Select Page

शकरकंदी के हेल्थ बेनेफिट्स – sweet potato health benefits in hindi

शकरकंदी के हेल्थ बेनेफिट्स – sweet potato health benefits in hindi

पूरे विश्व में मिलने वाली स्वाद में मीठी स्टार्ची रूट वेजीटेबल, कई प्रकार, साइज और रंग में मिलती है. यह सफेद, संतरी और बैंगनी रंग के होते है, इनमें विटामिन, मिनरल, एंटीऑक्सीडेंट और फाइबर की अच्छी मात्रा होती है.

इसके अलावा शकरकंद के कई स्वास्थ लाभ होते है. इस लेख में हम आपको बताने वाले है हमारी हेल्थ के लिए शकरकंदी के फायदे –

शकरकंदी के फायदें – sweet potato benefits in hindi

कैंसर से लड़ने वाले गुण

  • यह कई एंटीऑक्सीडेंट से पूर्ण होते है जो विशेष प्रकार के कैंसर से लड़ते है.
  • बैंगनी रंग वाली शकरकंदी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट कुछ प्रकार के कैंसर जैसे ब्लैडर, कोलन, पेट और ब्रेस्ट कैंसर के विकास को धीमा करते है.

पाचन के लिए

  • शकरकंदी में मौजूद फाइबर हमारी पाचन क्रिया के लिए बहुत जरूरी होता है.
  • इनमें 2 प्रकार के फाइबर होते है – घूलनशील और अघूलनशील.
  • हमारा शरीर दोनों को ही नही पचा पाता है. जिस कारण यह हमारे पाचन तंत्र में रहते है और कब्ज जैसी समस्याओं में लाभ देते है.
  • इसके अलावा घूलनशील फाइबर पानी को सोख कर मल को ठीला बनाते है.
  • रोजाना डाइट में फाइबर की 20 से 33 ग्राम मात्रा ली जानी चाहिए इससे कोलन कैंसर को रिस्क कम होता है और कब्ज से राहत मिलती है.

दिमाग के लिए बेहतर

  • पर्पल रंग वाली शकरकंदी खाने से दिमाग का फंक्शन बेहतर होता है.
  • जानवरों पर हुए अध्ययनों में देखा गया है कि इससे इंफ्लामेशन कम करने और फ्री रेडिकल्स से बचाव करके दिमाग का फंक्शन बेहतर होता है.
  • इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुणों के कारण याददाश्त बेहतर होने में मदद मिलती है.

पोषक तत्वों में पूर्ण

शकरकंदी को विटामिन, मिनरल और फाइबर का अच्छा सोर्स माना जाता है. इसके 1 कप या कहे 200 ग्राम पकी हुई और बिना छीली हुई शकरकंदी में –

  • कैलोरी – 180
  • कार्ब्स – 41.4 ग्राम
  • प्रोटीन – 4 ग्राम
  • फैट – 0.3 ग्राम
  • फाइबर – 6.6 ग्राम

अन्य पोषक तत्व जैसे –

  • विटामिन ए 
  • विटामिन सी 
  • मैग्नीज़ 
  • विटामिन बी6 
  • पोटेशियम
  • पेंटोथैनिक एसिड
  • कॉपर 
  • नियासिन

इसके अलावा संतरी या बैंगनी रंग की शकरकंदी एंटीऑक्सीडेंट में भरपूर होने के चलते हमारे शरीर का फ्री रेडिकल्स से बचाव करती है.

फ्री रेडिकल्स जिन्हें मुक्त कण भी कहा जाता है, मानव शरीर के लिए बहुत हानिकारक होते है इनके कारण क्रोनिक रोग जैसे कैंसर, हार्ट रोग और एजिंग देखने को मिलती है. इसलिए अच्छी हेल्थ के लिए एंटी-ऑक्सीडेंट फ़ूड खाना जरूरी होता है.

बेहतर दृष्टि के लिए

  • सब्जियों का चमकदार संतरी रंग, बीटा-कैरोटिन नाम के एंटीऑक्सीडेंट के कारण होता है. शकरकंदी में इसकी मात्रा काफी होती है.
  • 1 कप करीब 200 ग्राम पकी हुई शकरकंदी में एक व्यस्क की दिन की बीटा-कैरोटिन की जरूरत 7 गुना से अधिक होती है.
  • यह शरीर में विटामिन ए में बदलता है जिससे आंखों को काफी लाभ होता है और आंखों की रोशनी बेहतर होती है.
  • विटामिन ए की कमी के कारण लोगों को विशेष प्रकार के अंधापन का सामना करना पड़ता है.
  • शकरकंदी खाने से इस कंडीशन से लड़ा जाता है.

इम्यून सिस्टम के लिए

  • शकरकंदी में मौजूद तत्व खुद को विटामिन ए में बदल लेते है.
  • हेल्दी इम्यून सिस्टम के लिए विटामिन ए बहुत जरूरी है.
  • अध्ययनों के अनुसार विटामिन ए की कमी के कारण इम्यून सिस्टम कमज़ोर होता है जिससे बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है.

शकरकंदी को डाइट में कैसे शामिल करें – How to add sweet potato to your diet in hindi

इन्हें डाइट में शामिल करना बहुत आसान है इसके लिए आप इन्हें पका कर, उबाल कर, रोस्ट करके, फ्राइड, स्टीम आदि करके इस्तेमाल कर सकते है.

इन्हें कई रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है साथ ही इन्हें नमकीन या मीठी डिश के रूप में भी खा सकते है.

  • चीप्स – छीली हुई, पतली और पकी हुई या फ्राइ की हुई.
  • फ्राई – छले हुए, अलग अलग डिज़ाइन का इस्तेमाल किया जा सकता है.
  • टोस्ट – पतला काटकर एवोकाडो या नट बटर के साथ प्रयोग किया जा सकता है.
  • मस्ले हुए – उबले हुए, दूध आदि के साथ खाया जा सकता है.
  • पके हुए – ओवन या कुकर में पके हुए.

नारियल तेल, ऑलिव ऑयल या एवोकाडो के साथ शकरकंदी को पकाने से फैट की मात्रा कम हो जाती है. 

अंत में

शकरकंदी जड़ से मिलने वाली सब्जी है जो कई रंग में उपलब्ध होती है. यह फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट में हाई होती है जो हमारे शरीर को मुक्त कणों से होने वाले नुकसान से बचाता है. पाचन और दिमाग के फंक्शन को बेहतर करता है. शकरकंदी को मीठा, नमकीन फ्लेवर में नाश्तें या ब्रंच में खाया जा सकता है.