Select Page

पुरूषों के लिए कीगल एक्सरसाइज – kegel exercise for men in hindi

पुरूषों के लिए कीगल एक्सरसाइज – kegel exercise for men in hindi

ऐसे बहुत से लोग होंगे जिन्होनें कीगल एक्सरसाइज महिलाओं के लिए सुनी हो, लेकिन यह पुरूषों के लिए भी होती है. कुछ रिसर्च के अनुसार प्रोस्टेट सर्जरी के बाद पेल्विक फ्लोर को मजबूत करने वाली एक्सरसाइज से ब्लैडर कंट्रोल रिस्टोर करने में मदद मिलती है.

जबकि कुछ पुरूषों में कीगल एक्सरसाइज, इरेक्टाइल डिस्फंक्शन और समयपूर्व स्खलन (प्रीमेच्योर इजेकुलेशन) जैसी समस्याओं के इलाज में मदद करती है. इसके अलावा यह ऑर्गेज़म की तीव्रता बेहतर करती है.

इस लेख में हम आपको बताने वाले है कीगल एक्सरसाइज क्या है, कीगल एक्सरसाइज करने के तरीके –

कीगल एक्सरसाइज क्या है – what are kegel exercises for men in hindi

  • कीगल एक्सरसाइज को पेल्विक फ्लोर मस्ल ट्रेनिंग एक्सरसाइज भी कहा जाता है.
  • इनका काम पेल्विक फ्लोर की मांसपेशियों को टारगेट करना होता है इसे आसान भाषा में पीसी मांसपेशी भी कहा जाता है.
  • महिला व पुरूष दोनों के शरीर में पीसी मांसपेशियाँ होती है.
  • पीसी मांसपेशियो का काम हमारे पेल्विक ऑर्गन जैसे यूरेथरा, ब्लैडर और बाऊल को सपोर्ट मिलती है.
  • साथ ही इससे अंगों को अपनी जगह पर बनाए रखने, अच्छा ब्लैडर कंट्रोल और सेक्सुअल फंक्शन में मदद मिलती है.

समय के साथ पीसी मांसपेशियों का क्या होता है – what happens to your PC muscles over time in hindi

  • जब आप जवान होते है तब आपकी पीसी मांसपेशियां मजबूत होती है.
  • आयु बढ़ने के साथ यह कमजोर और स्ट्रेच हो जाती है.
  • महिलाओं में शिशु के जन्म के बाद यह ज्यादा कमजोर या ढीली हो जाती है.
  • जबकि पुरूषों में प्रोस्टेट कैंसर, ब्लैडर या बाऊल समस्या या अन्य कारणों के चलते ऐसा होता है.
  • इसके नकारात्मक प्रभाव ब्लैडर कंट्रोल और सेक्स लाइफ प्रभावित होना होता है.
  • जिस तरह आप अपने हाथों और पैरो को मजबूत करने के लिए वर्कआउट करते है उसी तरह पीसी मांसपेशियों को कीगल एक्सरसाइज से मजबूत किया जा सकता है.

कीगल एक्सरसाइज पुरूषों को कैसे मदद करती है – how kegel can help men in hindi

  • पुरूषों पर कीगल एक्सरसाइज के प्रभाव को लेकर कम रिसर्च की गई है.
  • लेकिन रिसर्च में ऐसा देखा गया है कि पुरूषों में प्रोस्टेट सर्जरी के बाद कीगल एक्सरसाइज करने से लाभ मिलता है.
  • इससे ओवरएक्टिव ब्लैडर और कुछ पुरूषों में सेक्सुअल फंक्शन बेहतर करने में मदद मिलती है.

क्या कीगल एक्सरसाइज से सेक्स लाइफ बेहतर हो सकती है – can kegel exercise improve your sex life in hindi

  • पुरूषों व महिलाओं दोनों में कीगल एक्सरसाइज के सेक्सुअल बेनेफिट्स होते है.
  • कई अध्ययनों में देखा गया है कि पेल्विक फ्लोर एक्सरसाइज करने से महिलाओं में सेक्सुअल फंक्शन बेहतर होता है.
  • साथ ही इससे पुरूषों में सेक्सुअल डिस्फंक्शन की समस्याओं का इलाज होता है.
  • इसके अलावा कीगल एक्सरसाइज करने से इरेक्टाइल (खड़ा होना) फंक्शन बेहतर होता है, स्खलन (इंजेकुलेशन) पर कंट्रोल होता है और ऑर्गेज़म की तीव्रता बेहतर होती है.

कीगल एक्सरसाइज कैसे करें – how can you do kegel exercises in hindi

पुरूषों व महिलाओं द्वारा यह एक ही तरीके से की जा सकती है. इसके लिए जरूरी है आपको अपनी पीसी मांसपेशियों का पता हो.

  • इन मांसपेशियों का आप पेशाब करने के दौरान पता लगा सकते है.
  • सबसे आसान तरीका है पेशाब करने के दौरान बीच में रूक जाएं.
  • पेशाब को रोकने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली मांसपेशियों को पीसी मस्ल कहा जाता है.
  • वायुप्रवाह (पादने) के लिए इन्ही मांसपेशियों को इस्तेमाल होता है.
  • पुरूषों में ऐसा करने पर टेस्टिकल्स ऊपर की ओर सिकुड़ जाएंगे.

आसान कीगल एक्सरसाइज

पीसी मांसपेशियों का पता लगने पर उन्हे फ्लेक्सींग की प्रेक्टिस कर सकते है. इसके लिए –

  • 5 से 20 सेकेंड के लिए पीसी मांसपेशियों को सिकुड़े और होल्ड करें, इसके बाद रिलीज कर दें.
  • इस प्रक्रिया को 10 से 20 बार दिन में 3 से 4 बार दोहराया जा सकता है.
  • समय के साथ सिकुड़न को होल्ड करने के समय और रेपीटेशन को बढ़ाएं.
  • कुछ समय के अंदर इस एक्सरसाइज से आप अपने पीसी मांसपेशियों को मजबूत कर सकते है.
  • इससे ब्लैडर कंट्रोल और सेक्सुअल फंक्शन बेहतर होता है.

वर्कआउट में विविधता

  • आप बेसिक एक्सरसाइज में थोड़े बहुत बदलाव भी कर सकते है.
  • उदाहरण के लिए, आप काफी बार अपनी पीसी मांसपेशियों को जल्दी से सिकुड़न और रिलीज कर सकते है.
  • इसके अलावा इसी प्रक्रिया को स्लो करके भी किया जा सकता है.
  • आप कीगल एक्सरसाइज को खड़े होकर, बैठकर या लेटकर भी कर सकते है.
  • कीगल एक्सरसाइज करते समय किसी दूसरी मांसपेशियों जैसे एब्स, नीतंब या जांघ को टाइट न करें.
  • अपने शरीर को रिलैक्स रखें और आराम से सांस लें.

अंत में

कीगल एक्सरसाइज कम रिस्क, आसानी से कही भी की जा सकती है. अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क किया जाना चाहिए जिससे वह आपके अनुसार बेहतर विकल्प बता सकें. इन्हें रूटीन में शामिल करने से बेहतर यूरिनरी कंट्रोल किया जा सकता है. साथ ही सेक्स संबंधित समस्याओं के इलाज में मदद मिलता है.

कुछ मामलों में डॉक्टर आपको कीगल एक्सरसाइज के साथ कुछ अन्य उपचार जैसे दवाएं या ब्लैडर ट्रेनिंग को शामिल करने की सलाह दे सकते है.