Select Page

किडनी स्टोन के लक्षण – kidney stones symptoms in hindi

किडनी स्टोन के लक्षण – kidney stones symptoms in hindi

किडनी स्टोन, सॉल्ट और मिनरल का हार्ड कलैक्शन होता है जो कैल्शियम और यूरिक एसिड से बने होते है. यह किडनी के अंदर बनते है और यूरिनरी ट्रैक्ट के हिस्सों तक पहुँच जाता है.

स्टोन साइज में अलग हो सकते है. कुछ बहुत छोटे होते है जबकि कुछ थोड़े बड़े हो जाते है जो किडनी पर असर डालते है.

जब शरीर में कुछ प्रकार के मिनरल की मात्रा अधिक हो जाती है और यूरिन के जरिए बढ़ने लगते है तो किडनी में स्टोन बनने लगते है. ऐसा शरीर में पानी की कमी के कारण होता है जिसके चलते कुछ मिनरल को लेवल हाई हो जाता है और स्टोन का गठन होने लगता है. 

छोटे किडनी स्टोन के कोई लक्षण नही दिखते है. जबतक स्टोन यूरेटर में नही जाता, तब तक इसके कोई लक्षण देखने को नही मिलते है.

किडनी स्टोन में काफी तेज़ दर्द होता है. काफी सारे स्टोन लगभग अपने आप बिना ट्रीटमेंट के निकल जाते है. हालांकि, जो स्टोन अपने आप नही निकलते उनको तोड़ने या हटाने के लिए आपको प्रोसीज़र की जरूरत पड़ती है. आज इस लेख में हम आपको बताने वाले है किडनी स्टोन के लक्षण – 

किडनी स्टोन के लक्षण – kidney stones symptoms in hindi

यूरिन में बदबू या सफेद रंग का होना

  • हेल्दी यूरिन साफ रंग का होता है और इसमें गंध नही होती है.
  • जबकि सफेद या बदबूदार पेशाब किडनी या यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन का लक्षण होता है.
  • पेशाब में पस या बदबू बैक्टीरिया के कारण होती है.
  • आमतौर पर भी पेशाब में हल्की बदबू रहती है.

कमर, पेट या साइड में दर्द

  • इन्हें रेनल कॉलिक के रूप में जाना जाता है, इसका दर्द बहुत ज्यादा तीव्र होता है.
  • जो लोग किडनी स्टोन की समस्या का अनुभव करते है वे इसकी तुलना चाकू के वार और शिशु को जन्म देने वाले दर्द से करते है.
  • जब स्टोन यूरेटर के संकिंड भाग में जाते है तब दर्द का अनुभव होता है. 
  • इसके कारण किडनी में प्रेशर बनता है और ब्लॉकेज़ हो जाती है.
  • स्टोन के एक से दूसरी जगह पर जाने और तीव्रता के कारण यह अचानक से शुरू होता है.
  • यह दर्द आता और जाता रहता है, ऐसा इसलिए होता है क्योंकि यूरेटर स्टोन को पुश करते है.
  • इस तरह का दर्द कुछ मिनटों तक महसूस होता है और आता जाता रहता है.
  • छोटे स्टोन की तुलना में बड़े स्टोन से ज्यादा दर्द होता है.
  • लेकिन ऐसा जरूरी नही कि बड़ा स्टोन होने पर ही दर्द महसूस हो, छोटे स्टोन से भी दर्द और ब्लॉकेज हो सकती है.

थोड़ा – थोड़ा पेशाब आना

पेशाब के दौरान दर्द या जलन

  • जब स्टोन यूरेटर और ब्लैडर के बीच में आता है तो पेशाब के दौरान दर्द महसूस होने लगता है.
  • इसे डायसूरिया कहा जाता है.
  • इस प्रकार का दर्द तीव्र और जलन के साथ होता है.
  • अगर आपको किडनी स्टोन नही है तो आपको यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन हो सकता है.
  • जबकि कभी कभी आपको स्टोन के साथ दर्द हो सकता है.

मतली और उल्टी

  • किडनी स्टोन की समस्या से पीड़ित लोगों में मतली और उल्टी होना काफी आम है.
  • ऐसा इसलिए होता है क्योंकि किडनी और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट की नसों में आपस में कनेक्शन होता है.
  • किडनी में स्टोन के कारण कब्ज की समस्या हो सकती है.

ज्यादा पेशाब आना

  • बार बार पेशाब करने की जरूरत या आम से ज्यादा पेशाब आना स्टोन की का लक्षण हो सकता है.
  • इसके अलावा यह स्टोन के यूरिनरी ट्रैक्ट में लोवर पार्ट में आने पर भी ऐसा हो सकता है.

बुखार और ठंड लगना

  • किडनी इंफेक्शन या यूटीआई के कारण बुखार और ठंड लगना हो सकता है.
  • इसके अलावा यह काफी सारी अन्य स्वास्थ समस्याओं के कारण हो सकता है.
  • बुखार के साथ किसी भी प्रकार के दर्द के लिए तुरंत मेडिकल सहायता की जरूरत पड़ती है.

पेशाब में ब्लड आना

  • पेशाब में ब्लड आना यूरिनरी ट्रैक्ट के सबसे आम लक्षणों में से एक है.
  • इस समस्या को हैमाटूरिया कहा जाता है.
  • यह ब्लड गुलाबी, लाल या ब्राउन रंग का हो सकता है.
  • काफी सारे मामलों में ब्लड सेल्स को बिना माइक्रोस्कोप के देखना मुश्किल हो सकता है.

अंत में

किडनी स्टोन सॉल्ट, मिनरल का हार्ड कलैक्शन होते है जो यूरिनरी सिस्टम के अन्य भागों तक पहुँचते है.

स्टोन के कारण लक्षण जैसे दर्द, पेशाब करने में परेशानी, सफेद पेशाब या यूरिन में बदबू, मतली और उल्टी हो सकती है.

कुछ स्टोन अपने आप निकल जाते है. जबकि अन्यों को साउंड वेव्स या सर्जरी के जरिए तोड़कर या हटाया जाता है.

इसके अलावा निम्न लक्षणों के दिखने पर तुरंत डॉक्टर से सलाह ली जानी चाहिए. इन लक्षणों का दिखना इंफेक्शन या अन्य गंभीर समस्याओं का संकेत हो सकते है जैसे – गंभीर दर्द, मतली, उल्टी, बुखार या ठंड लगना, यूरिन में ब्लड, पेशाब करने में परेशानी आदि.