Select Page

रनिंग इंजरी से बचाव के तरीके – best ways to prevent running injuries in hindi

रनिंग इंजरी से बचाव के तरीके – best ways to prevent running injuries in hindi

रनिंग या कहे दौड़ एक ऐसी एक्सरसाइज है, जो न केवल लोगों को ऊर्जा देने बल्कि बाकी दिनों के मुकाबले अच्छा महसूस कराने की एक अद्वितीय क्षमता रखती है. दौड़ लगाने या वाल्क करने के बहुत से फायदे होते है इससे न केवल हम अच्छी कैलरी बर्न कर सकते है लेकिन चर्बी घटाने के लिए भी रनिंग करना अच्छा साबित होता है.

जबकि यह कहना भी उचित है कि दौड़ के दौरान इंजरी इतना निराशाजनक हो सकता है कि जिससे न सिर्फ आपकी सेहत पर असर पड़ता है बल्कि यह संपूर्ण हेल्थ के लिए बहुत ज्यादा हानिकारक होता है.

दौड़ के दौरान होने वाली इंजरी से बचा जा सकता है. इसके लिए जरूरी होता है कि दौड़ने वाला धावक या धाविका इससे जुड़ी जरूरी जानकारी रखें. ऐसा करने से वह लंबे समय तक खुद को फिट रख सकते है. इसमें सबसे आम है उन अभ्यासों को करना जो उन क्षेत्रों और मांसपेशियों के समूहों की मदद करने के लिए लक्षित होते हैं जो किसी भी व्यक्ति के चलने पर बनते हैं.

अगर आसान शब्दों में समझने की कोशिश करें तो चलने या दौड़ने के दौरान प्रयोग होने वाली मांसपेशियां आदि के बारे में पता होना हमें चोट लगने से बचा सकता है. इसके लिए कुछ एक्सरसाइज है जिनमें –

वाल प्रेस

वाल प्रेस एक काफी प्रसिद्ध एक्सरसाइज है जो चोट के जोखिम के बिना काफी अच्छे लाभ देती है! यह ग्लूटस मेडियस मांसपेशी पर चलने की प्रक्रिया के प्रभाव को अनुकरण करती है.

ऐसा करने के लिए, एक व्यक्ति को वाल के पास एक तरफ खड़े होने की आवश्यकता होती है. फिर, घुटने को 90 डिग्री के कोण पर झुकाना है ताकि 20 से 30 सेकंड के बीच की अवधि में दीवार पर इसे दबाने से पहले सक्रियण के लिए मांसपेशियों को तैयार किया जा सके.

यह अभ्यास चमत्कार कर सकता है! हालांकि, ऐसा करने वाले व्यक्ति को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि एक्सरसाइज़ करते समय उसका कंधा दीवार को न छुए.

इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए कि पूरा पैर एक ऐसी इकाई है जिसे आसानी से चलना है ताकि चोट से बचा जा सके, एकरूपता लाने के लिए ताकत का निर्माण किया जाना चाहिए.

एक पैर पर संतुलन बनाना

याद रखें, यह असंतुलन है जो बहुत अधिक चोटों का कारण बनता है! एक और एक्सरसाइज करनी चाहिए जिसमे एक पैर से जमीन पर संतुलन बनाये रखना है.

इस व्यायाम के प्रभावों का कूल्हे तक लाभकारी प्रभाव पड़ता है! व्यायाम बहुत सरल है और इसे अधिमानतः नंगे पैर से किया जाना चाहिए. तीन से चार रेप की सिफारिश की जाती है, जब तक संभव हो अपनी एड़ी को जमीन पर रखना चाहिए.

स्टैंडिंग जंप

स्टैंडिंग जंप काफी सरल लग सकता है, लेकिन वे वास्तव में एक महत्वपूर्ण प्रभाव डाल सकते हैं! मध्यम ऊंचाई और पर्याप्त चौड़ाई के एक कदम पर कूदने से इसमें शामिल मांसपेशियों की लोच बढ़ जाती है और कुछ कैलोरी भी बर्न होती हैं!

Share:

About The Author

Ankita Singh

Professional healthcare writer, House wife, Freelancer, Hate so called feminist & Travel bud. Queries, Questions, Suggestions regarding my work are most welcome.