Select Page

महिलाओं में जी स्पॉट – g spot in women in hindi

महिलाओं में जी स्पॉट – g spot in women in hindi

तनाव को कम करने, स्किन को अच्छा और आपको अच्छा महसूस करवाने में ऑर्गेज़म आपकी मदद करता है. हालांकि, काफी सारी महिलाओं के लिए पेनिट्रेशन के ज़रिए पहुँचे जाने वाले ऑर्गेज़म के लिए जी स्पॉट जैसा खुफ़िया है.

सिर्फ सेक्स के जरिए ऑर्गेज़म तक पहुँचना हर महिला के लिए संभव नही है. 2017 में हुए अध्ययन के अनुसार, करीब 18 फीसदी महिलाएं बिना किसी हाथ, माउथ या टॉय की मदद लेने के अलावा सिर्फ प्रेनिट्रेशन से ही ऑर्गेज़म तक पहुँच जाती है.

लेकिन ऐसा होना जरूरी नही है, सेक्स के दौरान ऑर्गज़म करने के लिए कम से कम क्लीटोरियल उत्तेजना तो कम से कम जरूरी ही होती है.

कभी-कभी, आप अगर वेजाइनल ऑर्गेज़म का अनुभव नही करती है तो इसका मतलब यह बिल्कुल नही की ऐसा हो पाना नामुमकिन है.

कुछ का मानना है कि पेनिट्रेशन के दौरान महिलाओं के ऑर्गेज़म तक पहुँचने के लिए जी स्पॉट का पता होना उन्हें आनंद का अनुभव करवा सकता है.

परंतु कुछ शोधकर्ताओं की मानें तो वेजाइनल ऑर्गेज़म नाम की कोई चीज़ ही नही होती है, तो ऐसे में फैक्ट और फिक्शन को अलग कर पाना मुश्किल है.

महिलाओं में जी स्पॉट क्या होता है – what is g spot in women in hindi

  • जी स्पॉट को ग्राफेनबर्ग स्पॉट के नाम से जाना जाता है.
  • आपने सुना होगा कि वेजाइनल ऑर्गेज़म तक पहुँचने के लिए जी स्पॉट एक चाबी जैसा होता है.
  • इसकी खोज करने वाली डॉक्टर के मुताबिक यह एरिया सेक्स के दौरान ऑर्गेज़म तक पहुँचने के लिए बेहतर साबित होता है.
  • हालांकि, जी स्पॉट योनि में कोई विशेष इंगित स्थान नही होता है बल्कि यह क्लीटोरिस का एक हिस्सा होता है.
  • इसका अर्थ यह होता है कि जब आप जी स्पॉट को उत्तेजित कर रहे होते है, तो असल में उस समय पर आप क्लीटोरिस को उत्तेजित कर रहे होते है.
  • क्लीटोरिस काफी बड़ा हिस्सा होता है उसमें भी क्लीटोरिस के टिप से थोड़ा अंदर मिलने वाले विशेषकर मटर आकार के इनर लैबिया को उत्तेजित किया जाता है.
  • टिप से क्लीटोरिस दो भागों में चार इंच बड़ी होती है.
  • सबसे जरूरी, यह एरिया एक से दूसरी महिला में पता लगाना अलग हो सकता है.
  • हालांकि एक बार उत्तेजित हो जाने पर जी स्पॉट से महिला स्खलन कर पाती है और वेजाइनल ऑर्गेज़म में मदद मिलती है.

जी स्पॉट का पता कैसे लगाएं – how you can find g spot in hindi

  • इसका पता लगाना बहुत मुश्किल होता है क्योंकि यह किसी शरीर के चार्ट पर नही होता है.
  • लेकिन इसका मतलब यह बिल्कुल नही की ऐसा हो पाना असंभव है.
  • जी स्पॉट का पता लगाने के लिए जरूरी है कि सेक्स के दौरान इसका पता लगाया जाए.
  • खुद से आसानी से जी स्पॉट का पता लगाया जा सकता है.
  • इसका पता लगाने के लिए सबसे पहले रिलैक्स हो जाए और वह करें जिससे आपको बेस्ट महसूस हो.
  • तैयार हो जाने पर सीधे फिंगर या सेक्स टॉय को प्रवेश कराने से पहले योनि को मसाज करने से शुरू करें.
  • इसके बाद फिंगर या टॉय का इस्तेमाल करते हुए, ऊपर नाभी की ओर मोशन में आए.
  • ध्यान रहें कि ऐसा जरूरी नही है कि नाभी को छुना ही है, जो बेहतर महसूस करवाएं वो करें.
  • सेंशेसन को बनाने के लिए मोशन को फिर से रिपीट करें.
  • अंदर और बाहर की मूवमेंट करने के स्थान पर अपना फोकस एरिया पर रखें. 
  • दूसरे एरियाओं की ही तरह एक से दूसरे व्यक्ति की पसंद और नापसंद अलग हो सकती है.
  • साथ ही हमेशा याद रखें कि ऑर्गेज़म का कोई सही या गलत तरीका नही होता है.
  • जरूरी नही कि सभी महिलाओं को जी स्पॉट उत्तेजित करने से संतुष्टि मिल जाएं और यह भी गलत नही है.
  • हस्तमैथुन करना बिल्कुल नॉर्मल है और किसी भी रिलेशनशिप में यह हेल्दी होता है.
  • अपनी पसंद आदि जान लेने के बाद आप अपने पार्टनर को बता सकती है कि सेक्स करते समय आप सबसे ज्यादा क्या पसंद करती है.

जी स्पॉट उत्तेजित करने वाली बेस्ट सेक्स पोजीशन – best positions to stimulate the g spot in hindi

अगर आप सेक्स के दौरान जी स्पॉट उत्तेजना का अनुभव करना चाहती है तो निम्न सेक्स पोजीशन आपकी मदद कर सकती है. इससे मूवमेंट पर कंट्रोक करने के साथ आपको पता लग सकता है कि कौन सी पोजीशन का आनंद आप सबसे अधिक उठाती है. इसके लिए काफी सारी सेक्स पोजीशन है लेकिन आप इन तीनों को आज़मा सकते है.

डॉगी स्टाइल

  • सेक्स करते समय गहरे पेनिट्रेशन के लिए डॉगी स्टाइल बहुत अच्छा ऑप्शन है.
  • इसमें जी स्पॉट को हीट करने के लिए एंगल में बदलाव काफी आसान होता है.
  • इसके लिए महिला साथी को अपने घुटनों पर आगे की ओर झुककर पार्टनर को पीछे की तरफ से पेनिट्रेशन करने देना चाहिए.
  • इस दौरान एंगल के बदले जाने तक अपने हिप को पीछे की ओर पुश करना और शरीर के आगे वाले हिस्से को फोरआर्म पर रख सकती हैं.
  • इसके अलावा बेड के किनारे पर पेट की ओर लेटकर अलग अलग एंगल को आज़मा सकती है.
  • इससे पार्टनर को खड़े होकर पेनिट्रेट करने में आसानी मिलेगी.

क्लोज़ड मिशनरी पोजीशन

  • मिशनरी पोजीशन में थोड़े बहुत बदलाव करने से अच्छे और गहरा पेनिट्रेशन करने में मदद मिलती है.
  • बिना पैरो को हिलाए आप मिशनरी पोजीशन से शुरू कर सकती है.
  • टाइट रूप से भींचने के लिए पार्टनर को पैरो से जकड़ सकती है.
  • इससे जी स्पॉट की तरफ फ्रिक्शन बढ़ जाएगी जिससे ऑर्गेज़म तक पहुँचने का परफेक्ट तरीका भी माना जा सकता है.

काउगर्ल

  • पार्टनर को पीठ की ओर लेटने दें.
  • फिर उनके ऊपर बैठकर सेक्स किया जा सकता है.
  • इससे आपको रिदम, गहराई और पेनिट्रेशन के एंगल में फोकस करने में मदद मिलेगी.
  • साथ ही इससे जी स्पॉट का पता लगाने में आसानी रहती है.
  • ऊपर नीचे करने के स्थान पर थोड़ा पीछे की ओर जाकर योनि की अंदर वाल में जी स्पॉट को उत्तेजित करने की कोशिश करें.
  • स्पीड, एंगल आदि के साथ एक्सपेरिमेंट करने में घबराएं नहीं.

अंत में

जैसा की आप फ़िल्मों में देखते है, सेक्स हमेशा जल्दी और आसान नही होता है. काफी महिलाओं का मानना है कि सेक्स गलत है इसलिए उन्हें संतुष्टि और ऑर्गेज़म तक पहुँचने में परेशानी होती है.

अपनी सेक्स लाइफ को बेकार न जाने दें और पता लगाने की कोशिश करें कि आपको क्या पसंद है. इससे अगर आप जी स्पॉट पता लगा लेती है तो यह आपके लिए अच्छा है और अगर पता नही लगता है तब भी कोई समस्या नही है.

ऑर्गेज़म तक पहुँचने के लिए कोई नियम नही है. अधिकतर महिलाओं के लिए एक से अधिक चीज़ो का संयोजन मदद कर सकता है. आपके लिए क्या काम करता है पता लगाने के लिए थोड़ा धैर्य रखें.

सबसे जरूरी आपकी संतुष्टि होती है इसलिए खुद के शरीर को जानना और आपकी सेक्सुअल प्राथमिकता पता लगने से आप खुश, सुरक्षित और आनंददायक सेक्स लाइफ का लुफ्त उठा सकती है.