इस लेख में आप जानेंगे साइंस द्वारा प्रमाणित गेहूँ के ज्वार के फ़ायदों के बारे में –

वीटग्रास के फ़ायदे – wheatgrass benefits

आज के समय में सभी जूस कॉर्नर या फ़ूड स्टोर में वीटग्रास का जूस दिखने लगा है. यह गेहूं के ज्वार से बना होता है. इसे आप घर में भी बना सकते है या बाहर से खरीद भी सकते है.

कुछ लोगों का मानना है कि इससे लिवर को डिटॉक्सिफाई करने और इम्यून फंक्शन को बेहतर करने में मदद मिलती है.

हालांकि, अभी तक इसके बताए जाने वाले सभी लाभों पर अध्ययन नहीं हुए है. लेकिन निम्न पर हुए है और उन्हें माना भी गया है.

वजन घटाने में सहायक

  • कई लोगों द्वारा वीटग्रास जूस को डाइट में जोड़ा जा रहा है जिससे उन्हें तेजी से वजन घटाने में मदद मिल रही है.
  • हालांकि, वीटग्रास के वजन कम करने को लेकर कोई तथ्य मौजूद नहीं है लेकिन कई अध्ययनों में इसे सुरक्षित पाया गया है.
  • जानवरों पर हुए अध्ययनों में यह भी देखा गया है कि वीटग्रास का सेवन करने से पेट के धीमे खाली होने और भूख को कम करने वाला हार्मोन रिलीज होता है.
  • ध्यान रहें, वीटग्रास में मौजूद वजन कम करने वाला तत्व हरी सब्जियों में भी होता है.

ब्लड शुगर को रेगुलेट करने

  • हाई ब्लड शुगर के कारण कई लक्षण जैसे सिरदर्द, बार-बार प्यास लगना, बार-बार पेशाब जाना और थकान आदि होते है.
  • समय के साथ हाई ब्लड शुगर के गंभीर परिणाम हो सकते है जैसे स्किन इंफेक्शन, दृष्टि समस्या, नर्व को नुकसान होना शामिल है.
  • कुछ अध्ययनों का मानना है कि वीटग्रास का सेवन करने से ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखा जा सकता है.

कोलेस्ट्रॉल को कम करने

  • पूरे शरीर में पाए जाने वाले यह वैक्सी पदार्थ कोलेस्ट्रॉल होता है.
  • कुछ हार्मोन और पित्त बनाने के लिए कोलेस्ट्रॉल की जरूरत होती है.
  • लेकिन खून में बहुत अधिक कोलेस्ट्रॉल होने से यह खून के फ्लो को ब्लॉक कर हार्ट रोग का रिस्क बढ़ा सकता है.
  • कई जानवरों पर हुए अध्ययनों में पाया गया कि वीटग्रास से कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम हुआ.
  • साथ ही अध्ययन में यह भी देखने को मिला कि वीटग्रास का असर हाई ब्लड कोलेस्ट्रॉल को ठीक करने वाली दवा से मिलता जुलता था.
  • अच्छे रिजल्ट के बावजूद भी इसमें अन्य अध्ययन की जरूरत है जिसमें इंसानों पर इसके प्रभाव देखे जाए.

डाइट में आसानी से शामिल करने

  • वीटग्रास पाउडर, जूस, कैप्सूल आदि रूप में स्टोर पर उपलब्ध है.
  • इसके अलावा इसे आप घर पर भी उगा सकते है जिससे वहीं जूस बनाया जा सके.
  • इसके जूस को चाय, सलाद आदि पेय में जोड़ा जा सकता है.

कैंसर सेल्स को मारने

  • कुछ टेस्ट ट्यूब स्टडी में पाया गया है कि इसके हाई एंटीऑक्सीडेंट तत्व कैंसर के सेल्स को मारने में मदद करते है.
  • एक टेस्ट ट्यूब अध्ययन के अनुसार, वीटग्रास का अर्क लेने से मुंह के कैंसर सेल्स के फैलने को कम किया जा सकता है.
  • कुछ अध्ययनों में यह भी पाया गया कि कैंसर ट्रीटमेंट के साथ वीटग्रास का उपयोग करने से ट्रीटमेंट के प्रतिकूल प्रभावों को कम किया जा सकता है.
  • यह लोगों में कैंसर के विकास को कैसे कम करता है इसपर अभी अधिक स्टडी की जरूरत है.

इंफ्लामेशन को कम करने

  • हमारे शरीर को इंजरी और इंफेक्शन से बचाने के लिए इम्यून सिस्टम द्वारा सामान्य प्रक्रिया इंफ्लामेशन के रूप में दिखाई देती है.
  • क्रोनिक इंफ्लामेशन रहने पर वह निम्न कंडीशन में योगदान दे सकती है जैसे कैंसर, हार्ट रोग और ऑटोइम्यून रोग आदि.
  • कुछ रिसर्च के अनुसार वीटग्रास और इसमें मौजूद तत्व इंफ्लामेशन को कम करने में मदद करते है.
  • एक महीने तक रोजाना केवल 100 ml वीटग्रास जूस पीने से अल्सरेटिव कोलाइटिस वाले रोगियों में रेक्टल ब्लीडिंग और रोगों की गंभीरता कम हो जाती है.
  • वीटग्रास में क्लोरोफिल भी होता है जिसमें ताकतवर एंटी इंफ्लामेटरी गुण मौजूद होते है.

हाई एंटीऑक्सीडेंट और पोषण से भरपूर

  • वीटग्रास को काफी सारे विटामिन और मिनरल का बेहतरीन सोर्स माना जाता है.
  • यह विशेष रूप से विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई समेत आयरन, मैग्नीशियम, कैल्शियम और एमिनो एसिड में हाई होते है.
  • 17 एमिनो एसिड में से 8 ऐसे होते है जिनको हमारा शरीर खुद से नहीं बना पाता है. इन्हें हम खाए जाने वाले भोजन से प्राप्त कर सकते है.
  • सभी ग्रीन प्लांट की ही तरह वीटग्रास में भी क्लोरोफिल होता है, जो ग्रीन प्लांट पिगमेंट होता है जिसके कई लाभ होते है.
  • इसमें कई जरूरी एंटीऑक्सीडेंट समेत ग्लूटाथिओन और विटामिन सी, विटामिन ई भी होते है.
  • एंटीऑक्सीडेंट वह कंपाउंड होते है जो हमारे शरीर को मुक्त कणों से बचाकर सेल्स को होने से नुकसान को रोकते है और ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करते है.
  • कुछ अध्ययनों के अनुसार, एंटीऑक्सीडेंट की मदद से कुछ कंडीशन से बचाव हो सकता है जैसे हार्ट रोग, कैंसर, गठिया और न्यूरोडीजनरेटिव रोग आदि.
  • हाई फैट डाइट दिए जाने वाले जानवरों पर हुए एक अध्ययन में देखने को मिला कि वीटग्रास के सेवन से ऑक्सीडेटिव तनाव कम होने और बेहतर कोलेस्ट्रॉल के लेवल देखे गए.
  • इसके अलावा, वीटग्रास को सप्लीमेंट करने से विटामिन सी और ग्लूटाथिओन लेवल को बढ़ाने में मदद मिलती है.

सावधानियां और साइड इफेक्ट

  • वीटग्रास को ग्लूटेन संवेदनशीलता या सेलिएक रोग आदि में सुरक्षित माना जाता है.
  • लेकिन ग्लूटेन संवेदनशीलता होने पर उपयोग करने से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह ले लें.
  • इसके सेवन के बाद कुछ लक्षण जैसे मतली, सिरदर्द या दस्त आदि होने पर इसकी मात्रा को कम कर दें.
  • नकारात्मक प्रभाव बने रहने पर डॉक्टर से सलाह लें.

अंत में

वीटग्रास और इसके तत्व कई हेल्थ बेनेफिट्स से जुड़ा होता है जिसमें वजन कम होना, इंफ्लामेशन कम होना, कोलेस्ट्रॉल का लेवल घटना समेत ब्लड शुगर कंट्रोल होना शामिल है.

हालांकि, मानवों पर रिसर्च सीमित है और कई अध्ययनों पर सिर्फ विशेष कंपाउंड पर फोकस किया गया है.

इसके लाभों को जानने के लिए अतिरिक्त स्टडी की जरूरत है, इसे संतुलित डाइट के रूप में सेवन करने से एक्सट्रा पोषक तत्व और कई हेल्थ लाभ मिलते है.

References –

 

Share: