Select Page

महिलाओं के लिए वियाग्रा – viagra for women in hindi

महिलाओं के लिए वियाग्रा – viagra for women in hindi

आज के कम समय वाली लाइफ़स्टाइल की बात करें तो इसके बहुत से दुष्प्रभाव है. विशेषकर महिलाओं की बात करें तो उनको भी कई तरह के सेक्सुअल डिस्ऑर्डर का सामना करना पड़ता है. इन्ही में से एक रोग हाइपोएक्टिव सेक्सुअल डिज़ायर डिस्ऑर्डर (HSDD) है.

एचएसडीडी को फीमेल सेक्सुअल इंटरस्ट अराऊजल डिस्ऑर्डर (FSAID) भी कहा जाता है. वर्ष 2015 में अमेरिका की ड्राग लाइसेंसिंग कंपनी एफडीए (FDA) ने वियाग्रा जैसी दवा फ्लिबानसेरिन को महिलाओं में एफएसएआईडी (FSAID) के उपचार के लिए अनुमति दी थी.

इसके अलावा साल 2019 में एफडीए (FDA) द्वारा लो लिबिदो यानि कम सेक्स ड्राइव वाली महिलाओं के लिए ब्रीमेलनोटाइड दूसरी अनुमति वाली दवा बनी.

एफडीए द्वारा अकेले वियाग्रा (सिलडेनाफिल) को महिलाओं के उपयोग के लिए अनुमति नही है. हालांकि, इसे जरूरत के अनुसार डॉक्टरों द्वारा कम सेक्स ड्राइव वाली महिलाओं को प्रीस्क्राइब किया जाता रहा है. आज इस लेख में हम आपको बताने वाले है महिलाओं के लिए वियाग्रा से जुड़ी जानकारी –

महिलाओं के लिए वियाग्रा की जरूरत और लाभ – purpose and benefits of viagra for women in hindi

महिलाओं को वियाग्रा जैसी गोली को इस्तेमाल करने के कई कारण हो सकते है. जैसे ही वह मिडल ऐज की तरफ बढ़ती है उनके पूर्ण सेक्स ड्राइव में कमी आने लगती है.

सेक्स ड्राइव में कमी आने के कई कारण जैसे तनाव, कोई घटना या मेनोपॉज या डायबिटीज़ जैसी किसी समस्या का होना होता है.

हालांकि, कुछ महिलाओं को एफएसएआईडी (FSAID) के कारण भी सेक्स ड्राइव की कमी महसूस हो सकती है जिसके लक्षण –

  • सेक्स से जुडे विचारों या फैंटसी की कमी
  • सेक्सुअल रूप से उत्तेजित होने में असमर्थता
  • सेक्स से रूचि खत्म होना
  • पेरशान महसूस करना आदि

फ्लिबानसेरिन कैसे काम करती है – how flibanserin work in hindi

  • असल में इसे एंटी-डिप्रेसेंट के रूप में विकसित किया गया था लेकिन एफडीए द्वारा इसे एफएसएआईडी (FSAID) के उपचार के लिए अनुमति मिली.
  • फ्लिबानसेरिन को शरीर में डोपामाइन और निरोपिनेफ्राइन के लेवल बढ़ाने के लिए जाना जाता है.
  • साथ ही उसी समय फ्लिबानसेरिन सेरोटोनिन के लेवल को कम करती है.
  • सेक्सुअल उत्तेजना के लिए डोपामाइन और निरोपिनेफ्राइन दोनों बहुत जरूरी होते है.

फ्लिबानसेरिन की प्राभवशीलता – flibanserin effectiveness in hindi

  • फ्लिबानसेरिन को अनुमित देने से पहले तीन फेज़ का ट्रायल किया गया था.
  • हर एक ट्रायल में 24 हफ्तों का समय और फ्लिबानसेरिन की प्रभावशीलता को देखा गया.
  • फ्लिबानसेरिन की तुलना प्लेसबो से भी की गई.

मेनोपोज़ल महिलाओं में

  • फ्लिबानसेरिन को मेनोपोज़ वाली महिलाओं के लिए एफडीए द्वारा प्रमाणित नही किया गया है.
  • हालांकि इसको लेकर अध्ययन अभी जारी है.

फ्लिबानसेरिन के साइड इफेक्ट – flibanserin side effects in hindi

  • बेहोशी
  • चक्कर आना
  • मुँह सूखना
  • थकान
  • मतली
  • नींद आने में परेशानी
  • लो ब्लड प्रेशर
  • इस दवा को लेने से पहले डॉक्टर को लिवर रोग के बारे में बताया जाना चाहिए. 

फ्लिबानसेरिन के इंटरैक्शन – flibanserin warning and interactions in hindi

  • लिवर से जुड़ी समस्या वाली महिलाओं द्वारा फ्लिबानसेरिन का उपयोग नही किया जाना चाहिए.
  • फ्लिबानसेरिन या किसी भी दवा को शुरू करने से पहले डॉक्टर द्वारा सलाह ली जानी चाहिए.

इसके अलावा निम्न दवा व सप्लीमेंट लेने पर फ्लिबानसेरिन का उपयोग नही करना चाहिए –

  • कार्डियोवस्कुलर संबंधी दवाएं
  • कुछ विशेष एंटीबायोटिक्स
  • फंगल इंफेक्शन का इलाज करने वाली दवाएं
  • एचआईवी दवाएं
  • एंटीडिप्रेसेंट
  • इसके अलावा शराब का सेवन नही किया जाना चाहिए.

अंत मे

आपको बता दें कि एफडीए द्वारा किसी भी दवा को तीन बार प्रमाणित किया जाता है. फ्लिबानसेरिन के साथ भी ऐसा ही हुआ है.

लो सेक्स ड्राइव के कई कारण हो सकते है, आमतौर पर महिलाओं में वियाग्रा के मिले जुले रिजल्ट देखने को मिले है. लेकिन फीमेल सेक्सुअल इंटरस्ट अराऊजल डिस्ऑर्डर (FSAID) वाली महिलाओं के लिए यह काफी प्रभावी है. इससे सेक्स ड्राइव बेहतर करने में मदद मिलती है.

मेनोपोज से पहले वाली महिलाओं को फ्लिबानसेरिन का लाभ मिलता है. इस दवा को सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह ली जानी चाहिए. साथ ही डॉक्टर को ली जा रही दवाएं या सप्लीमेंट के बारे में बताया जाना चाहिए.