Select Page

पिंपल की होम्योपैथी दवाएं – pimples ke liye homeopathic medicine

पिंपल की होम्योपैथी दवाएं – pimples ke liye homeopathic medicine

इस लेख में आप जानेंगे पिंपल के लिए बेस्ट होम्योपैथिक दवाओं के बारे में –

पिंपल के लिए बेस्ट होम्योपैथी दवाएं – pimples ke liye homeopathic medicine

सल्फर

  • इस दवा को उन लोगों को दिया जाता है जिनको अनहेल्दी स्किन जिस पर काफी सारे पिंपल के साथ खुजली हो. (जानें – साफ स्किन के लिए घरेलू टिप्स)
  • खुजाने के कारण यह समस्या अधिक बढ़ सकती है.
  • रात के समय या गर्मी के कारण यह खुजली बदतर हो सकती है.
  • ऐसे में सल्फर का उपयोग अन्य ऑइंटमेंट या लगाने की दवा के साथ मिलाकर किया जा सकता है.

सोरिनम

  • इस दवा का अधिकतर उपयोग सभी प्रकार के एक्ने या कहे मुंहासों के लिए किया जाता है.
  • साथ ही यह ऑयली स्किन पर होने वाले एक्ने पर भी कारगर होती है.
  • यह दवा ऑयल के निकलने को कम करके एक्ने का इलाज करती है.
  • मीठा खाने, चॉकलेट, मांस और फैटी फ़ूड्स के कारण हो जाने वाली खराब कंडीशन के लिए सोरिनम का इस्तेमाल होता है.
  • इसका उपयोग खुजली के साथ होने वाले मुंहासे जो सर्दी के मौसम में अधिक खराब हो जाने की कंडीशन में भी किया जाता है.

साइलीशिया

  • माथे पर पिंपल होने पर साइलीशिया बहुत जल्दी रिकवरी करने में मदद करती है.
  • पस वाले पिंपल पर यह ज्यादा असरदार साबित होती है.
  • चेहरे पर ज्यादा पसीना आने के कारण पिंपल नोटिस किया जा सकता है. (जानें – चेहरे पर सफेद धब्बे होने पर क्या करें)
  • यह दवा सिस्टीन एक्ने के लिए भी काफी मददगार होती है.

हिपर सल्फर

  • इसका उपयोग पस से भरे हुए पिंपल के लिए किया जाता है.
  • कभी कभी पस में ब्लड के धब्बे हो सकते है जिसके अलावा वह मुंहासों से बह सकता है.
  • ऐसे मुंहासे काफी दर्द भरे हो सकते है, इसके अलावा यौवन की शुरूआत में एक्ने काफी दर्द दे सकते है.

बर्बेरिस एक्विफोलियम

  • एक्ने के कारण होने वाले निशानों के हटाने के लिए बर्बेरिस एक्विफोलियम का उपयोग किया जाता है.
  • इस दवा को मुंहासों के कारण पड़ने वाले निशानों के लिए प्रीसक्राइब किया जाता है.

काली ब्रोमैटम

  • इसका उपयोग चेहरे, चेस्ट और कंधो पर होने वाले पिंपल के लिए किया जाता है.
  • काली ब्रोमैटम को एक्ने के कारण स्किन पर रह जाने वाले निशान को हटाने के लिए भी किया जाता है.
  • नीले-लाल पिंपल होने पर काली ब्रोमैटम को इनका सही इलाज करने के लिए मददगार माना जाता है.

नक्स वोमिका

  • गैस की समस्या के कारण होने वाले मुंहासों का इलाज करने के लिए इस दवा का उपयोग किया जाता है.
  • पेट की समस्या का कारण कब्ज या अपच हो सकता है.
  • जिस कारण पेट में जलन आदि होने के अलावा चेहरे पर मुंहासे भी हो जाते है.

नेट्रम मुर

  • पिपंल के साथ में चेहरे पर गर्मी महसूस करने के मामलों में यह काफी कारगर होती है.
  • इस तरह की कंडीशन में पिंपल में पस के साथ जलन महसूस होती है.
  • खुजली और ऑयली एक्ने के मामलों में नेट्रम मुर बहुत मदद करती है. 

महिलाओं में एक्ने के लिए पल्सेटिला निग्रिकेस

  • महिलाओं को अनियमित पीरियड्स के कारण मुंहासे हो सकते है.
  • ऐसे में पल्सेटिला निग्रिकेस को काफी कारगर माना जाता है.
  • प्यूबर्टी की आयु प्राप्त कर चुकी लड़कियों को भी पिंपल होने का रिस्क रहता है.
  • फैटी फ़ूड्स खाने के कारण एक्ने अधिक हो सकते है.
  • ऐसे में पल्सेटिला निग्रिकेस पिंपल को ठीक करने में काफी मदद करती है.

अंत में

होम्योपैथी दवाएं मुंहासों का इलाज करने के लिए काफी कारगर नैचुरल ट्रीटमेंट मानी जाती है. यह अंदरूनी रूप से पिंपल पर काफी प्रभावी रूप से कार्य करती है.

मुंहासों को दबाने के स्थान पर यह दवाएं इसका इलाज जड़ से करती है. साथ ही यह सुरक्षित होने के अलावा इनके साइड इफेक्ट न के बराबर होते है. (जानें – मुंहासों से जल्दी से छुटकारा कैसे पाएं)

ध्यान रहें कि यह दवाएं होम्योपैथिक विशेषज्ञ से चर्चा करने के बाद ही लिए जाने चाहिए.

References –

 

Share:

About The Author

Kartik bhardwaj

Hi, I have an experience of more than 6 years Ex - Tangerine(To the New), DD News, ABP News, RSTV, Express Magazine and Lybrate Inc.