Select Page

योनि से डिस्चार्ज – vaginal discharge in hindi

योनि से डिस्चार्ज – vaginal discharge in hindi

अधिकतर मामलों में देखे तो वेजाइनल डिस्चार्ज एक सामान्य और नियमित अंतराल पर होने वाली कंडीशन है. हालांकि, कुछ विशेष प्रकार के डिस्चार्ज है जो इंफेक्शन की ओर इशारा करते है. असामान्य डिस्चार्ज होने पर गंध आना, चंकी होने के अलावा पीला या हरा रंग का हो सकता है.

यीस्ट या बैक्टीरियल इंफेक्शन के कारण असामान्य डिस्चार्ज होता है. अगर आप किसी भी प्रकार का असामान्य या गंध वाला डिस्चार्ज नोटिस करती है तो आपको डॉक्टर से सलाह कर निदान और उपचार लिया जाना चाहिए.

वेजाइनल डिस्चार्ज के प्रकार – types of vaginal discharge in hindi

योनि से डिस्चार्ज कई प्रकार के होते है. जो रंग और आने की नियमितता पर निर्भर करते है. कुछ प्रकार के डिस्चार्ज सामान्य होते है. लेकिन अन्य प्रकार के डिस्चार्ज किसी कंडीशन की ओर इशारा करते है.

वाइट डिस्चार्ज

  • मासिक धर्म चक्र की शुरूआत और अंत में थोड़ा बहुत वाइट डिस्चार्ज आम है.
  • लेकिन डिस्चार्ज का पतला, नियमित रूप से दिखने के साथ योनि में खुजली होना सामान्य नही होता है और उपचार की जरूरत पड़ती है.
  • इस तरह का डिस्चार्ज होना यीस्ट इंफेक्शन की तरफ इशारा करता है.

क्लीयर और पानी जैसा

  • क्लीयर और पानी जैसा डिसचार्ज भी सामान्य है.
  • यह महीने में कभी भी हो सकता है.
  • जबकि एक्सरसाइज के बाद यह ज्यादा हो सकता है.

क्लीयर और स्ट्रैची

  • जब डिस्चार्ज क्लीयर और पानी जैसा न होकर म्यूकस के जैसा स्ट्रैची होता है.
  • इसका मतलब है कि आप ऑव्यूलेट कर रही हैं.
  • यह एक सामान्य प्रकार का डिस्चार्ज है.

ब्राउन या ब्लड आना

  • पीरियड्स के दौरान या बाद में यह एक सामान्य डिस्चार्ज है.
  • पीरियड्स के अंत में लेट डिस्चार्ज लाल होने के स्थान पर ब्राउन होता है.
  • इसके अलावा पीरियड्स केे बीच में आप कम मात्रा में खून वाले डिस्चार्ज का अनुभव कर सकती है जिसे स्पोटिंग कहा जाता है.
  • अगर स्पोटिंग पीरियड्स के सामान्य टाइम पर होती है और आपने हाल ही में बिना प्रोटेक्शन के सेक्स किया होता है तो यह प्रेगनेंसी की ओर इशारा करता है.
  • प्रेगनेंसी के शुरूआती फेज़ में स्पोटिंग होना गर्भपात का इशारा होता है.
  • रेयर मामलों में ब्राउन या खूनी डिस्चार्ज एंडोमेट्रियल या सर्वाइकल कैंसर की ओर इंगित करता है.
  • इसके अलावा अन्य समस्याएं जैसे फाइब्रॉयड या असामान्य ग्रोथ के कारण भी यह हो सकता है.
  • इसलिए साल में एक बार पेल्विक एक्जाम और पैप स्मीयर की जांच करवानी चाहिए. 

पीला या हरा

  • गंध, पतला, चंकी और पीला या हरा डिस्चार्ज होने को बिल्कुल भी सामान्य नही माना जाता है.
  • इस तरह का इंफेक्शन सेक्स के दौरान फैलता है.
  • इस प्रकार का डिस्चार्ज ट्राइकोमोनिएसिस के इंफेक्शन के कारण होता है.

योनि से डिस्चार्ज के कारण क्या होते है – what are the causes of vaginal discharge in hindi

सामान्य वेजाइनल डिस्चार्ज हमारे शरीर का हेल्दी फंक्शन है. जो हमारे शरीर और योनि को साफ रखने के साथ बचाव करने में मदद करता है. उदाहरण के लिए सेक्सुअल उत्तेजना और ऑव्यूलेशन होने पर डिस्चार्ज का बढ़ना आम है. एक्सरसाइज, बर्थ कंट्रोल गोली और मानसिक तनाव के कारण भी डिस्चार्ज हो सकता है. जबकि असामान्य वेजाइनल डिस्चार्ज इंफेक्शन के कारण होता है.

बैक्टीरियल वेजिनोसिस

  • यह बैक्टीरियल इंफेक्शन काफी आम है.
  • इसके दौरान वेजाइनल डिस्चार्ज बढ़ना और तेज़ गंध के साथ काफी बार फिशी बदबू आना होता है.
  • जबकि कुछ मामलों में कोई लक्षण नही होते है.
  • जो महिलाएं ओरल सेक्स करती है या एक से अधिक पार्टनर के साथ सेक्स करती है उन्हें इसके होने का रिस्क अधिक होता है.

ट्राइकोमोनिएसिस

  • यह भी एक अन्य प्रकार का इंफेक्शन है जो सींगल सेल ऑर्गेनिज़म के कारण होता है.
  • यह इंफेक्शन सेक्स संबंध, एक ही टावल या बाथिंग सूट पहनने से हो सकता है.
  • इसके कारण गंध के साथ पीला या हरा डिस्चार्ज होता है.
  • दर्द, इंफ्लामेशन, खुजली इसके सामान्य लक्षण होते है लेकिन जरूरी नही कि हर कोई इनका अनुभव करें.

यीस्ट इंफेक्शन

  • यह एक प्रकार का फंगल इंफेक्शन होता है जिसमें सफेद, कॉटेज, चीज़ जैसा डिस्चार्ज होता है.
  • इस प्रकार के डिस्चार्ज के दौरान जलन और खुजली होना आम है.
  • योनि में यीस्ट का होना सामान्य है लेकिन कुछ स्थितियों के साथ यह बढ़ सकता है जिसमें प्रेगनेंसी, बर्थ कंट्रोल पील्स का उपयोग, डायबिटीज़, तनाव और एंटीबायोटिक्स आदि.

गोनोरिया और क्लाइमायडिया

  • यह दोनों सेक्सुअली ट्रांसमिट इंफेक्शन होते है जिनसे असामान्य डिस्चार्ज होता है.
  • इस प्रकार के डिस्चार्ज पीले, हरे या क्लाउडी रंग के हो सकते है.

पेल्विक इंफ्लामेटरी रोग

  • सेक्सुअल कॉनटेक्ट के कारण फैलने वाले इंफेक्शनों में से एक है.
  • इसमें योनि पर मौजूद बैक्टीरिया दूसरे रिप्रोडक्टिव अंग पर फैल जाता है.
  • इसमें बहुत ज्यादा गंध वाला वेजाइनल डिस्चार्ज होता है.

एचपीवी या सर्वाइकल कैंसर

  • एचपीवी इंफेक्शन भी सेक्स संबंधों के माध्यम से फैलता है.
  • इससे सर्वाइकल कैंसर का खतरा बढ़ जाता है.
  • हालांकि इसके लक्षण नही होते है लेकिन इस प्रकार के कैंसर से गंध के सा खून, ब्राउन या पानी जैसे डिस्चार्ज हो सकते है.
  • एचपीवी टेस्ट और सालाना पैप स्मीयर के साथ सर्वाइकल कैंसर को देखा जा सकता है.

डॉक्टर से मदद कब लें 

असामान्य डिस्चार्ज के साथ अन्य लक्षण दिखने पर डॉक्टर से तुरंत मिलना चाहिए. लक्षण जैसे –

  • बुखार
  • पेशाब अधिक आना
  • थकान
  • पेट में दर्द
  • असामान्य वजन कम होना आदि

निम्न लक्षणों के दिखने पर डॉक्टर से मिलकर सलाह लेनी चाहिए. जिसके बाद डॉक्टर आपकी शारीरिक जांच, पेल्विक परीक्षा समेत आपके स्वास्थ से जुड़े कई सवाल कर सकते है. इन सवालों में मासिक धर्म चक्र, सेक्सुअल एक्टिविटी आदि से संबंधित सवाल किए जाते है.

काफी सारे मामलों में पेल्विक या शारीरिक परीक्षा के बाद ही इंफेक्शन का पता लग जाता है. जबकि समस्या का तुरंत न पता लगने पर निदान करने के लिए डॉक्टर कुछ टेस्ट आदि करवा सकते है.

अंत में

इंफेक्शन से बचाव के लिए अच्छी हाइजिन बनाए रखना, कॉटन के अंडरवियर पहनना, सुरक्षित सेक्स करना जैसा एसटीआई से बचने के लिए कंडोम का उपयोग करना आदि.

एंटीबायोटिक्स लेने के दौरान यीस्ट इंफेक्शन से बचने के लिए दही खाएं. जबकि यीस्ट इंफेक्शन को डॉक्टर द्वारा प्रीस्क्राइब क्रीम आदि लगाकर भी ठीक किया जा सकता है.