Select Page

ashwagandha ke fayde in hindi

अश्वगंधा भारत, मध्य पूर्व और अफ्रीका के कुछ हिस्सों में पाई जाती है. अश्वगंधा एक बहुत ही बेहतरीन प्राकृतिक औषधीय जड़ी बूटी है, जिसका सेवन शरीर की अनेकों समस्याओं के समाधान के लिए किया जाता है.

इस जड़ी बूटी को भारतीय जीन्सेंग या विंटर चेरी भी कहा जाता है. अश्वगंधा का अर्थ ‘घोड़े की गंध’ है, जो इसकी जड़ों की विशिष्ट गंध को दर्शाता है. अश्वगंधा मुख्य रूप से को दिमाग के लिए बेहतर बताया जाता है. इसके अलावा तनावग्रस्त लोगों को भी अश्वगंधा का सेवन करने की सलाह दी जाती है.

अश्वगंधा एक अनुकूलन है और तनाव से लड़ने में मदद करता है. अश्वगंधा को अक्सर पुनर्योजक के रूप में प्रयोग किया जाता है. यह एक शामक, अनुत्तेजक, मूत्रवर्धक और शारीरिक ऊर्जा और धीरज बढ़ाने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है.

भारत में मस्तिष्क संबंधी विकारों जैसे कि स्मृति हानि के इलाज के लिए अक्सर बुजुर्ग मरीजों को अश्वगंधा का विवरण दिया जाता है. अश्वगंधा का उपयोग मुख्य रूप से अश्वगंधा चूर्ण के रूप में किया जाता है

अश्वगंधा के 10 लाभ – 10 benefits of ashwagandha

यह एक प्राचीन औषधीय जड़ी बूटी है

अश्वगंधा आयुर्वेद में सबसे महत्वपूर्ण जड़ी बूटियों में से एक है, प्राकृतिक चिकित्सा के भारतीय सिद्धांतों पर आधारित वैकल्पिक चिकित्सा का एक रूप है. यह तनाव को दूर करने, ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने और एकाग्रता में सुधार के लिए 3,000 से ज्यादा वर्षों के लिए उपयोग किया गया है.

इसका वानस्पतिक नाम विथानिया सोम्निफेरा है और इसे कई अन्य नामों से भी जाना जाता है, जिसमें भारतीय जिनसेंग और शीतकालीन चेरी शामिल हैं.

अश्वगंधा का पौधा पीले फूलों वाला एक छोटा झाड़ी होता है जो भारत और उत्तरी अफ्रीका का मूल है. पौधे की जड़ या पत्तियों से अर्क या पाउडर का उपयोग विभिन्न स्थितियों के उपचार के लिए किया जाता है. इसके कई स्वास्थ्य लाभों के लिए इसकी उच्च सांद्रता विथेनाओलाइड्स को जिम्मेदार ठहराया गया है, जो सूजन और ट्यूमर के विकास से लड़ने के लिए दिखाया गया है

यह ब्लड शुगर के स्तर को कम करता है

कई तरह के अध्ययनों में, अश्वगंधा को ब्लड शुगर के लेवल को कम करने के लिए बताया गया है. कई मानव अध्ययनों ने भी स्वस्थ लोगों और शुगर वाले लोगों में ब्लड शुगर के लेवल को कम करने की अपनी क्षमता की पुष्टि की गई है.

यह कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स को कम कर सकता है

इसके एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रभावों के अलावा, अश्वगंधा कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के स्तर को कम करके हृदय के स्वास्थ्य में सुधार करता है. अध्ययन में पाया गया है कि अश्वगंधा इन ब्लड फैट को काफी कम कर देता है.

यह पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन और प्रजनन क्षमता बढ़ाता है

अश्वगंधा की डोज टेस्टोस्टेरोन के स्तर और प्रजनन स्वास्थ्य पर शक्तिशाली प्रभाव डाल सकती है. एक अध्ययन में पाया गया की तनाव के लिए अश्वगंधा लेने वाले पुरुषों ने उच्च एंटीऑक्सिडेंट स्तर और बेहतर शुक्राणु की गुणवत्ता का पता लगया लगाया गया है. 

मस्तिष्क के लिए लाभकारी

हाल ही में किए गए अनुसंधान ने सिद्ध किया है कि अश्वगंधा केवल तनाव से राहत में मदद नहीं करता है, बल्कि यह मस्तिष्क को अवसाद से बचाता है. यह अल्जाइमर, अवसाद और चिंता के लक्षणों में सुधार करता है.

मस्तिष्क के उपचार में अश्वगंधा के प्रभावशाली होने के मुख्य कारणों में से एक यह है कि इसके शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट उम्र बढ़ने की प्रक्रिया में वृद्धि लाने वाले मुक्त कणों को नष्ट कर देते हैं. इसके साथ ही मनोदशा सुधारता है.

चिंता और अवसाद दोनों के उपचार में अश्वगंधा प्रभावी है. अश्वगंधा का प्रमुख लाभ यह है कि एंटी-डिप्रेशन और विरोधी-चिंता वाली दवाओं की तुलना में इसे लेकर कोई प्रतिकूल प्रतिक्रिया नहीं होती है, जो भयानक साइड इफेक्ट भी कर सकते हैं.

यह मांसपेशियों और ताकत को बढ़ा सकता है

अनुसंधान से पता चला है कि अश्वगंधा शरीर की संरचना में सुधार कर सकती है और ताकत बढ़ा सकती है. एक दूरसे अध्ययन में यह सिद्ध हुआ कि अश्वगंधा लेने वालों को मांसपेशियों की ताकत और आकार में काफी अधिक लाभ हुआ है. एक समूह की तुलना में यह शरीर के फैट प्रतिशत में कमी को दोगुना कर देता है.

अश्वगंधा तनाव के स्तर को कम करता है

इसका अच्छी तरह से अध्ययन नहीं किया गया है, कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि अश्वगंधा अवसाद को कम करने में मदद कर सकता है. हमारे शरीर में ‘कोर्टिसोल’ नामक एक हॉर्मोन मौजूद होता है, जो शरीर में ज्यादा होने पर तनाव बढ़ाता है. कई शोधों से यह सिद्ध हुआ  है कि अश्वगंधा शरीर में कोर्टिसोल की मात्रा को कम करता है, जिससे तनाव आदि में मदद मिलती है.

अश्वगंधा कैंसर में उपयोगी

कुछ समय से विज्ञान भी आयुर्वेदिक औषधियों के गुणों को मानने लगा है. इसी के पक्ष में यह बात सामने आई है कि इसमें कैंसर प्रतिरोधी क्षमता होती है. इसमें मौजूद एंटीट्यूमर गुण इसे कैंसर से लड़ने के काबिल बनाते हैं.

About The Author

Ankita Singh

Hi guys! मेरे ब्लॉग डेली ट्रेंड्स में आपका स्वागत है, पेशे से एक लेखक जिसे हिंदी से प्यार है. स्पोर्ट, एंटरटेनमेंट, टेक्नोलॉजी, न्यूज़ और पॉलिटिक्स मेरे पसंदीदा टॉपिक्स है जिन मुद्दों पर मैं लिखता हुँ. अगर आप भी चाहते है कुछ लिखना या कोई शिकायत करना तो आपका हार्दिक स्वागत है. ऐसे ही मेरे ब्लॉग पड़ते रहें और शेयर करते रहें.

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *