Select Page

अपच की समस्या के कारण और घरेलू उपचार – Indigestion causes and home remedies in hindi

अपच की समस्या के कारण और घरेलू उपचार – Indigestion causes and home remedies in hindi

हमारे सामने हमारा पसंदीदा फ़ूड आना हमारे टेस्ट बड्स को उत्तेजित कर देता है. लेकिन अगर आप बहुत जल्दी या अपने पसंदीदा भोजन को बहुत ज्यादा खाते है तो आपको अपच की समस्या का अनुभव हो सकता है.

अपच की समस्या जिसे चिकित्सीय भाषा में डिसपेप्सिया कहा जाता हैं और यह पेट में भोजन पचाने वाले रसायनों की कमी और तेज मसाले वाला खाना खाने के कारण होती हैं. इसके अलावा अपनी भूख से ज्यादा भोजन खा लेने के कारण भी यह समस्या हो सकती हैं.

इसके लक्षणों में भोजन खाने के बाद पेट फूलना, दर्द महसूस होना या पेट के ऊपरी हिस्से में जलन आदि महसूस होना होता है.

अपच के दौरान काफी सारे लोगों को बहुत ज्यादा गैस, उल्टी, पेट में दर्द, सीने या पेट में जलन आदि जैसी परेशानियाँ हो सकती हैं. 

अपच कोई रोग नही है लेकिन यह गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याएं जैसे अल्सर, गैस्ट्राइटिस या एसिड रिफ्लक्स हो सकता है.

जीवन में कभी न कभी हम में से काफी सारे लोगों को किसी न किसी समय अपच की समस्या का सामना करना पड़ता है. इसके लिए बहुत से लोग एंटासिड जैसी ओटीसी दवाओं का भी उपयोग करते है. इसके अलावा लोग अपने घर की रसोई में मौजूद वस्तुओं का उपयोग कर अपच के घरेलू उपचार भी लेते है. 

आज इस लेख में हम आपको बताने वाले है अपच की समस्या के कारण और घरेलू उपचार –

अपच के कारण – causes of indigestion in hindi

यह ज्यादा मसालेदार या तला हुआ खाना खाने के कारण हो सकता है. साथ ही भोजन के तुरंत बाद बैठ जाना या लेटने से हमारे शरीर के लिए भोजन को पचाना काफी मुश्किल हो जाता है. इसके अलावा अपच के कारण निम्न हो सकते है –

  • स्मोकिंग
  • शराब का सेवन ज्यादा करना
  • दवाओं के साइड इफेक्ट

निम्न लाइफस्टाइल और खाने पीने की आदतों जैसे –

  • एसिड रिफ्लक्स रोग (गर्ड)
  • पेप्टिक अल्सर
  • ग्रैस्ट्रिक कैंसर आदि

अपच की समस्या के घरेलू उपचार – indigestion home remedies in hindi

सेब का सिरका

  • अपच से राहत के लिए एक चम्मच कच्चे सेब के सिरका को एक कप पानी में मिलाएं.
  • फिर इसमें एक चम्मच कच्चा शहद मिलाएं.
  • इसे दिन में दो से तीन बार पीएं.

नींबू पानी

  • हल्के गर्म पानी में कुछ चम्मच नींबू का रस मिलाएं.
  • खाना खाने से पहले इसे पीएं
  • यह न सिर्फ अपच के लिए बल्कि मुंह और दांतों के लिए भी अच्छा होता है.

सौंफ

  • सौंफ के दानों को तवे पर हल्का सा गर्म करें और उसका पाउडर बना लें.
  • पानी के साथ इस पाउडर को दिन में दो बार लेने से अपच से राहत मिलती हैं. साथ ही यह माउथ फ्रेशनर की तरह काम भी करती हैं.

अदरक

  • दरक के छोटे छाटे टुकड़ों पर नमक डालकर उन्हें चबाया जा सकता हैं.
  • इसके अलावा दो चम्मच अदरक के रस में नींबू का रस और थोड़ा सा काला नमक मिलाकर बिना पानी के पीने से बेहद राहत मिलती हैं.
  • अदरक के रस और शहद को गुनगुने पानी के साथ भी लिया जा सकता हैं.
  • अदरक की चाय या खाना बनाने में अदरक का प्रयोग बेहद लाभ देता हैं.

मुलेठी

  • यह अपच को बढ़ाने वाले कारणों पर काम करके असर करती है.
  • इससे लाभ लेने के लिए सीधे मुलेठी को चबा सकते है.
  • इसके अलावा मुलेठी को गर्म उबलते हुए पानी में डालकर इसके रस को पीया जा सकता है.
  • यह हाई बीपी की समस्या में भी लाभ देती है.
  • भोजन खाने से कम से कम 30 मिनट या एक घंटे पहले इसका सेवन करना चाहिए.

बेकिंग सोडा

  • अपच से बचने के लिए बेकिंग सोडा सबसे अच्छा घरेलू उपाय हैं.
  • आधे गिलास पानी में थोड़ा सा बेकिंग सोडा मिलाएं और उसे पीएं.
  • इससे तुरंत राहत मिलती हैं.

अजवायन

  • इसका इस्तेमाल पेट को ठीक रखने और खाने को पचाने के साथ-साथ पेट के दर्द में आराम देने के लिए भी होता हैं.
  • इसके लिए सबसे पहले सौंठ और अजवायन को मिलाकर पाउडर बनाएं.
  • एक चम्मच पाउडर में काली मिर्च मिलाएं और गर्म पानी के साथ पीएं.
  • इसे दिन में एक या दो बार पी सकते हैं.
  • इसके अलावा अजवायन के दानों को मुँह में रखकर चबाने से भी आराम मिलता हैं.

नमकीन छाछ

  • भोजन के साथ नमकीन छाछ का इस्तेमाल भी आपकी पाचन शक्ति को बढ़ाता हैं.
  • रात के समय दही की जगह छाछ में काला नमक और भुना हुआ जीरा डालकर पीएं.
  • पेट में जलन होने पर इसके सेवन से राहत मिलती हैं.
  • इसके अलावा सुबह नाश्ते में और दोपहर के खाने में छाछ लेना अच्छा होता हैं. वहीं गर्मियों में इसका सेवन पेट के साथ-साथ पूरे शरीर के लिए लाभदायक होता हैं.

हर्बल चाय

  • पुदीना या ग्रीन टी पाचन शक्ति को अच्छा करती हैं.
  • भोजन के बाद एक कप हर्बल टी पीने से खाना जल्दी पचता हैं.
  • इसके सेवन से पेट में फैट भी जमा नहीं होती हैं.

इन सभी अपच की समस्या के घरेलू उपचार को अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में उपयोग कर आप इस समस्या से निदान पा सकते है और खुद को इस परेशानी से दूर रख सकते हैं.

डॉक्टर को कब दिखाएं – when to see a doctor in hindi

अपच एक आम समस्या है लेकिन इसे नज़रअंदाज नही किया जाना चाहिए. लगातार अपचन की समस्या बना रहना क्रोनिक पाचन समस्या जैसे एसिड रिफ्लक्स, गैस्ट्राइटिस और पेट का कैंसर भी हो सकता है. अगर अपचन कुछ हफ्तों तक जारी रहता है या गंभीर दर्द या अन्य लक्षण का अनुभव होता है जैसे –

  • वजन कम होना
  • भूख न लगना
  • उल्टी
  • थकान
  • निगलने में परेशानी
  • काले मल आदि

अंत में

पेट में समस्या होने पर काफी सारे परेशानियाँ हो सकती है. जबकि अपच की समस्या लंबे समय तक बने रहना कई सारे रोगों के होने का संकेत हो सकता है. किसी भी गंभीर लक्षण होने पर तुरंत चिकित्सक से सहायता ली जानी चाहिए.

डॉक्टर को दिखाने से वह आपकी स्थिति का निदान कर आपको बेहतर उपचार शुरू करेंगे जिससे अच्छी गुणवत्ता वाला जीवन जीने में मदद मिलें.