Select Page

How to increase penis size in hindi – लिंग का साइज़ कैसे बढ़ाएं

How to increase penis size in hindi – लिंग का साइज़ कैसे बढ़ाएं

पुरुष प्रजनन अंग, जिसे आमतौर पर पेनिस या लिंग के रूप में जाना जाता है, अक्सर कई भ्रम और मिथकों से घिरा होता है.  यह लोगों के बीच एक सामान्य अवधारणा है कि एक बेहतर सेक्स और अपने साथी को आत्म संतुष्टि के लिए लिंग की जानकारी होनी चाहिए.

अगर वर्तमान समय की बात करें, तो खासकर पुरूषों में अपने पेनिस के साइज या लंबाई को लेकर बहुत उत्सुकता रहती है. 

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि वह यौन संभोग यानि सेक्स के दौरान अपनी पार्टनर को चरम सुख देना चाहते है. शोधकर्ताओं की माने तो महिलाओं की यौन संतुष्टि के लिए पेनिस का जी स्पोट को हीट करना जरूरी होता है. जी-स्पोट महिला के योनी में स्थित होती है.

यह एक ऐसा बिंदु होता है जो महिलायों को उत्तेजित करने के लिए सबसे उत्कृष्ट माना गया है. ऐसे में बहुत से पुरूषों के सामने यह सवाल खड़ा होता है कि वह महिलाओं के इस जी स्पॉट को हीट करने के लिए क्या करें. 

कई पुरुषों का मानना है की जिन पुरुषों का लिंग बड़ा होता है वह आसानी से जी स्पॉट हीट कर देते हैं. हालांकि, इसके बारे में कोई सही जानकारी नहीं हैं, लेकिन पेनिस स्ट्रेचिंग और अपने लिंग को कैसे बड़ा करें, इस लेख में विस्तारपूर्वक बताया गया है.

पेनिस स्ट्रेचिंग का तात्पर्य यहां अपने हाथों या किसी उपकरण द्वारा लिंग की लंबाई को बढ़ाना होता है. पेनिस स्ट्रेचिंग कैसे काम करता है, सुरक्षित स्ट्रेचिंग तकनीक आप घर पर कैसे आज़मा सकते हैं, इस बारे में अधिक जानने के लिए आप हमारे इस लेख को पढ़ें.

अगर आप इंटरनेट पर ऐसा कुछ खोजेंगे तो आपको बहुत सारे लेख और वीडियो मिल जाएंगे, जिसमें आपको लिंग मोटा करने के कई तरीके मिलेंगे. लेकिन ध्यान रहें वह सभी सच नही होते है.

अगर हम मानव प्रजाति की बात करें, तो पृथ्वी पर अलग-अलग स्थानों के मौसम और अनुवांशिक कारणों के चलते लोगों की लम्बाई, भाषा, रंग, आहार, शरीर का ढ़ाँचा आदि अलग-अलग होते है. 

ऐसे में अगर एशिया की बात करें, तो यहाँ अलग अलग देशों में पुरूषों के पेनिस का साइज अलग होता है. अगर हमारे देश के परिपेक्ष में जानकारी दे, तो वर्तमान समय में, लिंग मोटा और बड़ा करने वाले उत्पादों से बाजार में एक नया उद्योग स्थापित हो गया है.

हालाँकि, लिंग बड़ा और मोटा करने के लिए एक्सरसाइज सबसे सुरक्षित और स्थाई समाधान होता है. कई एशियाई और अफ्रीकी संस्कृतियों में सदियों से लिंग मोटा करने के लिए इन एक्सरसाइज़ को उपचार के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है. 

इसलिए, अपने लिंग के आकार को लेकर चिंता करने वाले पुरुषों को अप्रभावी, महंगी और संभावित हानिकारक उपचार के साथ एक्सपेरिमेंट करने की जगह, डॉक्टर से बात करनी चाहिए.

आइए सबसे पहले लिंग की जानकारी के बारे में बात करते है, पेनिस की औसत लम्बाई और मोटाई की जानकारी, इस प्रकार है:

पुरुषों पर किए गए स्टडी के अनुसार पेनिस की सामान्य साइज़ निम्नलिखित है:

  • यदि किसी पुरुष में बिना तनाव या इरेक्शन के पेनिस की लम्बाई 8.12 सेंटीमीटर अथार्त 3.2 इंच है तो यह सामान्य स्थिति है.
  • आपका पेनिस तनाव या इरेक्शन के साथ 9.14 सेंटीमीटर यानि 5.1 इंच है तो यह औसत लम्बाई है.
  • आपका पेनिस उत्तेजना या तनाव के साथ 11.46 सेंटीमीटर यानि 4.5 इंच है तो यह सामान्य मोटाई है.

लिंग को बड़ा और मोटा करने करने के लिए कई तरह के उपचार उपलब्ध है, लेकिन उनके प्रभावशीलता को लेकर हमेशा आशंका बनी रहती है.

हालाँकि, आप अपने जीवनशैली में कुछ परिवर्तन के साथ आसानी से लिंग को बड़ा और मोटा कर सकते हैं. 

लिंग को बड़ा और मोटा करने में मदद करने वाली कुछ लिंग वर्धक एक्सरसाइज और डिवाइस इस प्रकार है:

अल्टीमेट स्ट्रेचर

यह एक्सरसाइज उन लोगों के लिए बहुत कारगर सिद्ध हो सकता है जो लिंग को बड़ा करने के लिए चिंता में रहते है. इसके साथ, यह पेनिस के टेढ़ापन और ढीलापन दूर करने में सहायक हो सकता है. इसे शुरू करने से पहलें रिलैक्स हो और थोडा वार्म अप कर लें.

अब अपने पेनिस की फोरस्किन को पीछे खीचें और पेनिस के उभरे हुए सिरे को दुसरे हाथ से पीछे से पकड़ें. इसे ज्यादा कसकर ना पकड़ें, क्योंकि इससे आपको दर्द और रक्त संचार में रुकावट आ सकती है.

  • इसके बाद अपने पेनिस को आगे की तरफ स्ट्रेच करें और इस बात का ध्यान रखें की पेनिस के निचले हिस्से में दर्द ना हो.
  • अब अपने लिंग को अपने पेट की तरफ खिंच कर 15 से 30 सेकंड तक होल्ड करें.
  • इसके बाद 5 सेकंड का रेस्ट लें.
  • इसके बाद समान तरीकें से पेनिस को निचे घुटनों की तरफ, दायें तरफ और बाएं तरफ 15 से 30 सेकंड तक स्ट्रेच करें.
  • इस एक्सरसाइज को एक बार में 10 बार दोहराएं.
  • आप अपने पेनिस को ऊपर, नीचे, दायें, बाएं और आगे की दिशा में दो- दो बार दोहराएं.
  • इस एक्सरसाइज को हर दिन एक बार करें.  

केगेल एक्सरसाइज

यह एक लोकप्रिय एक्सरसाइज है. यह महिलायों के साथ-साथ पुरुषों के लिए भी बहुत फायदेमंद हैं. यह पुरुषों में रक्त संचार और इरेक्शन टाइम बढाने में बहुत मददगार साबित हुई है. इसके लिए आपको सबसे पहलें अपनी पीसी(pubococcygeus) मांशपेशियों को पता लगाना होगा. यह मांसपेशी आपके पेशाब और मल को नियंत्रित करता है.

इस मांसपेशी की मदद से आप सेक्स करने के दौरान स्खलित होने की समस्या से निजात पा सकते है. इस मांसपेशी को पता लगाने का सबसे आसान तरीका होता है, जब आपको तेज पेशाब लगता हो तो जिस अपने लिंग के जिस मांसपेशी के जरिए आप इसे रोक सकते हैं वही आपकी पीसी मसल्स है.

  • अब आपको इस मांसपेशियों को सिकोड़ने की अभ्यास करना है.
  • इसे 5 सेकंड तक होल्ड करें और 2 सेकंड के लिए छोड़ दें.
  • इस प्रक्रिया को रोजाना कम से कम 15 से 20 मिनट तक दोहराएं. यह एक बहुत ही प्रभावशाली उपचार है.

रिसर्च के माध्यम से देखें तो रिसर्च का मानना है कि पेनिस स्ट्रेचिंग तकनीक पर अभी शोध सीमित है. हालांकि, आकार में अस्थायी वृद्धि संभव हो सकती है. एक सर्वे में बताया गया है कि एंड्रोपेनिस स्ट्रेचिंग डिवाइस का इस्तेमाल करने वाले पुरुषों में दैनिक उपयोग के साथ आकार में वृद्धि देखी गई. इस मामले में पेनाइल ट्रैक्शन डिवाइस भी लोकप्रिय हैं. ट्रेक्शन डिवाइस पर भी बहुत शोध उपलब्ध है.

बतादें कि स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करने में कोई बुराई नहीं है. इससे लिंग के आकार और उपस्थिति के साथ अधिक सहज महसूस करने में मदद मिलती हैं. 

यहां बताया गया है कि कैसे सुरक्षित रूप से पेनिस स्ट्रेचिंग करें. अपने लिंग को मैन्युअल रूप से फैलाने के लिए:

स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज

यदि एक्सरसाइज दर्द या बेचैनी का कारण बनता है तो इसे रोकें, जब आप इसे कर रहे हों तो किसी दीवार या टेबल का सहारा लें. चोट से बचने के लिए दिन में एक या दो बार ये अभ्यास करें. यदि आप इन अभ्यासों को लंबे समय तक या अधिक बार करना चाहते हैं तो अपने चिकित्सक से सलाह करें. यह प्रयास करें:

अपने लिंग का सिर पकड़ें

अपने लिंग को ऊपर की ओर खींचें. एक ही समय में अपने लिंग के आधार के आसपास के क्षेत्र पर दबाएँ.

लगभग 10 सेकंड के लिए इस स्थिति को करें. अपने लिंग के बाईं ओर फिर दाएं तरफ खींचे  गए इन चरणों को दोहराएं, अपने लिंग के आधार पर दबाव डालें. अपने लिंग के दाईं ओर फिर बाईं ओर खींचे गए इन चरणों को दोहराएं, अपने लिंग के आधार पर दबाव डालें. इस अभ्यास को दिन में एक बार 2 मिनट तक दोहराएं.

या

अपनी तर्जनी और अंगूठे को ओ आकार में पकड़ें. जब तक आप अपने लिंग शाफ्ट पर हल्के दबाव नहीं डालते तब तक ओ को छोटा करें. जब तक आप टिप तक नहीं पहुंचते तब तक अपनी उंगली और अंगूठे को अपने लिंग के सिर की ओर रखें. दर्द कम होने पर दबाव कम करें. इसे प्रति दिन एक बार लगभग 20 से 30 मिनट तक दोहराएं.

  • डिवाइस के साथ स्ट्रेचिंग
  • लिंग पंप का उपयोग
  • ट्रेक्शन उपकरण का उपयोग इस तरह करें

डिवाइस के बेस एंड में अपने लिंग को डालें. विपरीत छोर पर दो पायदान के भीतर अपने लिंग के सिरे को सुरक्षित करें. लिंग के शाफ्ट क्षेत्र के चारों ओर सिलिकॉन ट्यूब को जकड़ें. डिवाइस के नीचे सिलिकॉन ट्यूब के सिरों को पकड़ें और धीरे-धीरे अपने लिंग को बाहर की ओर खींचें. दर्द या असहज महसूस होने लगे तो खींचना बंद करें. दिन में 4 से 6 घंटे तक लिंग को स्ट्रेच की स्थिति में छोड़ें.

संभावित जोखिम और जटिलताएं

  • आपके लिंग का बहुत अधिक मोटा होना नुकसान पहुंचा सकता है
  • ये आपकी क्षमता में संभावित रूप से बाधा डाल सकती हैं.
  • ट्रैक्शन डिवाइस पहनते समय, अपने डॉक्टर के निर्देशों का पालन करें कि इसे कितने समय तक पहनना है.
  • पंप का उपयोग करने के बाद, रक्त को अपने लिंग में 30 मिनट से अधिक न रहने दें. कुछ घंटों से अधिक समय तक इरेक्शन रखने से आपका लिंग स्थायी रूप से खराब हो सकता है.

स्ट्रेचिंग व्यायाम या उपकरणों के कारण निम्नलीखित प्रभाव भी हो सकता है:

  • खुजली
  • मामूली चोट
  • मलिनीकरण
  • सुन्न होना
  • नसों का फटना

यदि आपके लक्षण कुछ दिनों से अधिक समय तक रहते हैं या गंभीर होते हैं तो अपने चिकित्सक को दिखाएं. डॉक्टर आपके लक्षणों का आकलन करके अगला कदम लेने का सलाह दे सकता है.

अगर आपको लिंग के आकार के बारे में किसी तरह की जानकारी चाहिए तो अपने डॉक्टर से परामर्श  करें. वे आपको अलग-अलग विकल्प बता सकते हैं और समझा सकते हैं कि कैसे सुरक्षित रूप से ऐसा करना है.