Select Page

लाइफ में खुश रहने के तरीके – Tips to Help You Can Choose to Be Happy Life in hindi

लाइफ में खुश रहने के तरीके – Tips to Help You Can Choose to Be Happy Life in hindi

हमेशा खुश कैसे रहें – how to be happy always in hindi

हर किसी के लिए खुशी अलग होती है. कुछ लोगों के लिए शांत जगह पर रहना या कुछ अन्य लोगों के लिए अपने साथ टाइम बिताने से खुशी मिलती है. इसके अलावा बहुत से लोगों को अपने सपने पूरे करना या ऐसे दोस्तों का होना जो आपको बिना किसी कंडीशन आप जैसे है वैसे आपको स्वीकार करते है.

सच्ची खुशी के अलग अलग तरीकों के अलावा सबसे जरूरी है खुशहाल और संतुष्ट जीवन व्यापन करना. अपने रोजाना के जीवन में कुछ आदतों को शामिल करके ऐसा किया जा सकता है.

आदतों से फर्क पड़ता है, अगर आप कोई बुरी आदत छोड़ना चाहते है तो आपको पता होगा कि उन्हें छोड़ पाना कितना मुश्किल होता है.

हालांकि, अच्छी आदतें भी फिक्स की जा सकती है. इसके लिए आपको सकारात्मक आदतों को अपने रूटीन में शामिल करना होगा.

आज इस लेख में हम आपको बताने वाले है जीवन में हमेशा खुश रहने के तरीके और टिप्स इनको अपनी आदतों में शामिल करके खुश रहना सिखा जा सकता है –

जीवन में हमेशा खुश रहने के टिप्स – Happy life tips in hindi

स्माइल करें

  • हम तब हंसते है जब हम खुश होते है इसके दौरान हमारा दिमाग डोपामाइन रिलीज करता है जो हमें खुश बनाता है.
  • लेकिन इसका मतलब यह बिल्कुल नही कि आप हमेशा ज़बरदस्ती हंसते ही रहें.
  • ऐसा तब करना चाहिए जब आप उदास हो या लो महसूस कम रहे हों.
  • दिन की शुरूआत खुद को शिशे में देखकर मुस्कुराने से किया जाता है.

एक्सरसाइज

  • यह सिर्फ शरीर के लिए नही होती है.
  • रेगुलर एक्सरसाइज से तनाव, घबराहट और डिप्रेशन के लक्षण कम होते है.
  • साथ ही इससे आत्मविश्वास बढ़ता है.
  • हल्की फुल्की शारीरिक एक्सरसाइज से काफी फर्क पड़ता है इसके लिए आपको कोई कठिन ट्रेनिंग की जरूरत नही पड़ती है.
  • लेकिन ध्यान रहें कि अचानक से खुद को किसी कठिन एक्सरसाइज में झोंकना नही चाहिए, इससे आपको निराशा हो सकती है.
  • आप रोजाना डिनर के बाद वाल्क के लिए निकल सकते है.
  • आप योग कर सकते है.
  • दिन की शुरूआत 5 मिनट की स्ट्रेचिंग के साथ की जा सकती है.
  • आपको खुश करने वाली एक्टिवीटी को याद करना चाहिए.

पूरी नींद लें

  • आजकल के समय में ज्यादा काम करने को कम नींद लेने से जोड़ा जाता है.
  • लेकिन पूरी नींद लेना हमारे स्वास्थ, दिमाग के फंक्शन और भावनात्मक स्वास्थ के लिए जरूरी होता है.
  • आपको रोजाना 7 से 8 घंटे की नींद की जरूरत होती है.
  • जब भी आपको नींद की जरूरत लगे तो इसका मतलब है कि आपके शरीर को आराम चाहिए.

हेल्दी भोजन खाएं

हमारे परे शरीर पर फ़ूड चॉइंस का असर पड़ता है. कुछ फ़ूड्स आपके दिमाग पर प्रभाव डाल सकते है.

  • कार्ब्स खाने से सेरोटोनिन रिलीज होता है जो खुश रहने वाला हार्मोन होता है. लेकिन ध्यान रहें कि हाई शुगर और स्टार्च वाले फ़ूड्स का सेवन कम से कम करें. जबकि सब्जियाँ, पूर्ण अनाज, बीन्स आदि का सेवन ज्यादा करें.
  • हाई प्रोटीन – दाल, दूध आदि प्रोटीन के सेवन करने से एनर्जी बूस्ट होती है.
  • प्रोसेस्ड और फ्राईड फ़ूड्स न खाएं – इसके हमारे शरीर पर नाकारात्मक प्रभाव पड़ते है. साथ ही भोजन न करने पर भी ऐसा ही होता है.

आभारी रहें

  • इससे आपको मूड को बूस्ट मिलता है और इसके अन्य बेनेफिट्स भी होते है.
  • अध्ययन के अनुसार, आभार व्यक्त करने से आशा और खुशी की भावनाओं पर प्रभाव पड़ता है.
  • हर दिन की शुरूआत इस सोच के साथ करें कि आपके पास जो है आप उसके आभारी है.
  • अपने ऑफिस आदि में दूसरे लोगों से अच्छे से खुशी से बात करें और आने जाने पर नमस्कार आदि करना.
  • इससे आपको अपने आसपास सकारात्मकता रखने में मदद मिलती है.

दूसरों की प्रशंसा करें

  • दया की भावना होना आपको संतुष्ट रहना महसूस कराता है.
  • किसी दूसरे व्यक्ति की प्रशंसा करना उनका दिन बना सकता है और उनको खुश करने के साथ बूस्ट कर सकता है.

गहरी सांस लें

  • टेंशन आदि या यह भावना होना कि आप इसे खो देंगे तो ऐसे में लंबी गहरी सांसे लें.
  • इसके लिए आंखे बंद करें और खुद की कोई सबसे सुखद मेमोरी को याद करें.
  • नाक से धीमी और गहरी सांस लें.
  • जिसके बाद धीरे से ही सांस को नाक या मुंह से छोड़े.
  • इस प्रक्रिया को कुछ बार दोहराने से शांत होने में मदद मिलती है.

नाखुश क्षणों को भी स्वीकार करें

  • सकारात्मक व्यवहार एक अच्छी चीज़ होती है लेकिन खराब बातें भी हमारी लाइफ का ही पार्ट होती है.
  • अगर आपसे कोई गलती हो या कोई गलत खबर मिलें तो ज़बरदस्ती खुश होने की कोशिश न करें.
  • कभी कभी कुछ क्षणों के लिए नाखुश होना भी व्यक्त किया जा सकता है.
  • इससे रिकवर होने में मदद मिलती है.
  • हमेशा याद रखें कि हर कोई हर समय खुश नही रह सकता है.

कुछ लिखें

  • अपनी भावनाओं को लिखना, प्लान बनाना और जानने का सबसे बेहतर तरीका है कि इन्हें लिखा जाएं.
  • इसके लिए आपका कोई लेखक होना जरूरी नही है, इसे आप अपने लिए कर सकते है.
  • रात को सोने से पहले अपनी भावनाओं को लिखें.

तनाव का सामना करना

  • हमारे जीवन में कई तरह की परेशानियाँ और तनाव हो सकते है. जिन्हें नज़रअंदाज़ करना बहुत मुश्किल होता है.
  • साथ ही कभी नज़रअंदाज़ करना भी नही चाहिए.
  • ऐसे में हमेशा याद रखें कि सभी को किसी न किसी बात से तनाव रहता ही है.
  • इसलिए आपको इतना तनाव लेने की जरूरत नही है.
  • इससे आपके मजबूत होने के मौके अधिक हो जाते है.
  • साथ ही इससे आपको ऐसी स्थितियों का सामना करने में मदद मिलती है.

खुशहाल जीवन बिताने के अन्य टिप्स – Tips to Help You Can Choose to Be Happy Life in hindi

  • दोस्तों से मिलें – निजी व खास दोस्त होना हमें खुश बनाता है.
  • चीज़े प्लान करें – आराम से बैठकर पूरे हफ्ते के प्लान बनाएं.
  • कुछ घंटों के लिए बिना फोन के रहें – अपने आस पास के सारे इलैक्ट्रॉनिक उपकरणों का इस्तेमाल हफ्ते में कुछ घंटों के लिए न करें.
  • प्रकृति से जुड़े – हफ्ते में कम से कम 30 मिनट हरियाली में बिताना या गार्डनिंग करने से ब्लड प्रेशर लो करने और डिप्रेशन को कम करने में मदद मिलती है. 
  • मेडिटेशन – खुद को तनाव मुक्त व खुश रखने के सबसे बेहतरीन तरीकों में से एक है.
  • प्रशंसा – अगर प्रशांसा से आपको बूस्ट मिलता है तो दूसरों की भी प्रशंसा करना न भूलें.
  • खुद को समय दें – अगर साथ में कोई जाने वाले न हो तो आप अकेले जा सकते है.
  • लिस्ट बनाए – फोन में सोशल मीडिया पर स्क्रोल करते रहने से बेहतर है कि अपनी अच्छी यादों या जरूरत की चीज़ो की लिस्ट बनाना. इससे लो महसूस होने पर मदद मिलती है.
  • समीक्षा – जैसे नई आदतों को अपनाने के बाद उनकी समीक्षा करनी चाहिए. इससे आप अपने पुराने दोस्तों से फिर से बात कर सकते है.
  • लक्ष्यों का फिर से मूल्यांकन – समय के साथ बदलाव होता है तो ऐसे में मूल्यांकन कर बदलाव करना बेहतर रहता है.
  • अपने शरीर की देखभाल – समय समय पर जांच करवानी चाहिए, जिससे शारीरिक और मानसिक समस्याओं का पता लगाया जा सके.
  • कोई शिकायत न रखें – कहना आसान होता है लेकिन आपको इसे दूसरे इंसान के लिए नही करना है. कभी कबी माफ करने से आगे बढ़ने में मदद मिलती है.