Select Page

ब्लड शुगर लेवल को नैचुरल तरीके से कैसे कम करें – how to control blood sugar level naturally in hindi

ब्लड शुगर लेवल को नैचुरल तरीके से कैसे कम करें – how to control blood sugar level naturally in hindi

हाई ब्लड शुगर की स्थिति तब होती है जब हमारा शरीर ब्लड के जरिए सेल्स तक शुगर को प्रभावी रूप से पहुँचाने में सक्षम नही होता है. समय पर रोकथाम न करने पर यह डायबीटिज़ का रूप ले सकता है.

जबकि बहुत से लोगों को पता नही होता है कि ब्लड शुगर के लेवल को कंट्रोल कैसे करें तो आज इस लेख में हम आपको बताने वाले है ब्लड शुगर लेवल कम करने के उपाय –

प्राकृतिक रूप से ब्लड शुगर के लेवल कंट्रोल कैसे करें – how to control blood sugar level naturally in hindi

फाइबर ज्यादा लेना

  • इसका काम कार्ब के पाचन और शुगर अवशोषण को धीमा करके काम करती है.
  • इस कारण ब्लड में शुगर के लेवल बढ़ने लगते है.
  • आप किस प्रकार की फाइबर खाते है ब्लड शुगर के स्तर उसपर निर्भर करते है. 
  • फाइबर दो प्रकार की होती है – घूलनशील और अघूलनशील.
  • दोनों तरह की फाइबर जरूरी होती है.
  • ब्लड शुगर के लिए घूलनशील फाइबर को ज्यादा प्रभावी माना जाता है.
  • हाई फाइबर डाइट लेने से टाइप 1 डायबीटिज़ वाले लोगों को मदद मिलती है.

रोजाना एक्सरसाइज

  • रोज एक्सरसाइज करने से वजन कम करने में मदद मिलेगी.
  • साथ ही इससे इंसुलिन संवेदनशीलता बेहतर होती है.
  • इंसुलिन संवेदनशीलता बेहतर होने हमारे सेल्स, खून में शुगर का बेहतर उपयोग कर पाते है.
  • एक्सरसाइज करने से मांसपेशियाँ बनने के साथ ब्लड शुगर को एनर्जी के लिए उपयोग में लिया जाता है.
  • अगर आपको ब्लड शुगर कंट्रोल करने को लेकर कोई समस्या है तो इसकी नियमित जांच होनी चाहिए.
  • इससे आपको अलग अलग काम करने पर ब्लड लेवल कम या ज्यादा होने वाली समस्या से निजात मिलेगा.
  • अच्छी एक्सरसाइज में – वजन उठाना, वाल्क करना, दौड़ना, साईकल चलाना, डांस करना, स्वीमिंग आदि कर सकते हैं.

कार्ब्स पर कंट्रोल करें

  • हमारा शरीर कार्ब्स को तोड़कर ग्लूकोज को बनाता है जिसके बाद इंसुलिन इसे सेल्स में पहुँचा देती है.
  • जब आप बहुत ज्यादा कार्ब्स खाते है या इंसुलिन फंक्शन में समस्या होती है तो ब्लड शुगर का लेवल बढ़ जाता है.
  • काफी सारे अध्ययनों में देखने को मिला है कि लो कार्ब डाइट से ब्लड शुगर लेवल कम करने में मदद मिलती है.

लो ग्लाईसेमिक इंडेक्स वाले फ़ूडस

  • कार्ब्स वाले फ़ूडस के कारण ब्लड शुगर के रिसपोंस के चलते इस तत्व का निर्माण होता है.
  • लो ग्लाईसेमिक भोजन खाने से ब्लड शुगर लेवल को कम रखा जा सकता है.
  • इस भोजन के साथ कार्ब्स की मात्रा का भी ध्यान रखना जाना चाहिए.
  • इसके लिए ओट्स, बीन्स, शकरकंद, फल और बिना स्टार्च वाले फ़ूड्स लेने चाहिए.

वजन कंट्रोल रखना

  • आप क्या खाते है इसका ध्यान रखना न सिर्फ कैलोरी के सेवन को सीमित करने बल्कि वजन घटाने में भी मदद करता है.
  • वजन पर कंट्रोल रखने से ब्लड शुगर लेवल हेल्दी बने रहते है.
  • जिससे रोगों का खतरा कम हो जाता है.
  • नियमित रूप से ब्लड शुगर लेवल की जांच और कैलोरी जांच से वजन कंट्रोल किया जा सकता है.

पानी की कमी न होने दें

  • सही मात्रा में पानी पीने से ब्लड शुगर के लेवल को सीमित रखा जा सकता है.
  • साथ ही इसस शरीर को पानी की कमी होने से बचाया जा सकता है.
  • इससे किडनी साफ होने और पेशाब के जरिए एक्सट्रा शुगर शरीर से बाहर निकल जाती है.
  • नियमित रूप से पानी पीने से रोगों का खतरा कम हो जाता है.
  • जबकि सोडा या बाजार में मिलने वाले ड्रिक्स से वजन बढ़ने, ब्लड शुगर लेवल बढ़ने का खतरा बढ़ जाता है.

तनाव के स्तर को कंट्रोल करना

  • ब्लड शुगर लेवल को प्रभावित करने में तनाव की भूमिका अहम होती है.
  • तनाव के कारण हमारे शरीर से कुछ हार्मोन निकलते है जिससे ब्लड शुगर का लेवल बढ़ता है.
  • अध्ययन के अनुसार एक्सरसाइज करना, रिलैक्स रहना और मेडिटेशन से तनाव को कम किया जा सकता है.
  • इसके अलावा योग और दिमाग को शांत करने वाली एक्सरसाइज करके तनाव को कम किया जा सकता है.

अच्छी नींद

  • अच्छी हेल्थ के लिए नींद का पूरा होना बहुत जरूरी है.
  • खराब नींद की आदत से ब्लड शुगर का लेवल बढ़ सकता है.
  • साथ ही इससे भूख ज्यादा लगना और वजन बढ़ना हो सकता है.
  • नींद में बदलाव से तनाव बढ़ाने वाले हार्मोन बढ़ते है जिससे ब्लड शुगर बढ़ती है.
  • इसे कंट्रोल रखने के लिए अच्छी और पूरी नींद लेना जरूरी है.

मैग्नीशियम की अच्छी मात्रा

  • मैग्नीशियम की अच्छी मात्रा वाले फ़ूड्स का सेवन करना चाहिए.
  • इससे हाई ब्लड शुगर लेवल को कम करने में मदद मिलती है.
  • इसके लिए पूर्ण अनाज, कॉफी, नट्स, ब्रोकली का सेवन किया जा सकता है.
  • साथ ही हरी सब्जियाँ, एवोकाडो, बीन्स, केला और डार्क चॉकलेट वाले फ़ूड्स भी खा सकते है.

दालचीनी का अर्क

  • इसे कई हेल्थ बेनेफिट्स के लिए जाना जाता है.
  • कई लाभों में से एक इंसुलिन की संवेदनशीलता में सुधार होना है.
  • भोजन के बाद ब्लड शुगर लेवल बढ़ने पर पाचन के समय यह कार्ब्स को तोड़ने का काम करता है.

मेथी के बीज

  • यह घूलनशील फाइबर का अच्छा सोर्स होती है जिससे ब्लड शुगर का लेवल कम होता है.
  • काफी सारे अध्ययनों में देखा गया है कि यह ब्लड शुगर लेवल को कम करता है.
  • साथ ही यह फास्टिंग ग्लूकोज और ग्लूकोज संवेदनशीलता को बेहतर करते है.
  • इसे भोजन में इस्तेमाल करके मधुमेह का इलाज किया जा सकता है.
  • इसे सबसे सुरक्षित हर्ब के रूप में जाना जाता है.

सेब का सिरका

  • इसके कई हेल्थ बेनेफिट्स होते है.
  • इसके सेवन से फास्टिंग वाले ब्लड शुगर लेवल को कम करने में मदद मिलती है.
  • इसे सलाद में लिया जा सकता है.
  • 1 कप पानी में 2 चम्मच सेब का सिरका मिलाएं.
  • हालांकि इसके सेवन से पहले डॉक्टर से सलाह ली जानी चाहिए.

अंत में

कोई भी लाइफस्टाइल बदलाव करने से पहले या नया सप्लीमेंट ट्राई करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए. अगर आप ब्लड शुगर की समस्या से परेशान है या दवाएं ले रहे है तो आपको कुछ न कुछ नैचुरल उपचार लेना चाहिए. ऐसा करने से बेहतर हेल्थ के साथ इंसुलिन संवेदनशीलता भी बेहतर होती है.