इस लेख में आप जानेंगे कुत्तों से जुड़े रोचक तथ्यों के बारे में –

कुत्तों से जुड़े फैक्ट्स – what are fun facts about dogs

  • इंसानों की ही तरह कुत्तों का भी यूनिक प्रिंट होता है जी हां, इंसानों में जहां हाथों के प्रिंट अलग होते है वहीं कुत्तों में नाक का प्रिंट यूनिक होता है. इसी से कुत्तों की पहचान होती है.
  • कुत्ते की नाक गर्मी या थर्मल रेडिएशन को महसूस कर सकती है जिस कारण कुत्ते के अंधा या बहरा होने पर भी वह शिकार कर सकता है.
  • आपने नोटिस किया होगा कि आपको उबासी आती है वैसे ही कुत्तों को भी उबासी आती है. लेकिन कुत्ते के लिए यह संक्रामक हो सकता है.
  • इंसानों की तुलना में कुत्तों के सूंघने की क्षमता 40 गुना बेहतर होती है.
  • ऐसा इसलिए क्योंकि मानव शरीर की तुलना में कुत्ते के दिमाग का गंध पता लगाने वाला हिस्सा 40 गुना बड़ा होता है.
  • इसी कारण कुत्ते को कई सारी चीज़ों का पता लगाने के लिए उपयोग किया जाता है.
  • दुनिया में अबतक सबसे ज्यादा हाइट वाला कुत्ता 44 इंच लंबा रहा है.
  • जबकि कुत्ते की एक प्रजाती ग्रेहाउंड लंबी दूरी की रेस में चीता को भी हरा सकता है.
  • इसके अलावा कुत्तों के तीन पलके होती है.
  • आपने शायद सुना हो कि कुत्ते कलर ब्लाइंड होते है लेकिन ऐसा नहीं है, कुत्तों को नीला और पीला रंग दिखता है.
  • कुत्तों को 1700 के करीब टेस्ट बड्स होते है जबकि इंसान के पास 2000 से लेकर 10000 के बीच.
  • दुनिया के इतिहास का अबतक का सबसे छोटा कुत्ता 3.8 इंच लंबा और करीब एक पाउंड वजन का रहा है.
  • कुत्तों को इंसानों की तरह पसीना नहीं आता है.
  • इंसानों की ही तरह कुत्ते भी राइटी या लेफ्टी होते है.
  • कुछ कुत्ते नैचुरल तैराक होते है.
  • वैज्ञानिकों का मानना है कि कुत्तों को भी इंसानों की ही तरह सपने आते है, जिसमें रोजमर्रा की जिंदगी की घटना आदि शामिल होना है.
  • आयु की बात करें तो औसतन कुत्ते की आयु 10 से 13 साल के बीच होती है.
  • ऐसा माना जाता है कि इंसान के जीवन के 7 साल और कुत्ते के जीवन का एक साल बराबर होता है.
  • दुनिया में अब तक सबसे अधिक आयु वाला कुत्ता 29 साल 160 दिन तक रहा है.
  • साउथ अफ्रीकी कुत्तों को शिकारी माना जाता है ऐसा कहा जाता है कि यह कुत्ते शेर का शिकार करने में सक्ष्म होते है इनकी ब्रीड का नाम रिजबैक होता है.
  • कुत्तों की कुछ ब्रीड मेडिकल समस्या का पता लगाने में भी सक्ष्म है.
  • कुत्ते के पिल्ले जन्म से बेहरे पैदा होते है और तीन हफ्ते की आयु के आस पास उनके सुनने की क्षमता विकसित होती है.
  • डेलीमोशन नाम की कुत्तों की प्रजाती सफेद पैदा होती है और आयु बढ़ने के साथ ही उनके शरीर पर स्पॉट विकसित होते है.
  • एक ही समय पर सांस लेने के साथ ही कुत्ते गंध की पहचान भी कर सकते है.
  • इंसान की तुलना में कुत्ते कही ज्यादा तेज़ फ्रीक्वेंसी को सुन सकते है. साथ ही सॉफ्ट साउंड को भी बहुत जल्दी सुन सकते है.
  • कुत्ते की बॉडी लेंग्वेज उसके कानों द्वारा सुने और महसूस किए जाने पर निर्भर करती है.
  • अध्ययनों में देखने को मिला है कि कुत्ता 100 से अधिक शब्द और जेस्चर सीख सकता है. जिस कारण इन्हें निजी कामों से लेकर सेना द्वारा उपयोग में लिया जाता है. 
  • कुत्तों के कान को कंट्रोल करने के लिए 18 मांसपेशियां काम करती है. जो कानों की दिशा, मूवमेंट, आदि पर आधारित होती है. (जानें – बिल्ली से जुड़े तथ्यों के बारे में)

References –

 

Share: