Lifestyle

pait ki charbi khatam karne ke nushke – पेट की चर्बी खत्म करने के नुस्खे

बेली फैट से निजात पाना बहुत ही मुश्किल हो सकता है लेकिन यह समस्या मात्र आपकी पर्सनालिटी को दिखाने से कहीं ज्यादा खतरनाक और बड़ी होती है. यह हमारे शरीर के लिए खराब होता है.

शरीर में बढ़ता मोटापा ना जाने कितनी बीमारियों का कारण बन सकता है. यदि आप इस समस्या से छुटकारा पाना चाहते है तो आज हम आपको इस तरह के मोटापे से बचने के कुछ उपाय बताएंगे.

इसके अंतर्गत आने वाले फैट जिसे आंत की चर्बी भी कहा जाता है – टाइप 2 डायबिटीज, हृदय रोग और अन्य स्थितियों  के लिए एक प्रमुख जोखिम कारक होता है. कई स्वास्थ्य संगठन वजन को मापने और चयापचय रोग के खतरे का पता लगाने के लिए बीएमआई यानी बॉडी मास इंडेक्स का उपयोग करते हैं.

हालांकि, बेली फैट पूरी तरह से खत्म करना मुश्किल हो सकता है लेकिन पेट की अतिरिक्त फैट को कम करने के लिए कई चीजें हैं जिसे आप कर सकते हैं. 

पेट की चर्बी कम करने के लिए वैज्ञानिको द्वारा समर्थित यहां कुछ प्रभावी उपाय दिए गए हैं. जिसे आप अपने जीवन में अपना सकते हैं.

एरोबिक व्यायाम (कार्डियो) करें

एरोबिक व्यायाम (कार्डियो) आपके स्वास्थ्य को अच्छा बनाने और कैलोरी को जलाने का एक असरदार उपाय है. पेट की चर्बी कम करने के लिए एरोबिक व्यायाम सबसे प्रभावी रूपों में से एक है. 

घुलनशील फाइबर खाएं

घुलनशील फाइबर पानी को अवशोषित करता है और जेल बनाता है जो आपके पाचन तंत्र से हो कर गुजरता है और भोजन को धीमा करने में मदद करता है .

अध्ययन से ज्ञात है कि इस तरह के फाइबर आपको वजन घटाने में मदद करते हैं और आप स्वाभाविक रूप से कम खाने लगते हैं. यह आपके शरीर द्वारा भोजन से अवशोषित कैलोरी को भी कम करता है. आपको बता दें कि घुलनशील फाइबर पेट की चर्बी से लड़ने में मदद करता है. 

रोज उच्च फाइबर खाद्य पदार्थों का सेवन करें. घुलनशील फाइबर के उत्कृष्ट स्रोतों में फ्लैक्ससीड, ब्रसेल्स स्प्राउट्स, एवोकाडोस, शिरताकी नूडल्स, फलियां और ब्लैकबेरी शामिल हैं.

ट्रांस वसा वाले खाद्य पदार्थों के सेवन से बचें

ट्रांस वसा को असंतृप्त वसा में हाइड्रोजन पंप करके बनाया जाता है, जैसे सोयाबीन का तेल. इस तरह के पदार्थ मार्जरीन और स्प्रेड में पाए जाते हैं और अक्सर पैक किए गए खाद्य पदार्थों में भी शामिल होते हैं. पेट की चर्बी को कम करने और अपने स्वास्थ्य की रक्षा करने के लिए उन उत्पादों से दूर रहें जिनमें ट्रांस वसा पाए जाते हैं.

अपने कुछ कुकिंग फैट्स में नारियल का तेल इस्तेमाल करें

नारियल का तेल उन स्वास्थ्यप्रद वसाओं में से है जिन्हें आप खा सकते हैं. यह आपके द्वारा संग्रहीत वसा की मात्रा को कम कर सकता है. जिससे पेट की चर्बी कम हो सकती है. प्रति दिन नारियल तेल 2 चम्मच (30 मिली) लेने से पेट की चर्बी कम हो सकती है.

शराब ज्यादा न पिएं

अल्कोहल कम मात्रा में सेवन करने से स्वास्थ्य लाभ हो सकता है लेकिन अगर आप बहुत अधिक शराब का सेवन करते हैं तो यह बहुत हानिकारक होता है. शोध से ज्ञात हैं कि शराब का ज्यादा सेवन भी आपको पेट की चर्बी बढ़ा सकती है. अध्ययन बताता है कि ज्यादा शराब का सेवन करने से कमर के आसपास अतिरिक्त वसा का भंडारण होता है.

शराब के कम सेवन से आपकी कमर का आकार कम हो सकता है. आपको इसे पूरी तरह से छोड़ देने की ज़रूरत नहीं है, लेकिन एक दिन में आपके द्वारा ली गई शराब की मात्रा सीमित करने से मदद मिल सकती है.

हाई-प्रोटीन डाइट का सेवन करें

वजन नियंत्रण के लिए प्रोटीन अत्यंत महत्वपूर्ण पोषक तत्व है. हाई-प्रोटीन का सेवन पूर्णता हार्मोन पीवाईवाई की रिहाई को बढ़ाता है, जो भूख को कम करता है. यह प्रोटीन मेटाबोलिज्म रेट को भी बढ़ाता है और वजन घटाने के दौरान मांसपेशियों को बनाए रखने में मदद करता है. डेयरी, मांस, मछली, अंडे, मट्ठा प्रोटीन या बीन्स जैसे हर भोजन के साथ अच्छा प्रोटीन स्रोत शामिल करना सुनिश्चित करें.

स्ट्रेस (तनाव) लेवल को कम करें

तनाव आपको कोर्टिसोल का उत्पादन करने के लिए एड्रिनल ग्लैंड को ट्रिगर करता है जिससे पेट की चर्बी होती है, जिसे स्ट्रेस हार्मोन भी कहा जाता है. जिन महिलाओं में पहले से ही बड़ी कमर होती हैं वे तनाव के बदले में अधिक कोर्टिसोल का उत्पादन करती हैं. पेट की चर्बी को कम करने के लिए, तनाव से छुटकारा पाने के लिए,  योग या ध्यान करना प्रभावी तरीके हो सकते हैं.

शुगर फूड्स ज्यादा न खाएं

चीनी में फ्रुक्टोज पाया जाता है, जिसका सेवन अधिक करने पर कई पुरानी बीमारियों के होने का खतरा होता है.

इनमें टाइप 2 मधुमेह, हृदय रोग, मोटापा और फैटी लीवर रोग शामिल हैं.

हफ्ते में एक बार फैटी फिश का सेवन करें

फैटी फिश गुणवत्ता वाले प्रोटीन और ओमेगा -3 वसा से भरपूर होते हैं जो आपको बीमारी से बचाते हैं. ओमेगा -3 वसा आंत के वसा को कम करने में मदद कर सकते हैं. फैटी लीवर की बीमारी वाले लोगों में मछली के तेल की डोज लिवर और पेट की चर्बी को कम करती है. प्रति सप्ताह फैटी मछली के 2 से 3 सर्विंग्स प्राप्त करें.

चीनी या मीठे पेय पदार्थों से बचें

चीनी या मीठा पेय पदार्थ तरल फ्रुक्टोज से भरपूर होता है, जो पेट की चर्बी को बढ़ाता हैं. चीनी वाले पेय पदार्थ लिवर में वसा को बढ़ाते हैं. शुगर वाले पेय पदार्थ हाई-शुगर खाद्य पदार्थों की तुलना में अधिक हानिकारक होते हैं. पेट की चर्बी कम करने के लिए, चीनी या मीठे पेय पदार्थों जैसे सोडा, मीठी चाय, चीनी युक्त अल्कोहल से पूरी तरह से बचें.

भरपूर नींद लें

नींद आपके स्वास्थ्य के कई पहलुओं पर प्रभाव डालते हैं. जिसमें वजन भी शामिल है. अध्ययन से पता चला है कि जो लोग पर्याप्त निंद नहीं ले पाते हैं उनता वजन बढ़ता है जिसमें पेट की चर्बी भी शामिल है.

फलों के जूस का सेवन बंद करें

हालांकि फलों के जूस से विटामिन और खनिज मिलता है. लेकिन यह बड़ी मात्रा में पीने से पेट की चर्बी बढ़ने का खतरा हो सकता है. इसलिए जितना हो सके इससे बचने का प्रयास करें.

0 Comments

Admin/k

Hi guys! मेरे ब्लॉग डेली ट्रेंड्स में आपका स्वागत है, प्रोफेशनली में एक डिजिटल मार्केटर हूँ और हिंदी में ब्लॉग लिखना मुझे पसंद है. स्पोर्ट, एंटरटेनमेंट, टेक्नोलॉजी, न्यूज़ और पॉलिटिक्स मेरे पसंदीदा टॉपिक्स है जिन मुद्दों पर में लिखता हुँ, आप ऐसे ही मेरे ब्लॉग पड़ते रहें और शेयर करते रहें.

Reply your comment

Your email address will not be published. Required fields are marked*

About Us