Select Page

पेनिस स्ट्रेचिंग क्या है, तरीका, एक्सरसाइज, रिस्क और रिजल्ट – penis stretching in hindi

पेनिस स्ट्रेचिंग क्या है, तरीका, एक्सरसाइज, रिस्क और रिजल्ट – penis stretching in hindi

पेनिस स्ट्रेचिंग क्या है? – What is penis stretching in hindi

काफी सारे लोग ऐसे होते है जिन्हें लगता है कि उनका पेनिस का साइज़ बढ़ा होना चाहिए. ऐसे लोगों के लिए पेनिस स्ट्रेचिंग होती है, जिसका मतलब अपने हाथों या किसी डिवाइस का उपयोग कर पेनिस की लंबाई और चौड़ाई को बढ़ाया जाता है.

ऐसे बहुत सारे तथ्य है जो बताते है कि स्ट्रेचिंग से साइज़ बढ़ाया जा सकता है. जबकि कुछ मामलों में यह अस्थाई होते है.

आज इस लेख में हम आपको बताने वाले है कि पेनिस स्ट्रेचिंग कैसे काम करती है और सेफ पेनिस स्ट्रेचिंग करने की तकनीक जिसे आप घर पर कर सकते हैं –

पेनिस स्ट्रेचिंग कैसे काम करती है? – How does penis stretching work in hindi

इसके लिए कुछ बातों का पता होना चाहिए जैसे –

स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज

  • इसमें हाथों का इस्तेमाल कर पेनिस टिश्यू की मसाज की जाती है.
  • इस दौरान स्किन की स्ट्रेचिंग कर टिश्यू में छोटे टियर बनाए जाते है.
  • ठीक होने के दौरान यह टिश्यू फ्लूड आदि से भर जाते है जिससे पेनिस बड़ा दिखता है.
  • कुछ एक्सरसाइज से पेनिस की मोटाई भी बढ़ती है.
  • इन एक्सरसाइज को जेलक्विंग कहते है जिसमें भी टिश्यू की मसाज की जाती है.

स्ट्रेचिंग डिवाइस

  • हालांकि, पेनिस का साइज बढ़ाने वाले डिवाइस पर अध्ययन जारी है लेकिन यह अबतक साफ नही है कि यह कितना बेहतर काम करते है.
  • इसके लिए आप पेनिस पंप ले सकते है जो सिलेंडर शेप का एयर फिल्लड चैम्बर होता है जिसे पेल्विक एरिया पर फिट किया जाता है.
  • इसके उपयोग से तुरंत इरेक्शन (खड़ा) हो जाता है.
  • कुछ लोगों का मानना है कि इसका लगातार इस्तेमाल करने से पेनिस का साइज बढ़ जाता है.
  • इसके अलावा पिनाइल ट्रेक्शन डिवाइस भी काफी लोकप्रिय है.
  • यह डिवाइस पेनिस के साइज को बदलने के लिए इसको खींचता है.
  • साथ ही इससे लिंग का टेढ़ापन की समस्या में भी उपयोग किया जाता है.

पेनिस स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज कैसे करें – How to do penis stretching exercise in hindi

पेनिस स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज को आज़माने में कोई बुराई नही है. इससे आपका पेनिस साइज बढ़ा और दिखने में बेहतर लगेगा –

  • जब आपके पेनिस में किसी प्रकार का तनाव (खड़ा) न हो तभी इस एक्सरसाइज को करें.
  • दर्द या कोई परेशानी महसूस होने पर एक्सरसाइज को तुरंत रोक दें.
  • इसे करने के दौरान किसी दिवार या टेबल के सामने खड़े हो या बैठे.
  • किसी भी प्रकार कि इंजरी से बचने के लिए इन एक्सरसाइज को दिन में एक या दो बार ही किया जाना चाहिए.
  • अगर आप इन एक्सरसाइज को लंबे समय तक करना य जारी रखना चाहते है तो अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें.

पेनिस स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करने का तरीका – penis stretching karne ka tarika

  • अपने पेनिस के टिप (सिर) को पकड़े.
  • इसे कम से कम 10 सेकेंड के लिए ऊपर की ओर खींचें.
  • इसके बाद पेनिस को लेफ्ट साइड की तरफ कर 10 सेंकेंड के लिए खींचें.
  • अब इसे राइट साइड की तरफ कर 10 सेकेंड के लिए खींचें.
  • इस प्रक्रिया को दिन में 1 से 2 बार 5 मिनट के लिए किया जा सकता है.

पेनिस स्ट्रेचिंग का दूसरा तरीका –

  • अपने पेनिस के हेड को पकड़े.
  • इसे ऊपर की ओर खींचें.
  • इसी दौरान अपने पेनिस के बेस एरिया को प्रेस करें.
  • इस पोजीशन को कम से कम 10 सेकेंड के लिए होल्ड करें.
  • इसी प्रक्रिया को पेनिस को सेफ्ट साइड की तरफ कर खींचे और पेनिस बेस पर प्रेशर डालें.
  • जिसके बाद प्रक्रिया को राइट साइड के लिए भी दोहराएं.
  • दिन में कम से कम 1 बार इस एक्सरसाइज को 2 मिनट के लिए किया जाना चाहिए.

पेनिस स्ट्रेचिंग का अन्य तरीका –

  • अपने हाथ के अंगूठे और इंडेक्स फिंगर से “0” बना लें.
  • इस “0” को अपने पेनिस के बेस पर रखें.
  • जब तक आपके पेनिस शॉफ्ट (लिंग की शुरूआत) पर मध्यम प्रेशर न आए तब तक इस “0” को छोटा करते जाएं.
  • धीरे – धीरे अपनी फिंगर और अंगूठे को पेनिस के हेड की तरफ लेकर जाए. दर्द होने पर प्रेशर को कम कर दें.
  • इस प्रक्रिया को दिन में करीब 20 से 30 मिनट तक करें.

डिवाइस से पेनिस स्ट्रेचिंग –

पेनिस पंप का इस्तेमाल करने पर

  • अपने पेनिस को एयर-फिल्लड चैम्बर में डालें.
  • पंप का काम चैम्बर से हवा को खींचने का होता है.
  • इस प्रक्रिया के होने पर पेनिस में खून आता है जिससे इरेक्शन होता है.
  • ऐसे में पेनिस में रिंग या कलैम्प को लगाने से पेनिस में लगभग 30 मिनट तक इरेक्शन रहता है.
  • इस समय के दौरान सेक्स या हस्तमैथुन करना बेहतर रहता है.
  • रिंग को हटा दें.

ट्रैक्शन डिवाइस का इस्तेमाल करने पर

  • इसके लिए पेनिस को डिवाइस के अंत तक घूसाएं.
  • अपने पेनिस के हेड को दूसरी तरफ के हेड में सुरक्षित कर दें.
  • अपने पेनिस शॉफ्ट के आस पास फटाफट से सिलीकॉन ट्यूब को लगा दें.
  • डिवाइस के नीचले भाग तक सिलीकॉन ट्यूब को ग्रीप करें.
  • इसके बाद धीरे धीरे से पेनिस को बाहर की ओर निकाले.
  • बाहर निकालने की तरफ दर्द शुरू होने या कुछ परेशानी होने पर प्रक्रिया को रोक दें.
  • पेनिस की इस स्टेच पोजीशन को दिन में 4 से 6 घंटे तक रखा जा सकता है.

पेनिस स्ट्रेचिंग के संभावित रिस्क और जटिलताएं – Risk and complications of penis stretching in hindi

  • इससे पेनिस के टिश्यू टियर (खराब होने) का खतरा रहता है.
  • साथ ही पेनिस को शरीर से जोड़ने वाले लिगामेंट भी डैमेज हो सकते है.
  • इस तरह की इंजरी होने पर इरेक्शन बनाए रखने या होने की क्षमता प्रभावित हो सकती है.
  • ट्रैक्शन डिवाइस पहनने के लिए, डॉक्टर सलाह लेनी चाहिए जिससे पता लग सके कि इसे कितने समय के लिए पहनना है.
  • ज्यादा लंबे समय तक पहनने से चोट लग सकती है जिससे पेनिस फंक्शन प्रभावित हो सकता है.
  • पंप का प्रयोग करने के बाद, ध्यान रहें कि इरेक्शन 30 मिनट से अधिक न हो क्योंकि इरेक्शन कुछ ज्यादा घंटे रहने से पेनिस को क्षति हो सकती है.

स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज या डिवाइस से –

  • खुजली
  • हल्का छीलना या खरोंच लगना
  • पिनाइल शॉफ्ट पर लाल स्पॉट
  • सुन्न होना
  • नस का टूटना

अगर ऐसा कोई भी लक्षण दो दिन या उससे ज्यादा समय तक रहता है या गंभीर लक्षण दिखाई देने पर डॉक्टर से तुरंत मिलना चाहिए. लक्षणों के आधार पर डॉक्टर आपको अगले स्टेप्स के लिए सलाह दे सकते हैं.

मुझे रिजल्ट कब दिखना शुरू होगा – When i will see results of penile stretching in hindi

  • इसका रिजल्ट एक्सरसाइज करने के तरीके और लगातार करने पर दिखाई देगा.
  • उदाहरण के लिए ट्रैक्शन डिवाइस का रोजाना कुछ महीनों तक उपयोग करने पर रिजल्ट देखने को मिल सकते है.
  • कुछ रिपोर्ट के अनुसार पेनिस पंप का उपयोग तेज़ी से नतीजे दे सकता है, लेकिन ध्यान रहें कि इस तथ्य को किसी अध्ययन ने नही माना है. 
  • इसके अलावा जब बात आती है खुद से पेनिस स्ट्रेचिंग करने की तो इसमें कितना समय लगता है इसके कोई भी रिजल्ट नही है.

अंत में

अगर आपको कोई सवाल है कि आपके पेनिस का साइज कितना होना चाहिए या कोई समस्या है तो आप डॉक्टर से बात कर सलाह ले सकते है. साथ ही डॉक्टर आपको इन प्रक्रियाओं को करने का बेहतर तरीका और समय बता सकते है.

जबकि पेनिस स्ट्रेचिंग को गलत तरीके से करने से काफी सारी परेशानियां भी हो सकती है जैसे कोई भी इंजरी या इरेक्टाइल डिसफंक्शन जैसी समस्या का हो जाना आदि. किसी भी प्रकार के दर्द या परेशानी होने पर डॉक्टर से सलाह जरूर ली जानी चाहिए.