Select Page

पनीर के फायदे और नुकसान – cheese benefits and side effects in hindi

पनीर के फायदे और नुकसान – cheese benefits and side effects in hindi

जब पनीर की बात आती है, तो लोग अक्सर कहते हैं कि वे इसे बहुत पसंद करते हैं, चीज़ के बिना नहीं रह सकते हैं. लेकिन कुछ लोग इससे नफरत करते हैं क्योंकि उनका मानना है कि इससे आपका मोटापा और हार्ट रोग का खतरा बढ़ता है. 

साथ ही यह जल्दी से आपके वजन बढ़ने का कारण बन सकता है. लेकिन सच्चाई यह है कि पनीर एक ऐसा फ़ूड है जिसे आप पूर्ण भोजन कह सकते हैं.

आमतौर पर पूर्ण अनाज वाले फ़ूड्स आपके लिए अच्छे होते हैं, जब तक कि आप इनका बहुत अधिक सेवन नहीं करते हैं. 

आज इस लेख में हम आपको बताने वाले है चीज़ का पोषण मूल्य, पनीर खाने के फायदे और नुकसान जो इस प्रकार है –

पोषण तथ्य – cheese nutrition facts in hindi

  • पोषण प्रोफाइल व्यापक रूप से एक से दूसरे प्रकार के चीज़ से भिन्न होते है. उदाहरण के लिए, मोज़ेरेला में 85 कैलोरी और 6.3 ग्राम फैट प्रति 28 ग्राम में होता है. 
  • इसकी तुलना ब्री से करें, जिसमें 95 कैलोरी और 7.9 ग्राम फैट प्रति 28 ग्राम होता है. जबकि चेडर में 113 कैलोरी और 9 ग्राम फैट होता है.
  • अगर आप लो कैलोरी चीज़ (पनीर) को लेना चाहते हैं, तो पार्ट स्किम मोज़ेरेला, स्विस चीज़ और फ़ेटा चीज़ आज़मा सकते है. 
  • यदि सोडियम एक चिंता है, तो स्विस को ट्राई कर सकते है, जिसमें प्रति 28 ग्राम में केवल 20 मिलीग्राम शामिल है.
  • इसके अलावा, आप अपने पसंदीदा चीज़ (पनीर) की कम-सोडियम किस्मों की तलाश कर सकते हैं.

ब्री (प्रति 28 ग्राम)

  • 100 कैलोरी
  • 1 ग्राम कार्ब
  • 9 ग्राम फैट
  • 5 ग्राम प्रोटीन
  • 150 एमजी कैल्शियम
  • 170 एमजी सोडियम

चेडर (प्रति 28 ग्राम)

  • 120 कैलोरी
  • 1 ग्राम कार्ब
  • 10 ग्राम फैट
  • 7 ग्राम प्रोटीन
  • 200 एमजी कैल्शियम
  • 190 एमजी सोडियम

फेटा (प्रति 28 ग्राम)

  • 60 कैलोरी
  • 1 ग्राम कार्ब
  • 4 ग्राम फैट 
  • 5 ग्राम प्रोटीन
  • 60 एमजी कैल्शियम
  • 360 एमजी सोडियम

गौडा (प्रति 28 ग्राम)

  • 110 कैलोरी
  • 1 ग्राम कार्ब
  • 9 ग्राम फैट
  • 7 ग्राम प्रोटीन
  • 200 एमजी कैल्शियम
  • 200 एमजी सोडियम

मोज़ेरेला (प्रति 28 ग्राम)

  • 85 कैलोरी
  • 1 ग्राम कार्ब
  • 6 ग्राम फैट
  • 6 ग्राम प्रोटीन
  • 143 एमजी कैल्शियम
  • 138 एमजी सोडियम

स्विस (प्रति 28 ग्राम)

  • 100 कैलोरी
  • 1 ग्राम कार्ब
  • 9 ग्राम फैट
  • 5 ग्राम प्रोटीन
  • 150 एमजी कैल्शियम
  • 170 एमजी सोडियम

नोट: पनीर का 28 ग्राम 1 इंच क्यूब के आकार के आसपास हो सकता है. ऊपर बताए गए सभी पनीर पूर्ण फैट वाले संस्करण हैं जो शाकाहारियों के लिए प्रोटीन फ़ूड्स में से एक है. इनका व्यापक इस्तेमाल होता रहा है.

पनीर के फायदे और नुकसान – cheese benefits and side effects in hindi

चीज़ के हेल्थ बेनेफिट्स – cheese health benefits in hindi

  • पनीर को कैल्शियम, फैट और प्रोटीन का एक बड़ा स्रोत माना जाता है. 
  • इसमें ज़िंक, फोस्फोरस और राइबोफ्लेविन के साथ उच्च मात्रा में विटामिन ए और विटामिन बी -12 भी होते हैं. 
  • 100 प्रतिशत घास खाने वाले पशुओं के दूध से बना पनीर, पोषक तत्वों में सबसे अधिक पूर्ण होता है.
  • पनीरे में ओमेगा-3 फैटी एसिड और विटामिन के -2 के गुण भी मौजूद होते है.
  • कई अध्ययनों के अनुसार, पनीर और डेयरी उत्पाद सामान्य रूप से आपके दांतों को कैविटी से बचाने के लिए काम करते हैं. 
  • 2015 के एक अध्ययन में एक औसत से अधिक डेयरी प्रोडक्ट सेवन करने वाले बच्चे तीन-साल के बाद कैविटी मुक्त थे. 
  • जबकि औसत से कम डेयरी प्रोडक्ट का सेवन करने वाले बच्चों में ऐसा नही था.

कॉन्जूगेटिड लिनोलिक एसिड (सीएलए)

  • नीली चीज़, ब्री, और चेडर जैसे हाई फैट वाले चीज़ में कम मात्रा में कॉन्जूगेटिड लिनोलिक एसिड (सीएलए) होता है. 
  • रिसर्च में सुझाव दिया गया है कि सीएलए मोटापा, हृदय रोग को रोकने और सूजन को कम करने में मदद कर सकता है. 
  • 100 प्रतिशत घास खाने वाले पशुओं (पनीर और अन्य उच्च फैट वाले डेयरी उत्पाद, जैसे पूरे दूध और मक्खन) में अधिक सीएलए होता है.
  • न केवल डेयरी फैट में सीएलए शामिल है बल्कि एक शोध की समीक्षा के अनुसार डेयरी का सेवन और हृदय स्वास्थ्य के साथ पूर्ण फैट वाले डेयरी उत्पाद अधिक पोषण प्रदान करते हैं. 
  • साथ ही इनमें एंटी इंफ्लामेटरी गुण भी मौजूद होते हैं.
  • फर्मेंटिड डेयरी प्रोडक्ट जैसे कि दही और पनीर, कार्डियोवस्कुलर हेल्थ पर भी सकारात्मक प्रभाव डालते हैं.
  • दुर्भाग्य से, जब डेयरी को हाई हीट के साथ पास्चुरीकृत किया जाता है, तो कुछ लाभकारी यौगिक – जैसे अच्छे बैक्टीरिया और एंजाइम भी काफी कम हो जाते हैं.

चीज़ के नुकसान – cheese side effects in hindi

  • कुछ लोग पनीर के प्रति संवेदनशील होते हैं. 
  • पनीर में लैक्टोस होता है जो एक प्रकार की शुगर होती है. 
  • जिसे लैक्टोज के प्रति असहिष्णु लोगों द्वारा पचा पाना मुश्किल होता है. 
  • क्योंकि उनके शरीर में एंजाइम की कमी होती है जिससे वह शुगर को ब्रेक नही कर पाते हैं.
  • इन मामलों में, बहुत अधिक लैक्टोज से गैस और पेट फूलना सहित पाचन समस्याएं हो सकती हैं.
  • कुछ चीज़ लैक्टोज में बहुत कम होते हैं जैसे परमेसन. जिसे लैक्टोज असहिष्णुता वाले लोग सहन करने में सक्षम हो सकते हैं. 
  • लोगों को कैसिइन से भी एलर्जी हो सकती है जो दूध में पाए जाने वाले मुख्य प्रोटीनों में से एक होता है. जो लो लैक्टोज चीज़ के मामले में मदद नहीं करता है.
  • पनीर एक अधिक कैलोरी वाला भोजन है. 
  • आपके द्वारा खाए जाने वाले पनीर की विविधता के आधार पर आपको प्रति औंस लगभग 100 कैलोरी मिलती है.
  • यह आमतौर पर सोडियम से पूर्ण होता है, जिससे इसे अधिक खाना आसान हो जाता है. 
  • लेकिन इसका अधिक सेवन हाई ब्लड प्रेशर वाले लोगों के लिए एक समस्या हो सकता है.
  • पनीर फैट में भी हाई होता है और कुछ विशेषज्ञों द्वारा इस सैचुरेटिड फैट के अपने सेवन को सीमित करने की सलाह देते हैं.
  • पनीर में कोई फाइबर नहीं होता है और पास्चुरीकृत डेयरी के अत्यधिक सेवन से कब्ज जैसी समस्या हो सकती है.

अंत में

अगर आसान भाषा में समझने की कोशिश करें तो चीज़ एक हेल्दी और स्वाद में अच्छा पोषक तत्वों से पूर्ण सोर्स है. कभी कभी पनीर का इस्तेमाल स्नैक आदि समेत सलाद, सब्जियों में भी किया जा सकता है. जबकि लैक्टोज़ संवेदनशील या एलर्जिक लोगों को इससे बचना चाहिए.

इसके अलावा अनहेल्दी चीज़ खाने वाले लोगों को इसका सेवन सीमित मात्रा में करना चाहिए. पीज्ज़ा क्रस्ट, क्रैकर, टॉरटिला चिप्स और ब्रेड के साथ खाए जाने पर इसके कोई हेल्थ बेनेफिट्स नही होते है.