Select Page

नारियल पानी के फायदे – coconut water benefits in hindi

नारियल पानी के फायदे – coconut water benefits in hindi

हाल के वर्षों की बात करें तो नारियल पानी काफी लोकप्रिय हुआ है, जैसे – जैसे लोगों में अपनी सेहत के प्रति जागरूकता बढ़ती देखने को मिली है. उसी के साथ ही नारियल पानी पहले से कही अधिक प्रचलन में आया है.

ऐसा इसलिए क्योंकि यह हमारी हेल्थ के लिए जरूरी पोषक तत्वों और मिनरल से पूर्ण होता है. नारियल पानी के एक कप (240 एमएल) में 46 कैलोरी होने के अलावा –

  • कार्ब्स – 9 ग्राम
  • फाइबर- 3 ग्राम
  • प्रोटीन – 2 ग्राम
  • विटामिन सी – 10% (रोज़ाना के भोजन में मात्रा)
  • मैग्नीशियम – 15% (रोज़ाना के भोजन में मात्रा)
  • मैंगनीज – 17% (रोज़ाना के भोजन में मात्रा)
  • पोटेशियम – 17% (रोज़ाना के भोजन में मात्रा)
  • सोडियम – 11% (रोज़ाना के भोजन में मात्रा)
  • कैल्शियम – 6% (रोज़ाना के भोजन में मात्रा)

आज इस लेख में हम आपको बताने वाले है नारियल पानी के हेल्थ बेनेफिट्स –

नारियल पानी के हेल्थ बेनेफिट्स – coconut water health benefits in hindi

कई पोषक तत्वों से पूर्ण

  • नारियल (हरे पानी वाले) वाले बड़े पाल्म के पेड़ पर होते है.
  • वनस्पति-विज्ञान में नारियल को फल माना जाता है.
  • कच्चे हरे नारियल के अंदर बीच में यह पोषक जूस मिलता है.
  • जैसे ही नारियल पक जाता है वैसे ही इसमें जूस कम बचता है.
  • लेकिन जूस के अलावा इसके अंदर सफेद भाग बचता है जिसे खाया भी जा सकता है.
  • नारियल के अंदर 94 फीसदी पानी और बहुत कम फैट होता है जो नैचुरली बनता है.
  • ध्यान रखने वाली बात यह है कि इसे कोकोनट मिल्क के साथ कंफ्यूज नही करना चाहिए.
  • कोकोनेट मिल्क को नारियल के सफेद भाग मिलाकर बनाया जाता है जिसमें 50 फीसदी पानी और हाई कोकोनट फैट होता है.
  • नारियल को पकने में 10 से 12 महीने का समय लगता है. 
  • जबकि नारियल के अंदर पानी 6 से 7 महीने के समय पर आता है.
  • एक हरे नारियल से ½ से 1 कप के बीच पानी निकलता है.

एंटीऑक्सिडेंट गुण

  • मेटाबॉलिज्म के दौरान हमारे शरीर में कई तरह के फ्री रेडिकल्स बनते है.
  • स्ट्रेस या इंजरी के कारण यह तेज़ी से बनने लगते है.
  • हमारे शरीर में फ्री रेडिकल्स ज्यादा हो जाने पर ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस की स्थिति बन जाती है.
  • ऐसी स्थिति में सेल्स की क्षति और रोग का खतरा बढ़ जाता है.
  • जानवरों पर हुए अध्ययनों से पता चला है कि नारियल पानी का उपयोग एंटीऑक्सिडेंट के कारण फ्री रेडिकल्स को कम करता है.
  • जिससे हाई बीपी, ट्राइग्लीसिराइड और इंसुलिन का लेवल सामान्य होने में मदद मिलती है.

डायबिटीज़ में लाभ

  • जानवरों पर हुई रिसर्च से पता चला है कि नारियल पानी के उपयोग से सेहत में सुधार होने के अलावा ब्लड शुगर कम होता है.
  • साथ ही इसके उपयोग से ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल रखा जा सकता है.
  • इसमें 3 ग्राम फाइबर और 6 ग्राम कार्ब्स होने के कारण इसे मधुमेह वाली रोगियों की डाइट में शामिल किया जा सकता है.
  • साथ ही यह मैग्नीशियम का अच्छा सोर्स है, जिससे इंसुलिन संवेदनशीलता, ब्लड शुगर लेवल कम करना और प्रीडायबिटीक लोगों के लिए बहुत फ़ायदेमंद है.

किडनी स्टोन से बचाव

  • किडनी स्टोन से बचाव के लिए जरूरी है कि पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ का सेवन किया जाए.
  • इसके लिए सादा पानी लिया जा सकता है लेकिन एस अध्ययन की माने तो नारियल पानी इससे अधिक बेहतर है.
  • जब हमारे यूरिन में कैल्शियम, ऑक्सालेट और अन्य कंपाउंड मिलकर क्रिस्टल बनाते है जो स्टोन बन जाते है, उसे कंडीशन को किडनी स्टोन कहा जाता है. 
  • जबकि नारियल पानी के उपयोग से क्रिस्टल बनने और उनके किडनी से चिपक जाने की स्थिति कम हो जाती है. 
  • साथ ही इससे यूरिन में बनने वाले क्रिस्टल भी कम हो जाते है.
  • रिसर्च का यह भी मानना है कि नारियल पानी की मदद से फ्री रेडिकल्स के कारण होने वाले हाई ऑक्सालेट लेवल कम हो जाते है.

हार्ट के लिए

  • हार्ट संबंधित समस्याओं के खतरे को कम करने के लिए नारियल पानी बहुत लाभदायक है.
  • जानवरों पर अध्ययन में यह भी पता चला है कि कोकोनेट वाटर के नियमित सेवन से कोलेस्ट्रोल और ट्राइग्लीसिराइड के लेवल कम होते है.
  • फैटी लिवर की समस्या में भी यह काफी लाभ देता है.
  • लेकिन जानवरों में इसकी हाई डोज़ देने के बाद यह लाभ देखने को मिले थे.

हाई ब्लड प्रेशर कम होना

  • हाई बीपी को कंट्रोल करन के लिए कोकोनट वाटर काफी उपयोगी है.
  • इसमें पोटेशियम की अच्छी मात्रा होती है जो हाई बीपी वाले लोगों में बहुत फायदा देता है.
  • साथ ही यह ब्लड क्लॉट बनने की प्रक्रिया से भी बचाव करता है.

एक्सरसाइज के बाद

  • खुद को हाइड्रेट और तरोताज़ा रखने के लिए नारियल पानी एक बेहतर ऑप्शन है.
  • इसमें मौजूद इलेक्ट्रोलाइट मिनरल हमारे शरीर में फ्लूड बैलेंस बनाए रखने के लिए बहुत जरूरी होते है.
  • इसके अलावा कैल्शियम, मैग्नीशियम, सोडियम और पोटेशियम इसमें मौजूद होते है.
  • कुछ अध्ययनों के अनुसार, एक्सरसाइज करने के बाद हाई इलेक्ट्रोलाइट ड्रिंक्स के बराबर मात्रा में नारियल पानी में हाइड्रेट करने की क्षमता होती है.
  • कोकोनट वाटर से मतली और पेट की समस्या जैसी कंडीशन बहुत कम देखने को मिलती है.

हाइड्रेट रखने का अच्छा सोर्स

  • स्वाद में नारियल पानी हल्का मीठा, नट्स वाला फ्लेवर, कम कैलोरी और कार्ब्स वाला होता है.
  • सीधे नारियल से पिएं जाने पर यह फ्रेश होता है.
  • इसके लिए सीधे हरे नारियल के साफ्ट पार्ट में स्ट्रो डालकर पीया जा सकता है.
  • इसे खरीदकर फ्रीज आदि ठंडी जगह पर रखकर 2 से 3 हफ्तों तक इस्तेमाल किया जा सकता है.
  • इसके अलावा बाज़ार से बोतल बंद नारियल पानी भी लिया जा सकता है, लेकिन खरीदने से पहले इसकी सामग्री जरूर पढ़ लें.
  • इसके तरल को कई सारे फ़ूड में या सादा पानी की जगह नारियल पानी को पीया जा सकता है.

अंत में 

नारियल पानी एक स्वादिष्ट, पोषण मूल्यों से भरपूर और नैचुरल ड्रिंक है जो हमारी सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है. साथ ही इससे हार्ट, ब्लड शुगर, किडनी आदि समस्याओं में भी काफी लाभ मिलता है. अपने रोज़मर्रा के जीवन में इसका उपयोग किया जा सकता है.