इस लेख में आप जानेंगे दांतों के दर्द को कम करने के घरेलू उपायों के बारे में –

दांतों में दर्द के घरेलू उपाय – home remedies for toothache

दांतों में दर्द होने पर इसके कारण का पता होना जरूरी होता है. जिसके पता होने पर आप दर्द, सूजन या अन्य लक्षणों से राहत पा सकते है. (जानें – काले दांतों के बारे में)

हल्की इर्रिटेशन को नियमित नमक के पानी से गरारे और ठंडी सिकाई के साथ राहत पाने में मदद मिल सकती है. जबकि गंभीर दांत में दर्द के मामलों में डेंटिस्ट सहायता की जरूरत पड़ सकती है.

लक्षणों के एक या दो दिन से अधिक समय तक रहने पर दंत रोग विशेषज्ञ से सहायता लेनी चाहिए. वह आपको उचित उपचार उपलब्ध कराकर दर्द से राहत पाने में मदद करेंगे.

नमक के पानी से गरारे

  • कई लोगों के लिए दांत में दर्द होने पर नमक के पानी से गरारे प्राथमिक उपायों में से एक हो सकता है.
  • नमक का पानी नैचुरल रूप से इंफेक्शन को दूर करने वाला होता है.
  • साथ ही दांतों में फंसे भोजन के कण को ढीला करने में मदद करता है. (जानें – दांतों को चमकाने के घरेलू उपायों के बारे में)
  • दांतों के दर्द का इलाज करने में नमक का पानी इंफ्लामेशन घटाने और मुंह के ज़ख्मों को ठीक करने में मददगार होता है.

उपयोग करने के लिए

  • एक गिलास गुनगुने पानी में ½ चम्मच नमक डालकर मिक्स कर लें.
  • इसे माउथवॉश के रूप में उपयोग किया जा सकता है.

वैनिला अर्क

  • इसमें अल्कोहोल होता है जो सुन्न करने में मदद करता है.
  • इसे एंटीऑक्सीडेंट माना जाता है जिसमें घाव को भरने वाले गुण होते है.

उपयोग करने के लिए

  • इसका उपयोग करने के लिए वैनिला के अर्क को फिंगर पर लगाए या रूई का फोआ ले सकते है.
  • इसे सीधे रूप से या दिन में कई बार लगाया जा सकता है.

वीटग्रास

  • वीटग्रास में काफी सारे घाव भरने वाले गुण होते है.
  • जबकि इसका सेवन करने पर यह अंदरूनी इंजरी को भरने में भी मदद करता है.
  • यह मुंह की इंफ्लामेशन से राहत देने और इंफेक्शन बचाव करने में मदद करता है.
  • साथ ही यह बैक्टीरिया से लड़ने में भी प्रभावी है.

उपयोग करने के लिए

  • इसका इस्तेमाल करने के लिए सबसे आसान तरीका वीटग्रास जूस को माउथवॉश के रूप में उपयोग करना शामिल है.

लौंग

  • लौंग का उपयोग दांतों के दर्द से राहत देने में किया जाता रहा है.
  • इसका तेल प्रभावी रूप से दर्द को सुन्न करने और इंफ्लामेशन घटाने में मदद करता है.
  • यह नैचुरल एंटीसेप्टिक होती है.

उपयोग करने के लिए

  • लौंग के तेल की थोड़ी से मात्रा को रूई के फोए में लेकर प्रभावित एरिया पर लगाया जा सकता है.
  • इसे आप दूसरे ऑयल के साथ मिलाकर ले सकते है जैसे कैरियर ऑयल, ऑलिव ऑयल या पानी का उपयोग किया जा सकता है.
  • इसे प्रतिदिन कई बार उपयोग किया जा सकता है.
  • लैंग के तेल को पानी के गिलास में कुछ ड्रॉप्स डालकर माउथवॉश बना सकते है.

अमरूद के पत्ते

  • इसमें एंटी इंफ्लामेटरी गुण होते है जो घावों को भरने में प्रभावी होते है.
  • इसकी एंटीमाइक्रोबॉयल एक्टिविटी ओरल केयर में मदद करती है.

उपयोग करने के लिए

  • ताजा अमरूद के पत्तो या इनको माउथवॉश बनाने के लिए पानी में उबाला जा सकता है.

लहसुन

  • इसका उपयोग कई तरह के औषधीय उपयोग के लिए होता आ रहा है.
  • यह न सिर्फ डेंटल प्लेग वाले खतरनाक बैक्टीरिया को मारने बल्कि दर्द से राहत पाने में मदद के रूप में काम करती है.

उपयोग करने के लिए

  • लहसुन की कली का पेस्ट बनाकर उसे प्रभावित एरिया पर लगाया जा सकता है.
  • इसमें आप थोड़ा नमक जोड़ सकते है.
  • इसके अलावा आप ताजा लहसुन की कली को धीरे धीरे चबा सकते है.

पेपरमिंट टी बैग

  • इसका उपयोग मसूड़ों की संवेदनशीलता और दर्द को सुन्न करने में मदद करने के लिए किया जाता रहा है.
  • राहत पाने के लिए, इस्तेमाल किए जा चुके टी बैग को पहले ठंडा होने दें और फिर प्रभावित एरिया पर लगाए.
  • ध्यान रहें कि यह थोड़ा गुनगुना रहे.

उपयोग करने के लिए

  • गुनगुने टी बैग के स्थान पर आप ठंडा भी उपयोग कर सकते है.
  • ठंडे बैग का उपयोग करने के लिए इस्तेमाल किए जा चुके टी बैग को फ्रिज़र में दो मिनट के लिए रखें.
  • इसके बाद प्रभावित दांत पर इसे लगा सकते हैं.

ठंडी सिकाई

  • किसी भी प्रकार के दर्द विशेषकर ट्रामा के कारण दर्द से राहत के लिए ठंडी सिकाई काफी कारगर है.
  • ठंडी सिकाई करने से उस एरिया की ब्लड वैसल्स सिकुड़ जाती है जिससे कम दर्द महसूस होता है.
  • इस कोल्ड से किसी भी प्रकार की सूजन और इंफ्लामेशन कम हो जाती है.

उपयोग करने के लिए

  • इसके लिए आप बर्फ को किसी कपड़े या आईस बैग को प्रभावित एरिया पर 20 मिनट तक लगाकर रखा जा सकता है.
  • इसे कुछ घंटों के बाद रिपीट किया जा सकता है.

अजवाइन के फूल

उपयोग करने के लिए

  • अजवाइन के तेल के कुछ ड्रॉप्स को पानी में डालकर मिला लें.
  • रूई के फोए का उपयोग कर इसे लगाया जा सकता है.
  • ऑयल को पानी के साथ मिलाकर इसे प्रभावित एरिया पर लगाए.
  • इस ऑयल की कुछ ड्रॉप्स को पानी के गिलास में डालकर माउथवॉश के रूप में उपयोग किया जा सकता है.

हाइड्रोजन परॉक्साइड

  • हाइड्रोजन परॉक्साइड से कुल्ला करने से दर्द और इंफ्लामेशन से राहत मिलती है.
  • मुंह में जमा बैक्टीरिया को मारने के अलावा यह मसूड़ों से खून बहना और प्लेग को कम करने में मदद करता है.
  • ध्यान रहें कि आप हाइड्रोजन परॉक्साइड को ठीक से मिला लें.

उपयोग करने के लिए

  • हाइड्रोजन परॉक्साइड को ठीक से किसी दूसरे तरल के साथ मिला लें.
  • जिसके लिए 3 फीसदी हाइड्रोजन परॉक्साइड को बराबर मात्रा में पानी से मिला लें और माउथवॉश के रूप में उपयोग करें.
  • ध्यान रहे कि इसे निगले नहीं.

डेंटिस्ट से कब मिलें

  • दांत में दर्द के गंभीर होने या किसी मेडिकल कंडीशन के कारण परिणाम होने पर डेंटिस्ट से मिलकर सलाह लें.
  • काफी सारे दांतों के दर्द में मेडिकल सहायता की जरूरत पड़ती है.
  • निम्न कंडीशन का अनुभव होने पर डॉक्टर से मिलकर सलाह लें.
  • इन कंडीशन में सूजन, चबाने में दर्द, बुखार, सांस लेने में परेशानी, निगलने में कठिनाई, दर्द जो एक या दो दिन से अधिक रहता है.

References –

 

Share: