Select Page

स्टीम रूम के फायदे – steam room benefits

स्टीम रूम एक छोटा कमरा होता है जिसमें गर्म भाप होती है. तापमान में भिन्नता है, लेकिन स्टीम रूम में तापमान को आमतौर पर 110 ° F के आसपास रखा जाता हैं.

आपने जिम या स्पा में स्टीम रूम देखे हो सकते है. आज इस लेख में हम आपको बताने वाले है स्टीम रूम के फायदों के बारे में –

स्टीम रूम के फायदे – steam room benefits

वर्कआउट रिकवरी में मदद

  • वर्कआउट के बाद महसूस किए जाने वाला दर्द के लिए एथलीटों द्वारा कई दशकों से हीट थेरेपी का इस्तेमाल होता आ रहा है. (जानें – पैरों में क्रैम्प आने पर क्या घरेलू इलाज लें)
  • एथलीटों द्वारा हीट थेरेपी लिए जाने से रिकवर करने में मदद मिलती है.
  • हीट मांसपेशी टिश्यू के अंदर गहराई में जाकर दर्द से राहत देते है.

इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने

  • शरीर को गुनगुने पानी के सामने एक्सपोज करने से ल्यूकोसाइट्स प्रोत्साहित होते है उनको इंफेक्शन से लड़ने वाले सेल्स के रूप में भी जाना जाता है.
  • सर्दी जुकाम होने पर स्टीम रूम में बैठने से बेहतर लाभ मिलता है.
  • नियमित रूप से स्टीम लेने से आपके ब्लडस्ट्रीम को इम्यूनिटी मिलती है जिससे आप कम बिमार पड़ते है.

तनाव कम करने

  • स्टीम रूम में रहने से आपके शरीर में कोर्टिसोल का उत्पादन भी कम हो सकता है.
  • कोर्टिसोल हार्मोन है जो तनाव के स्तर को नियंत्रित करता है जिसे आप महसूस करते हैं.
  • जब आपका कोर्टिसोल का स्तर गिरता है, तो आप नियंत्रण में और आराम महसूस करते हैं.
  • कुछ मिनट आराम की स्थिति में बिताने से न केवल आपके स्वास्थ्य में सुधार होता है, बल्कि यह आपके दिमाग को ठीक करने और आपकी एकाग्रता को बेहतर बनाने में भी मदद करता है.

लो ब्लड प्रेशर

  • रिसर्च में देखने को मिला है कि कुछ लोगों का शरीर स्टीम रूम में हार्मोन रिलीज करता है जिससे हार्ट रेट में बदलाव होता है. (जानें – हाई ब्लड प्रेशर के बारे में)
  • इन्हीं हार्मोन में से एक एल्डोस्ट्रोन होता है जो ब्लड प्रेशर को रेगुलेट करता है.
  • स्टीम रूम में बैठने पर एल्डोस्ट्रोन रिलीज होता है जो हाई ब्लड प्रेशर को कम करता है.
  • इसका अर्थ होता है कि स्टीम रूम आपको रिलैक्स महसूस कराता है.

सख्त जॉइंट को ढ़ीला करने

  • एक्सरसाइज करने से पहले वार्म अप कर लेने से चोट से बचा जा सकता है.
  • अपने वार्म अप के हिस्से के रूप में स्टीम रूम का उपयोग करने से आपको दौड़ने, पिलाटे और योग जैसी गतिविधियों के दौरान अधिकतम गतिशीलता तक पहुंचने में मदद मिल सकती है.
  • एक अध्ययन के अनुसार, किसी एक्टिविटी से पहले घुटने के जॉइंट पर हीट लगाने से ज्यादा रिलैक्स और लचीलापन मिलता है. (जानें – घुटनों में दर्द के घरेलू उपाय)
  • साथ ही देखने को मिला है कि वर्कआउट से पहले हीट लेने से इंजरी का रिस्क कम हो जाता है.

कंजेशन को साफ करने

  • स्टीम रूम एक वातावरण बनाते हैं जो म्यूकस मेमब्रेन को गर्म करता है और गहरी सांस लेने को प्रोत्साहित करता है.
  • नतीजतन, एक का उपयोग करना आपके साइनस और फेफड़ों के अंदर जमाव को तोड़ने में मदद कर सकता है.
  • घर पर जुकाम और साइनस संक्रमण के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाने वाली स्टीम थेरेपी विवादास्पद है क्योंकि अगर आप इसे गलत तरीके से करते हैं तो आपको परेशान करने की क्षमता रखती है.
  • लेकिन स्टीम रूम तुलनात्मक रूप से सुरक्षित हैं, जब तक आप बहुत लंबे समय तक अंदर नहीं रहते.
  • एक पुराने अध्ययन में देखने को मिला है कि बच्चों को स्टीम थेरेपी देने से सांस लेने वाली समस्याओं से तेज़ी से रिकवर करने में मदद मिलती है. (जानें – चेस्ट कंजेशन के घरेलू उपाय)
  • बुखार होने पर स्टीम रूम का उपयोग नहीं करना चाहिए.

कैलोरी बर्न करने

  • जब आप स्टीम रूम या सॉना में होते हैं, तो आपकी हृदय गति बढ़ जाती है.
  • यदि आप एक एरोबिक एक्सरसाइज के बाद स्टीम रूम का उपयोग करते हैं, तो आपकी हृदय गति पहले से ही ऊँची है और स्टीम रूम उस ऊँचाई को लम्बा कर सकता है.
  • सही उपयोग करने से सॉना और स्टीम रूम शरीर को बेहतर लाभ देते है.
  • जल्दी से अपना वजन कम करने के लिए स्टीम रूम में बाहर पसीना आना एक उपकरण नहीं है.
  • स्टीम रूम में आपके द्वारा खो दिया गया कोई भी वजन पानी का वजन है और आपको निर्जलीकरण से बचने के लिए पीने के पानी को बदलने की आवश्यकता होगी. (जानें – फैट बर्न करने के बेस्ट तरीके)
  • लेकिन जिम में अधिक कैलोरी जलाने के तरीके के रूप में नियमित रूप से स्टीम रूम का उपयोग करना आपके आहार और व्यायाम की दिनचर्या को अधिक प्रभावी बनाने में मदद कर सकता है.

सर्कुलेशन अच्छा करने

  • स्टीम रूम में बैठने से आपकी कार्डियोवस्कुलर हेल्थ काफी बेहतर होती है.
  • विशेष रूप से चरम सीमाओं में, अधिक आयु वाले व्यक्तियों के एक अध्ययन से पता चला है कि नम गर्मी से सर्कुलेशन में सुधार होता है.
  • बेहतर सर्कुलेशन लो ब्लड प्रेशर और हेल्दी हार्ट का कारण बन सकता है.
  • साथ ही इससे टूटे हुए स्किन टिश्यू को भरने में मदद मिलती है.

स्किन हेल्थ को अच्छा करने

  • वातावरण में एक्सपोजर के कारण सबी प्रकार के टॉक्सिन आपके स्किन के नीचे फंस जाते है.
  • स्टीम रूम में बैठने से गर्मी के कारण स्किन के छिद्र खुल जाते है जिससे टॉक्सिन निकल जाते है.
  • साथ ही इससे डैडस्किन भी निकल जाती है जिससे स्किन ज्यादा टोन्ड और साफ नज़र आती है. (जानें – पैरों से डैडस्किन को कैसे हटाएं)

स्टीम रूम बनाम सॉना

  • स्टीम रूप और सॉना काफी मिलते जुलते होते है.
  • इन दोनों में ही एक छोटे गर्म स्टीम वाले रूम में बैठकर हेल्थ बेनेफिट्स उठाएं जाते है.
  • लेकिन स्टीम रूम और सॉना में अंतर गर्मी के प्रकार पर निर्भर करता है.
  • सॉना में सूखी हीट का उपयोग होता है.
  • जबकि स्टीम रूम में पानी को उबालकर स्टीम बनाई जाती है.
  • सॉना की मदद से मांसपेशियों को ढीला और रिलैक्स करने में मदद करता है.
  • लेकिन स्टीम रूम जैसे इसके लाभ नहीं होते है.

स्टीम रूम उपयोग करने की सीमा और रिस्क

  • स्टीम रूम के कई सारे हेल्थ बेनेफिट्स होते है लेकिन ज्यादा उपयोग करने से नुकसान भी हो सकता है.
  • स्टीम रूम में 15 मिनट से अधिक समय तक रहने से आपका शरीर में पानी की कमी हो सकती है.
  • साथ ही स्टीम रूम में दूसरे लोगों के जर्म भी होते है.
  • यह स्टीम रूम इतने गर्म नहीं होते है कि कुछ विशेष प्रकार के बैक्टीरिया को मार दें.
  • जबकि इसके अंदर मौजूद गर्मी के कारण बैक्टीरिया बढ़ सकते है.
  • अकेले स्टीम रूम गंभीर समस्याओं का इलाज नहीं कर सकते है.
  • हार्ट रेट बढ़ने के कारण एक्सरसाइज ज्यादा प्रभावी हो जाती है लेकिन इसके मतलब यह नहीं कि एक्सरसाइज के स्थान पर आप इसे करें.
  • गर्भवती होने, सर्जरी से रिकवर करने, इम्यूनिटी ठीक नही होने के मामलों में डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही स्टीम रूम का उपयोग करना चाहिए.

अंत में

वर्कआउट के बाद वाले रूटीन में स्टीम रूम का उपयोग करना आपको हेल्दी रखने के अलावा बेहतर रिकवरी में मदद कर सकता है. (जानें – पानी का वजन कैसे कम करें)

ध्यान रहें कि स्टीम लेने को डॉक्टर द्वारा प्रीस्क्राइब किसी ट्रीटमेंट से रिप्लेस न करें. हमेशा अच्छी हाइजिन की प्रैक्टिस करें, स्टीम रूम में टावल पहनकर बैठे और बाद में गुनगुने पानी से शॉवर लें जिससे स्टीम रूम में बैठते समय मिलने वाले बैक्टीरिया निकल जाए.

References –

 

Share:

About The Author

Kartik bhardwaj

Hi, I have an experience of more than 6 years Ex - Tangerine(To the New), DD News, ABP News, RSTV, Express Magazine and Lybrate Inc.