिए आपके द्वारा उपयोग किए जा रहे उपायों से एलर्जी विकसित करना संभव है. यदि आपकी त्वचा किसी उत्पाद के प्रति संवेदनशील हो जाती है, तो उपयोग बंद कर दें. (जानें – हेल्दी स्किन के लिए फ़ूड्स)

यदि कोई घरेलू उपचार लक्षणों को बिगड़ता है, तो इसका उपयोग करना बंद करें और अपने डॉक्टर या त्वचा विशेषज्ञ से संपर्क करें.

ऑयली स्किन के लक्षण जैसे कि मुंहासे गंभीर होने पर आपको चिकित्सकीय मदद लेनी चाहिए क्योंकि इससे संक्रमण या दाग-धब्बे हो सकते हैं