Select Page

शावर सेक्स कैसे करें – how to have shower sex in hindi

शावर सेक्स कैसे करें – how to have shower sex in hindi

आपने फिल्मों आदि में काफी देखा होगा की नहाते हुए शावर में सेक्स करना, कितना लुभावना लगता है. लेकिन जो लोग इसे असल जिंदगी में कर चुके उनके अनुभव के हिसाब से यह सबसे बुरा होता है.

ऐसा इसलिए क्योंकि फिल्मों चीज़े कुछ अलग ढंग से पेश की जाती है. जबकि असल जिंदगी में ऐसा नही होता है. परंतु कुछ सही तरीकों की मदद से शावर सेक्स का फायदा उठाया जा सकता है.

आज इस लेख में हम आपको बताने वाले है शावर सेक्स करने के टिप्स, पोजीशन और सावधानियाँ – shower sex in hindi

शावर सेक्स टिप्स – shower sex tips in hindi

शावर फ्रैंडली ल्यूब

  • पानी गीला होता है लेकिन वह ल्यूब के समान स्लीपरी नही होता है.
  • फ्रिक्शन को कम करने के लिए और वेजाइनल या एनल सेक्स करने के लिए वाटरप्रूफ ल्यूब अच्छी रहती है.

शावर मैट

  • इससे आपके फीसलने का खतरा नही रहेगा.
  • यह आपके टब या शावर में फिसलते नही है.
  • गंदे होने पर इन्हें आसानी से निकालकर साफ किया जा सकता है.

साफ करना

  • साबुन, शैम्पू, कंडीशनर से फ्लोर पर फिसलन हो जाती है.
  • इसलिए यह सब लगाने के बाद एक दूसरे को और फ्लोर को अच्छे से साफ करें.
  • ध्यान रहें साबुन स्लीपरी होता है तो इसका मतलब यह नही कि वह ल्यूब है.
  • तो ल्यूब का काम ल्यूब ही करती है न की साबुन.

एक दूसरे को उत्तेजित करना

सिर्फ पेनिट्रेशन तक सीमित न रहें

  • शावर सेक्स में सिर्फ पेनिट्रेशन ही सबकुछ नही होता है.
  • साथ ही यह फोकस या एंडगेम नही होना चाहिए.
  • शावर में कई तरह के सेक्स जैसे ओरल सेक्स आदि का आनंद उठा सकते है.

बाथ टॉय

  • यहां बच्चों के टॉय की बात नही हो रही है.
  • वाटरप्रूफ सेक्स टॉय जैसे वाइब्रेटर, बट्ट प्लग आदि का इस्तेमाल किया जा सकता है.

शावर सेक्स पोजीशन – shower sex positions in hindi

अगर आप वास्तविक रूप से सोचे तो शावर में कोई भी सेक्स पोजीशन की जा सकती है. इसका मतलब यह नही कि ऐसा ही किया जाए. फिसलने के जोखिम के साथ आप निम्न सेक्स पोजीशन ट्राई कर सकते है.

प्रोफेशनल टिप – शावर सेक्स के दौरान अधिक सोपर्ट के लिए फूटरेस्ट या शावर हैंडल सक्शन लें. यह आसानी से मिलने वाले, फिर से उपयोग करने और साबुनदानी से ज्यादा सुरक्षित होते है.

खड़े होकर डॉगी स्टाइल

  • इसे करने के लिए अपने हाथों को शावर वाल पर रखें.
  • दीवार को देखते हुए अपने घुटने हल्के से मोड़ लें.
  • इससे आपके पीछे खड़े पार्टनर को पेनिट्रेट करने में आसानी मिलेगी.
  • पेनिट्रेट करने के लिए पेनिस, सेक्स टॉय या फिंगर का इस्तेमाल किया जा सकता है.
  • इससे आप क्लीटोरिस, पेरिनियम आदि पर भी ओरल सेक्स का आनंद ले सकते है.

सीट एंड राइड

  • यह वेजाइना या एनल में पेनिस सेक्स के लिए अच्छी पोजीशन होती है.
  • इसे करने के लिए अपने पार्टनर को फ्लोर या शावर में बैठाएं.
  • इसके बाद किसी भी पोजीशन में बैठ जिससे पेनिट्रेशन में आसानी रहें.
  • साथ ही राइड करते समय पार्टनर को टाइट से पकड़ कर रखें.

लेग अप

  • एक पैर फूट रेस्ट पर और दूसरा हैंडल पर रखकर किया जा सकता है.
  • हालांकि ऐसा बिल्कुल जरूरी नही है.
  • इसे टब या शावर के नीचे बैठकर भी कर सकते है.
  • इसे करने के लिए अपने पार्टनर को देखते हुए खड़े हो जाएं.
  • एक पैर को फूटरेस्ट और दूसरे को बैंच, टब आदि ऊंची जगह पर रख लें.
  • ऐसा कुछ न होने पर अपने पार्टनर को बोले की वह एक हाथ से आपका एक पैर उठा लें.
  • इससे एक पैर होल्ड करके आसानी से पेनिट्रेट किया जा सकता है.

गॉट माय बैक

  • यह भी पैर उठाने वाली पेजीशन है जिसमें पार्टनर की चरफ कमर होती है.
  • यह वेजाइनल और एनल पेनिट्रेशन में काम करती है.
  • इसे करने के लिए शावर की दीवार की तरफ मुँह करें.
  • एक पैर नीचे और दूसरे को बैंच, टब आदि ऊंची जगह पर रखें.
  • अपने पार्टनर को पीछे से कडल करते हुए होल्ड करके पेनिट्रेट किया जा सकता है.

चेयरपर्सन

  • यह रिवर्स काउगर्ल पोजीशन है.
  • इसे करने के लिए पार्टनर को शावर बैंच या टब के किनारे पर बैठाएं.
  • उनके जांघ आदि पर बैठकर एनल या वेजाइनल पेनिट्रेशन की जा सकती है.
  • अपने हाथों और घुटनों को दीवार की लगाकर बैलेंस किया जा सकता है.

शावर सेक्स के दौरान सावधानियाँ – shower sex precautions in hindi

यह अनिश्चित हो सकता है लेकिन इसमें फिसल कर गिरने का भी डर रहता है. नॉन स्लीप मैट और दीवार, दरवाजा या हैंडल को पकड़कर सपोर्ट ली जा सकती है. इसके अलावा निम्न बातों का ध्यान रखें –

  • पार्टनर की मंजूरी – जरूरी नही कि हर किसी को शावर सेक्स में मज़ा आए. दोनों पार्टनर के राजी होने पर ही इसे करने में मज़ा आता है. एक दूसरे की पसंद और नापसंद जानना जरूरी होता है.
  • कंडोम का इस्तेमाल – यह क्लीन हो सकता है लेकिन यह आपको एसटीआई से नही बचाता है. जिसके लिए किसी भी प्रकार के ओरल, एनल आदि पेनिट्रेटिव सेक्स के लिए कंडोम का प्रयोग करें.
  • बैक्टीरिया का खतरा – लंबे समय तक गीले रहने से बैक्टीरिया या फंगल इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है. इसलिए खुद का ठीक से सूखाना याद रखें.
  • शावर के बाहर स्लीपरी – नहाने के बाद बाहर आने पर ध्यान रखें, गीला फ्लोर या मैट, शरीर से फिसलने का खतरा बढ़ जाता है.

अंत में

एक दूसरे से बातचीत और पसंद – नापसंद का पता होने पर शावर सेक्स काफी आनंददायक हो सकता है. हमेशा याद रखें कि सेक्स हर किसी के लिए एक जैसा नही होता है. किसी को किसी चीज़ से आनंद मिलता है और किसी को अन्य चीज़ से मज़ा आता है जिसके लिए पार्टनर का एक दूसरे को जानना जरूरी है.